By-Elections Rampur: रामपुर लोकसभा उपचुनाव में आजम खान पलट सकते हैं खेल, देखें किसको होगा फायदा

0
38
azam khan

  • यूपी की खाली पड़ी लोकसभा सीटों पर 23 जून को वोटिंग 
  • सपा के लिए दोनों सीटों की वापसी की चुनौती

पोलटॉक नेटवर्क | लखनऊ /आदित्य कुमार 

चुनाव आयोग (CENTRAL ELECTION COMMISSION) ने दिल्ली समेत छह राज्यों में खाली पड़ी लोकसभा की तीन और विधानसभा की 7 सीटों पर उपचुनाव (By-elections) की तारीखों का ऐलान कर दिया है। 23 जून को इन सीटों पर उपचुनाव के लिए वोटिंग होगी। वहीं वोटों की गिनती 26 जून को होगी। ये उपचुनाव पंजाब में संगरूर संसदीय सीट और उत्तर प्रदेश के रामपुर और आजमगढ़ (By-elections Azamgarh, Rampur) में होंगे। उत्तर प्रदेश में रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा सीट पर उपचुनाव में समाजवादी पार्टी (SAMAJWADI PARTY) की प्रतिष्ठा दांव पर है वहीं भाजपा (BJP) के लिए उपचुनाव के नतीजे 2024 का इशारा भी साबित हो सकते हैं।

रामपुर लोकसभा उपचुनाव का समीकरण 

रामपुर लोकसभा (Rampur Seat) क्षेत्र में करीब 16 लाख से अधिक मतदाता हैं, इनमें 8,72,084 पुरुष और 7,44,900 महिला वोटर्स हैं। 2011 की जनगणना के अनुसार रामपुर क्षेत्र में कुल 50.57 % मुस्लिम आबादी है, जबकि 45.97 % हिंदू जनसंख्या है। रामपुर लोकसभा क्षेत्र में कुल 5 विधानसभा सीटें आती हैं। इनमें सुआर, चमरौआ, बिलासपुर, रामपुर और मिलक शामिल है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की बात करें तो रामपुर की पांच विधानसभा सीटों में से 3 पर सपा और 2 सीटों पर बीजेपी ने जीत हासिल की थी। समाजवादी पार्टी ने रामपुर, चमरौआ और सुआर विधानसभा सीट पर जीत हासिल की जबकि बीजेपी को बिलासपुर और मिलक सीट पर जीत मिली थी।

रामपुर सीट पर आजम खान का प्रभाव 

रामपुर लोकसभा सीट समाजवादी पार्टी और सपा के कद्दावर मुस्लिम नेता आजम खान (Azam Khan) की गढ़ मानी जाती है। हालांकि आजम खान को इस सीट से हार भी मिल चुकी है। आजम खान बीते ढाई साल से सीतापुर जेल में बंद थे। आजम ने रामपुर सीट से लोकसभा चुनाव जीता उसके बाद जेल में ही रहते हुए रामपुर सीट से ही विधानसभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। विधानसभा चुनाव जीतने के बाद आजम ने रामपुर लोकसभा सीट छोड़ दी जिसके चलते यहां उपचुनाव हो रहा है। वर्तमान परिदृश्य की बात की जाये तो रामपुर लोकसभा क्षेत्र में मुस्लिम आबादी 50 फीसदी से अधिक है ऐसे में आजम खान को और सपा को मुस्लिम समर्थन हासिल रहेगा। वहीं स्थानीय लोगों का मानना है कि आजम खान जेल में रहे जिसके चलते लोगों में उनके प्रति सहानुभूति है जिसका फायदा समाजवादी पार्टी को रामपुर लोकसभा उपचुनाव में मिलेगा।


Leave a Reply