जब एक फर्जी कागज को लेकर आजम खान के बेटे हो गयी थी जेल, देखें क्या है पूरा मामला

0
58
abdullah-azam

उत्तर प्रदेश की राजनीति में समाजवादी पार्टी के बरस नेता आजम खान को कौन नहीं पहचानता। छात्र जीवन से राजनीति शुरु करने वाले आजम खान विधायक से राज्यसभा सदस्य और उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री पद का सफर तय किया। यहां तक कि आजम खान को अपने राजनीतिक सफर में जेल का सफर भी तय करना पड़ गया। इस लेख में हम आज़म  खान की नहीं बल्कि आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम खान की बात करने वाले हैं। अब्दुल्ला आजम रामपुर जिले की स्वार विधानसभा सीट से विधायक हैं।

अब्दुल्ला आजम का जन्म एक जनवरी 1993 को हुआ। अब्दुल्ला आजम ने 2015 मेंयूपी तकनीकी विश्वविद्यालय से प्रौद्योगिकी से स्नातक किया और बाद में गलगोटिया विश्वविद्यालय से मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी में डिग्री ली। अब्‍दुल्‍ला सपा नेता आजम खान के दोनों बेटो में छोटे बेटे हैं।

अब्दुल्ला आजम का राजनीतिक सफर 

अब्दुल्ला आजम के राजनीतिक सफर की बात करें तो अब्दुल्ला आजम का परिवार ही राजनीतिक है। उनके पिता आजम खान नौ बार विधायक गए चुके हैं, मंत्री रह चुके हैं। सीधे शब्दों में कहा जाए तो अब्दुल्ला आजम को राजनीति पिता की विरासत के रूप में हासिल हुई। अब्दुल्ला आजम ने 2017 में रामपुर जिले की स्वार विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट को चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। 2017 में अब्दुल्ला आजम ने अपना पहला चुनाव लड़ा था।

विधायक के लिए अयोग्य घोषित हुए

2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान अब्दुल्ला आजम पर बसपा से चुनाव लड़ रहे नवाब काजिम अली खां ने आरोप लगाया था कि अब्दुल्ला आजम की आयु 25 वर्ष से कम है इसलिए वह चुनाव नहीं लड़ सकते। हालांकि इस आपत्ति को खारिज कर दिया गया था।

चुनाव नतीजे घोषित होने के बाद नवाब काजिम अली खां ने मामले को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की। वहीं स्थानीय नेता आकाश सक्सेना ने भी अब्दुल्ला के खिलाफ चुनाव नामांकन में फर्जी प्रमाण पत्र प्रयोग करने की शिकायत की थी। मामले को लेकर रामपुर जिला मजिस्ट्रेट की जांच में अब्दुल्ला आजम दोषी पाए गए।दो जन्म प्रमाण पत्र एवं दो पैन कार्ड से जुड़े मामले में जांच के बाद उनकी विधायकी भी चली गई। फर्जी दस्तावेज प्रस्तुत करने को लेकर अब्दुल्ला आजम उनके पिता आजम खान व मां तजीन फतामा को जेल भेज दिया गया। दो साल जेल में रहने के बाद उन्हें 15 जनवरी 2022 को रिहाई मिली।

2022 में फिर चुने गए विधायक 

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में अब्दुल्ला आजम एक बार फिर से समाजवादी पार्टी के टिकट पर रामपुर जिले स्वार विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा। 2022 चुनाव नतीजों में अब्दुल्ला आजम ने जीत हासिल की।


Leave a Reply