By-Elections Azamgarh-Rampur: आजमगढ़ से ‘डिंपल’ के बिना कौन हो सकता है साइकिल पर सवार ?

डिम्पल के बिना किसी और को सपा मैदान में नहीं उतराना चाह रही है. यहीं से मुलायम सिंह यादव और अखिलेश भी अपना डंका बचा चुके हैं. पढ़िए ये रिपोर्ट |

0
35
AZAM AKHILESH AND YOGI

  • यूपी की रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा सीट पर होगा उपचुनाव 
  • अखिलेश यादव और आजम खान ने छोड़ी थी आजमगढ़ और रामपुर सीट 

पोलटॉक नेटवर्क | लखनऊ /आदित्य कुमार 

केंद्रीय चुनाव आयोग (CENTRAL ELECTION COMMISSION ) ने उत्तर प्रदेश (UTTAR PRADESH ), महाराष्ट्र (MAHARASTRA ) और बिहार (BIHAR ) राज्यों की विधान परिषद और लोकसभा (LOKSABHA) की रिक्त सीटों के लिए उपचुनाव का कार्यक्रम घोषित कर दिया है। इसमें उत्तर प्रदेश विधान परिषद की 13 सीटों पर 20 जून और लोकसभा की दो सीटों रामपुर और आजमगढ़ (By-elections Azamgarh, Rampur) में 23 जून को मतदान होगा। रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा सीट पर उप चुनाव के नतीजे 26 जून को घोषित किये जायेंगे। रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा सीट पर उप चुनाव जीतने के लिए भाजपा और समाजवादी पार्टी (SAMAJWADI PARTY ) पूरी ताकत झोंकने की तैयारी में है। लेकिन आजमगढ़ (Azamgarh) के बारे में बताया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी से डिम्पल यादव (DIMPAL YADAV) पूरी जोर आजमाइश में हैं. डिम्पल के बिना किसी और को सपा मैदान में नहीं उतराना चाह रही है. यहीं से मुलायम सिंह यादव और अखिलेश भी अपना डंका बचा चुके हैं. पढ़िए ये रिपोर्ट |

सपा के नेताओं ने छोड़ी थी दोनों सीट 

रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा सीट 2019 के लोकसभा चुनाव में समजावादी पार्टी के खाते में गयी थीं। 2019 के लोकसभा चुनाव में आजमगढ़ लोकसभा सीट पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने जीत हासिल की थी तो वहीं रामपुर लोकसभा सीट (Rampur Seat) पर सपा के मुस्लिम नेता आजम खान (Azam Khan) ने जीत हासिल की थी। दोनों नेताओं ने विधानसभा चुनाव 2022 के दौरान चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। अखिलेश यादव और आजम खान ने विधानसभा चुनाव जीतने के बाद अपनी अपनी लोकसभा सीट छोड़ने का निर्णय लिया। बता दें अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश सदन में नेता प्रतिपक्ष हैं।

आजमगढ़ से डिंपल यादव लड़ सकती हैं चुनाव  

ऐसा माना जा रहा था कि समाजवादी पार्टी अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को राज्यसभा भेजेगी लेकिन सपा ने कपिल सिब्बल (Kapil Sibal), जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) और जावेद अली (Javed Ali) के नाम का ऐलान कर दिया है। राज्यसभा के लिए नामों का ऐलान होने के बाद यह लगभग तय माना जा रहा है कि मुलायम सिंह यादव की बड़ी बहू डिंपल यादव (Dimple Yadav) आजमगढ़ लोकसभा सीट से उपचुनाव लड़ सकती हैं।

डिंपल यादव ने इससे पहले भी दो बार लोकसभा का चुनाव जीता है। डिंपल ने 2012 में कन्नौज लोकसभा सीट पर उप चुनाव में जीत हासिल की थी। डिंपल ने 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के बाद भी कन्नौज लोकसभा सीट पर अपनी जीत पक्की की थी। वहीं 2019 के लोकसभा चुनाव में डिंपल यादव को हार का सामना करना पड़ा था। बता दें 2019 के चुनाव में डिंपल यादव को 48.6% वोट हासिल हुए थे। आजमगढ़ लोकसभा सीट सपा के लिए सुरक्षित सीट मानी जाती है ऐसे में इस बात की पूरी सम्भावना है कि सपा डिंपल यादव को आजमगढ़ से चुनावी मैदान में मैदान में उतर सकती है।


Leave a Reply