बिग एक्सक्लूसिव : अशोक गहलोत कैबिनेट में बदलाव जल्द और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी बदलेंगे ! ये हैं संभावित नाम !

राजस्थान में अशोक गहलोत की सरकार भले ही दो साल पूरा न कर पाई हो लेकिन लगातार संकट की बात हो रही है. इस सरकार में भले ही सब कुछ ठीक होने का दावा किया जा रहा है लेकिन समय-समय पर सरकार को गिराने और कमजोर करने की बात भी सामने आती रही है. अब सबसे नई और एक्सक्लूसिव खबर यह है कि 4 दिन के अंदर ही अशोक गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल में फेरबदल की बात हो रही है.

0
2384
अशोक गहलोत और सचिन पायलट !
अशोक गहलोत और सचिन पायलट !

  • चार दिन के अंदर मंत्रिमंडल में फेरबदल होने की संभावना
  • प्रदेश अध्यक्ष भी बदले जायेंगे और कई नए नाम जुड़ेंगे

संतोष कुमार पाण्डेय | सम्पादक

राजस्थान में अशोक गहलोत की सरकार भले ही दो साल पूरा न कर पाई हो लेकिन लगातार संकट की बात हो रही है. इस सरकार में भले ही सब कुछ ठीक होने का दावा किया जा रहा है लेकिन समय-समय पर सरकार को गिराने और कमजोर करने की बात भी सामने आती रही है. अब सबसे नई और एक्सक्लूसिव खबर यह है कि 4 दिन के अंदर ही अशोक गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल में फेरबदल की बात हो रही है. जो बड़ा संकेत बताया जा रहा है. इतना ही नहीं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष को भी बदलने की बात सामने आ रही है. सूत्रों की माने तो यह भी एक दो दिन में हो जायेगा. हालांकि, राजभवन के सूत्र बता रहे हैं कि मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर कोई सुगबुगाहट नहीं है. हालांकि, दो दिन पहले ही अशोक गहलोत ने राज्यपाल से शिष्टाचार मुलाकात की थी.

यह है सरकार की स्थिति !

वर्तमान में अशोक गहलोत मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री सहित 25 सदस्य हैं. जिनमें से 5 कैबिनेट और राज्य मंत्रियों के बदलने की बात तय मानी जा रही है. क्योंकि, राजस्थान में विधानसभा की कुल 200 सीटें हैं. मतलब 15 फ़ीसदी के अनुसार अधिकतम 30 मंत्री ही हो सकते हैं. 25 में से पांच बदले जाएंगे तो ऐसे में 20 मंत्रियों की संख्या रह जायेगी. 10 और विधायक मंत्री बन सकते हैं. सूत्रों के अनुसार इसके अलावा आठ से 10 संसदीय सचिव बनाए जा सकते हैं. चर्चा यह भी है कि चार से पांच विधायकों को आयोगों की चेयरमैनशिप दी जा सकती है.

इनको बदले जाने की है चर्चा !

सूत्रों की माने तो अशोक गहलोत सरकार से परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, होमगार्ड मंत्री भजन लाल जाटव, खान मंत्री प्रमोद जैन भाया, उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री भंवरलाल मेघवाल को बदलने जाने की चर्चा है.

संभावित मंत्रियों का नाम !

अशोक गहलोत सरकार में संभावित मंत्रियों के नाम इस प्रकार है. खिलाड़ी लाल बैरवा-विधायक बसेड़ी धौलपुर, राजकुमार शर्मा-विधायक नवलगढ़ झुंझुनू, डॉक्टर महेश जोशी-विधायक हवामहल जयपुर, राजेंद्र सिंह गुड्डा विधायक -उदयपुरवाटी झुंझुनू, जोगेंद्र अवाना-विधायक नदबई भरतपुर, मंजू-मेघवाल विधायक जायल नागौर, साफिया जुबेर विधायक-रामगढ़ अलवर के नाम संभावित में हैं.

आखिर कौन गिराना चाहता है Ashok Geglot की सरकार ?

इन्हें बोर्ड का चेयरमैन बनाया जा सकता है

महादेव सिंह खंडेला -सीकर, आलोक बेनीवाल- शाहपुरा जयपुर. बाबूलाल नागर-विधायक दूदू जयपुर, संयम लोढ़ा-विधायक सिरोही का नाम कई बोर्डों के चेयरमैन के नाम पर चर्चा है.

संसदीय सचिव के नाम पर चर्चा

विधायक परसराम मोरदिया-धोन्ध सीकर,नरेंद्र बुडानिया-विधायक तारानगर चूरू, मदन प्रजापत-विधायक पचपदरा बाड़मेर को और यह भी चर्चा है कि बसपा से आए 2 विधायकों को तो मंत्री और बाकी के चारों विधायक को संसदीय सचिव बनाया जा सकता है.

प्रदेश अध्यक्ष पर भी बदलाव

सचिन पायलट अभी प्रदेश के अध्यक्ष हैं और उप मुख्यमंत्री भी हैं. मगर अब लाल चन्द्र कटारिया और नीरज डांगी के नाम की चर्चा है. इसमें से लाल चन्द्र कटारिया की स्थिति ज्यादा मजबूत बताई जा रही है. सचिन पायलट को गृह मंत्री बनाया जा सकता है. सूत्रों की माने तो और यह सब चार दिन के अंदर होने की चर्चा है.


Leave a Reply