सेना ने कश्मीर घाटी में 9 आतंकवादियों को मारा, अब रात में देश के लिए 9 मिनट हमे दिखाना है

इस कार्रवाई में सेना का एक जवान शहीद हो गया है.

0
946
भारतीय सेना
Jammu and Kashmir, Jan 26 (ANI): Army Jawans patrolling near the snow-covered border on the occasion of 71st Republic Day in Kupwara on Sunday. (ANI Photo)

पीएम नरेन्द्र मोदी (pm narendra modi) ने भारतीय नागरिकों से 5 अप्रैल को रात नौ बजे 9 मिनट घर की लाइट को बंद करके दीपक, मोमबत्ती और मोबाइल की लाइट जलाने की बात कही थी. वहीँ भारतीय सेना ने 5 अप्रैल की सुबह ही कश्मीर घाटी में 9 आंतकवादियों को मौत के घाट उतार दिया है. वहां पर दीपावली मन गई. यह कारवाई कश्मीर घाटी में 24 घंटे के अंदर हुई है. दक्षिण कश्मीर के बाटपुरा में 4 आंतकवादियों और एलओसी के करन सेक्टर में 5 आतंकियों को मार गिराया है. इस कार्रवाई में सेना का एक जवान शहीद हो गया है. 2 गंभीर रूप से घायल हैं. सेना ने अपना 9 का खेल कर दिया है. अब रात 9 बजे 9 मिनट की अपनी बारी है.

सभी भारत वासियों से 9 मिनट अपने घर की लाइट बंदके दीपक, मोमबत्ती और मोबाइल की फ़्लैश लाइट जलाने की बात कही है.

 

Maharashtra : गजब फंसे CM उद्धव ठाकरे, जा सकती है कुर्सी !

3 अप्रैल को पीएम ने की थी अपील

‘इस कोरोना संकट से जो अंधकार और अनिश्चितता पैदा हुई है, उसे समाप्त करके हमें उजाले और निश्चितता की तरफ बढ़ना है। इस अंधकारमय कोरोना संकट को पराजित करने के लिए, हमें प्रकाश के तेज को चारो दिशाओं में फैलाना है: और इसलिए, इस Sunday, 5 अप्रैल को, हम सबको मिलकर, कोरोना के संकट के अंधकार को चुनौती देनी है,
उसे प्रकाश की ताकत का परिचय कराना है। इस 5 अप्रैल को हमें, 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का जागरण करना है: 130 करोड़ देशवासियों के महासंकल्प को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है। 5 अप्रैल, रविवार को रात 9 बजे मैं आप सबके 9 मिनट चाहता हूं। ध्यान से सुनिएगा, 5 अप्रैल को रात 9 बजे: घर की सभी लाइटें बंद करके, घर के दरवाजे पर या बालकनी में, खड़े रहकर, 9 मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं,

कोरोना से लड़ने के लिए मोदी ने पूरे देशवासियों से अपील की थी कि सभी को 9 मिनट के लिए अपने घर की लाइट बंद करके यह करना होगा. आज वह दिन आ गया है. जिसे हमें करना होगा अपने एकता का परिचय देना होगा. हम भारतीय एक है और एक रहेगे. संकट के समय राजनीती नहीं होनी चाहिए.

बड़ी खबर : तबलीगियों ने आखिर क्यों चुनी ट्रेन, नहीं गए प्लेन से ?


Leave a Reply