इस सीट से मायावती रहीं हैं चार बार सांसद, एक नजर में अकबरपुर लोकसभा सीट का इतिहास

0
30
akbarpur Lok Sabha history

  • अकबरपुर लोकसभा सीट का राजनीतिक इतिहास 
  • इस सीट से मायावती रहीं हैं चार बार सांसद 

पोलटॉक नेटवर्क | लखनऊ 

अकबरपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 44वीं लोकसभा सीट है। 2008 में हुए परिसीमन के बाद कानपुर देहात जिले की अकबरपुर सीट बनी थी। पहले इस क्षेत्र का बड़ा हिस्सा बिल्हौर सीट का हिस्सा हुआ करता था। यह सीट कांग्रेस का गढ़ हुआ करती थी। लेकिन बदले समय के साथ इस सीट का समीकरण भी बदला और यह सीट अन्य पार्टियों के हिस्से आ गयी। उप्र की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती भी इस सीट से तीन बार लगातार जीतकर संसद पहुंच चुकी हैं।

अकबरपुर लोकसभा सीट के मतदाता 

अकबरपुर लोकसभा सीट पर कुल 17 लाख 30 हज़ार 947 वोटर अपने मत का प्रयोग करेंगे। जिनमें पुरूष मतदाताओं की संख्या 9 लाख 44 हज़ार 240 है। जबकि महिला वोटरों की संख्या 7 लाख 86 हज़ार 590 है। वहीं ट्रांस जेंडर वोटरों की संख्या 117 है। इस सीट के तहत कुल पांच विधानसभा सीटें आती हैं। अकबरपुर, टांडा, आलापुर, जलालापुर और कटेहरी अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है।

अकबरपुर लोकसभा सीट का राजनीतिक इतिहास 

अकबरपुर लोकसभा सीट का क्षेत्र 2009 से पहले बिल्लौर सीट का हिस्सा हुआ करता था। इस सीट पर पहली बार 1962 में चुनाव हुए। पहले चुनाव में कांग्रेस पार्टी के पन्ना लाल ने जीत दर्ज की। 1967 के चुनावों में रिपब्लिक पार्टी ऑफ़ इंडिया के आर.जे .राम ने कांग्रेस के पी.लाल को मात्र साढ़े तीन हज़ार वोटों से हरा दिया। 1971 के चुनाव में कांग्रेस ने फिर से वापसी करते हुए इस सीट पर जीत दर्ज की। 1977 के चुनाव में भारतीय लोकदल से मंगल देव विषारद विजयी हुए। 1980 में जनता पार्टी (एस) ने जीत हासिल की। 1984 में एक बार फिर कांग्रेस पार्टी ने जीत हासिल की। 1989 के चुनाव में बिल्लौर सीट से जनता दल के राम अवध के हाथ जीत लगी।

इस सीट पर 1991 से लेकर 2002 के चुनाव तक बहुजन समाज पार्टी का कब्ज़ा रहा। इस दौरान 1996, 1998 और 1999 में इस सीट से बसपा सुप्रीमों मायावती ने चुनाव लड़कर जीत हासिल की थी। वहीँ 2002 के उप चुनाव में बसपा से त्रिभुवन दत्त को जीत मिली थी। इस सीट पर 2004 के चुनाव में एक बार फिर मायावती सांसद चुनीं गयीं।  2009 के चुनाव में कांग्रेस पार्टी के राजाराम को जीत मिली। वहीं 2014 के चुनाव में अकबरपुर लोकसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी ने विजय हासिल की। 2014 के चुनाव में बीजेपी के देवेन्द्र सिंह सांसद चुने गए। 2019 के लोकसभा चुनाव के में अकबरपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से लगातार दूसरी बार देवेन्द्र सिंह ने बीजेपी के टिकट से लड़कर जीत हासिल की।

अकबरपुर लोकसभा सीट पर अब तक के सांसद 
लोकसभावर्षपार्टीनाम
तीसरी1962भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेसपन्नालाल
चौथी1967रिपब्लिक पार्टी ऑफ़ इंडियाआर.जे.राम
पांचवीं1971भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेसरामजी राम
छठीं1977भारतीय लोकदलमंगल देव विषारद
सातवीं1980जनता पार्टी (एस)राम अवध
आठवीं1984भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेसराम प्यारे सुमन
नौवीं1989जनता दलराम अवध
दसवीं1991बसपाघनश्याम चन्द्र
ग्यारहवीं1996बसपामायावती
बारहवीं1998बसपामायावती
तेरहवीं1999बसपामायावती
उपचुनाव2002बसपात्रिभुवन दत्त
उपचुनाव2004सपाशंखलाल मांझी
चौदहवी2004बसपामायावती
पंद्रहवीं2009भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेसराजाराम
सोलहवीं2014भारतीय जनता पार्टीदेवेन्द्र सिंह
सत्रवीं2019भारतीय जनता पार्टीदेवेन्द्र सिंह

Leave a Reply