अखिलेश यादव ने विधान सभा में क्यों मंत्री से पूछा कि 1100 रुपए में दो ड्रेस कहां मिलती है ? फिर आया यह जवाब

0
89
UP budget session

  • बजट सत्र के दूसरे दिन सदन में तीखी बहस 
  • बच्चों की स्कूल ड्रेस को लेकर सरकार विपक्ष आमने सामने 

पोलटॉक नेटवर्क | लखनऊ /आदित्य कुमार 

उत्तर प्रदेश विधानसभा में बजट सत्र के दूसरे दिन सत्ता पक्ष और विपक्ष में तमाम मुद्दों को लेकर तीखी बहस देखने को मिली। नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और सीएम योगी (CM Yogi) के बीच यूपी की कानून व्यवस्था को लेकर तीखी नोक झोंक देखने को मिली। वहीं सदन में आज समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) द्वारा शिक्षा और बच्चों की स्कूल ड्रेस को लेकर भी सवाल उठाये गए।

रामपुर खास (RamPur khas) से सपा विधायक आराधना मोना मिश्रा (Aradhana Mona Mishra) ने विधानसभा में प्राइमरी स्‍कूल के बच्‍चों की ड्रेस को लेकर सवाल उठाया। उन्होंने सदन में बोलते हुए कहा कि डीबीटी के माध्यम से बच्‍चों को दी जाने वाली राशि के अपर्याप्‍त है। उन्होंने कहा कि हर बच्चे को 1100 रूपए दिए जाते हैं। य‍ह राशि बिल्‍कुल अपर्याप्‍त है।

अखिलेश यादव ने भी उठाया मुद्दा

विधानसभा में बजट सत्र के दूसरे दिन सपा अध्यक्ष और सदन में नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने सरकार ने तमाम मुद्दों पर सवाल पूछे। अखिलेश यादव ने सदन में प्राइमरी स्‍कूल के बच्‍चों की ड्रेस को लेकर भी सवाल किया। वित्‍त मंत्री सुरेश खन्‍ना सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए बच्‍चों की ड्रेस का पैसा सीधे उनके खाते में भेजे जाने के बारे में बता रहे थे तभी नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने खड़े होकर सवाल किया कि सरकार ने बच्‍चों की ड्रेस का बजट इतना कम क्‍यों कर रखा है।

अखिलेश यादव ने मंत्री सवाल करते हुए कहा, ‘मंत्री जी, वो जगह बता दें जहां 1100 रुपए में दो ड्रेस मिलती हो।’ उन्‍होंने कहा कि डबल इंजन की सरकार है आप बच्‍चों को एक हजार रुपए की ड्रेस क्‍यों नहीं खरीदवा रहे हैं। अखिलेश यादव ने इसके साथ ही कहा कि कहीं सरकार डायरेक्‍ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) स्‍कीम बंद तो नहीं कर देगी।

वित्त मंत्री ने दिया जवाब  

अखिलेश यादव के सवलों का जवाब वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने दिया। सुरेश खन्ना (suresh khanna) ने डीबीटी स्‍कीम (DBT SCHEME) बंद करने के सवाल पर कहा कि डीबीटी न बंद करेंगे, न बंद करने का कोई इरादा है। सुरेश खन्‍ना ने कहा कि हमने पूरी तरह से सोच समझकर निर्णय लिया कि बच्‍चों को उनके नाम के हिसाब से पोशाक सिलवाने का मौका मिले। इस पर अखिलेश यादव ने कहा नाप अलग चीज है क्‍वॉलि‍टी अलग चीज है। अखिलेश यादव (AKHILESH YADAV) ने कहा कि नाप से क्‍वॉलिटी नहीं आती। सपा अध्‍यक्ष ने कहा कि सरकार बच्‍चों को एक हजार रुपए की ड्रेस क्‍यों नहीं देती है ?


Leave a Reply