आगरा में जरुरतमंदों को घर-घर राशन और भोजन पहुंचा रहे हैं आप के ‘हनुमान’ !

आगरा में करोना महामारी के कारण स्थिति बहुत सामान्य नहीं है. जनसख्या का घनत्व अधिक है. कहीं किसी को कोई परेशानी न आये इसलिए सभी एक दूसरे की मदद कर रहे हैं. आइये आज मिलवाते हैं आम आदमी पार्टी (आप) के जिलाध्यक्ष से जो यहाँ पर अनवरत गति से लोगों के बीच काम कर रहे हैं. इनका नाम है कपिल वाजपेयी.  जो यहाँ के पार्षद भी रहे हैं.

0
1240
कपिल वाजपेयी
आगरा में घरों को सेनेटाइजर करते जिलाध्य्क्ष कपिल वाजपेयी

आगरा में करोना महामारी के कारण स्थिति बहुत सामान्य नहीं है. जनसख्या का घनत्व अधिक है. कहीं किसी को कोई परेशानी न आये इसलिए सभी एक दूसरे की मदद कर रहे हैं. आइये आज मिलवाते हैं आम आदमी पार्टी (आप) के जिलाध्यक्ष से जो यहाँ पर अनवरत गति से लोगों के बीच काम कर रहे हैं. इनका नाम है कपिल वाजपेयी.  जो यहाँ के पार्षद भी रहे हैं. वो खुद गलियों में सैनिटाइजेशन कर रहे हैं. लोग इनसे राहत सामग्री पाने के बाद इन्हें ‘हनुमान’ भी कहने लगे हैं. क्योंकि लोगों को इस समय भोजन और राशन संजीवनी बूटी से कम नहीं लग रही है. और इस कार्य को बखूबी निभा रहे हैं कपिल वाजपेयी. इस समय पोल टॉक ने इन्हें हनुमान लिखा है. जैसा वहां के लोगों ने इनके बारे में बताया है.  कपिल कहते हैं कि इस समय लोगों की सेवा बहुत जरुरी है. उन्हें किसी भी तरह की मदद की कमी नहीं आने दूंगा.

पालघर : मारने वालों में 9 बच्चे भी शामिल, कुल 110 लोग हिरासत में, गृह मंत्री ने बताया था 101 !

यहाँ बांटा गया  राशन

कपिल वाजपेयी
आगरा में लोगों के साथ खड़े आप के जिलाध्य्क्ष कपिल वाजपेयी.

आगरा के टेडी बगिया, रामबाग, घोड़े की चौकी, बोदला, किशोरपुरा, जगदीशपुरा, सेवला, शाहगंज की बस्तियां और कुछ ऐसे क्षेत्र जहां जरुरत मंद लोगों के लिए व्यवस्था की गई है. इस कार्य में सभी सक्षम कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर या तो राशन बांटा है या खाना बनवाने में मदद की है. कुछ साथियों ने नगर निगम की टीमों के साथ मिलकर फागिंग एंटी लारवा और गंभीर तरीके से सैनिटाइजेशन का काम को स्वयं करना शुरू किया है.

कपिल वाजपेयी
रखी गई राहत.

स्वास्थ्य पर सरकार दें ध्यान

आगरा शहर के सभी निजी हॉस्पिटल बंद है. दूसरे यहां पर गरीबी का आलम यह है की गर्भवती महिलाओं के लिए पूरी तरीके से लेडी लॉयल में भी व्यवस्था नहीं है. एसएन मेडिकल कॉलेज की भी स्थिति बहुत अच्छी नहीं है. जिस में सुधार की अतिशय आवश्यकता है. छोटे-छोटे स्वास्थ्य कैंप मोहल्लों के स्तर पर लगने आवश्यक हो गए हैं. क्योंकि डॉक्टरों का अभाव पूरे शहर में है.

यहाँ भी मिले राहत

सरकारी विद्युत एवं टोरेंट के बिलों में भी छूट की मांग आम आदमी पार्टी कर रही है. इसी क्रम में बच्चों की आने वाले समय में फीस एक साथ नाली जाए तथा 3 महीनों की फीस में रियायत की जाय. ऐसी मांगे लगातार आम आदमी पार्टी कर रही है. तत्काल गरीब मोहल्लों में बस्तियों में दूध और राशन की व्यवस्था सरकार एक या दो लोगों को ना देकर वरन बड़े तौर पर डोर टू डोर के नियम पर करने का प्रयास करें.

इतने मिले हैं केस

आगरा में कुल 20 अप्रैल तक 217 केस सक्रीय है .जिनमें से 6 लोगों की मौत हो चुकी है और जबकि 18 लोगों को डिस्चार्ज भी किया गया है. उत्तर प्रदेश में कुल 1294 केस मिल चुके हैं. जिनमें से 1134 अभी सक्रीय केस हैं. 140 को डिस्चार्ज किया जा चूका है.


Leave a Reply