Home अंदर की बात क्या ये भोजपुरी स्टार बिहार चुनाव में लगा पाएंगे जीत का 'तड़का'

क्या ये भोजपुरी स्टार बिहार चुनाव में लगा पाएंगे जीत का ‘तड़का’


  • पवन सिंह ने भाजपा किया है ज्वाइन, खेसारी लाल यादव और रितेश पर है नजर
  • पिछले चुनाव से ही सभी दल इन्हें अपनी तरफ लाने का कर रहे हैं प्रयास

संतोष कुमार पाण्डेय | सम्पादक

बिहार में विधान सभा 2020 (BIHAR ELECTION 2020) का चुनाव है. ऐसे में तैयारी खूब चल रही है. मगर नेताओं के साथ ही साथ अभिनेताओं पर भी लोगों की नजरें टिकीं हुई हैं. बिहार में जदयू, राजद और भाजपा कुछ अभिनेताओं पर दांव लगा सकती है. वहीँ चर्चा है कि भाजपा पवन सिंह को मैदान में उतार सकती है. क्योंकि पवन सिंह ने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले ही भाजपा ज्वाइन कर चुके हैं. पवन सिंह (Pawan Singh) आरा जिले के हैं. और आरा में भाजपा की स्थिति मजबूत है. आरा से अगर पवन सिंह चुनाव लड़ेगे तो वहीं से आने वाले दिनों में यूपी भी कवर हो सकेगा. पवन बिहार में ही नहीं बल्कि यूपी में भी अपनी धमक रखते है. क्योंकि उनकी ससुराल बलिया में है. पवन सिंह को इस बार भाजपा स्टार प्रचारक के रूप में उतार सकती है.

राजस्थान के ऐसे पांच मुख्यमंत्री जो ज़िंदा तो नहीं है मगर हमेशा चर्चाओं में ‘ज़िंदा’ रहते है

खेसारी लाल यादव (Khesari Lal Yadav) पर भी राजद की नजर है. वहीँ पप्पू यादव ने खेसारी लाल यादव से कुछ दिन पहले मुलाकात की थी. लेकिन अंदर खाने बात यही है कि राजद खेसारी के टच में है. खेसारी लाल यादव बिहार के सिवान से आते हैं. बिहार में खेसारी लाल यादव का जलवा है. समय समय पर चर्चा में रहते हैं. इनके द्वारा युवा वोटर्स पर राजद अपनी पकड बनाना चाहती है. सिवान में राजद कमजोर हुई है. शहाबुद्दीन के जेल में जाने से राजद कमजोर हुई मगर खेसारी की वजह से राजद लौटना चाहती है.

इन पांच सांसदों ने जीत लिया जनता का ‘दिल’ और बना दिया बड़ा रिकॉर्ड

रितेश पाण्डेय (Ritesh Pandey) भी युवाओं के बीच में खूब पापुलर हैं. रितेश पर भी कई दलों की नजरें है. रितेश पाण्डेय बिहार के सासाराम से आते हैं. सासाराम कांग्रेस का गढ़ रहा है. मीरा कुमार, बाबू जगजीवन राम की कर्मभूमि रही है. मगर अब यहाँ भाजपा और जदयू मजबूत स्थिति में हैं. कांग्रेस की नजर रितेश पर ज्यादा होगी. कांग्रेस वापस आना चाह रही होगी. ऐसे में जदयू और भाजपा भी रितेश को अपने पाले में करके अपनी स्थिति मजबूत करना चाहेगी. वहीँ मनोज तिवारी पर सबकुछ आकर टिक जाता है. अगर वो चाह लेंगे तो इन सभी को भाजपा में ला सकते हैं.

BIHAR CHUNAV 2020 UPDATE : बिहार में इस बार सत्ता के चेंजमेकर पप्पू यादव और ओवैसी


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...

YOUTH कांग्रेस कमेटी का विस्तार, आयुष भारद्वाज बने पहले संगठन महासचिव

युवा कांग्रेस की प्रदेश कार्यकारिणी का किया गया विस्तार राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी की अनुमति से हुआ...

“जन सहायता दिवस” के रूप में मनाया गया राहुल गाँधी का जन्मदिन

राजस्थान के सभी 33 जिलों में रक्तदान शिविर एवं राशन किट वितरण कार्यक्रम 1500 यूनिट रक्त एकत्रित...