Home राजनीति से इतर LATEST UPDATE Bihar Assembly election 2020 : मुजफ्फरपुर विस सीट पर इसलिए भाजपा रहेगी...

Bihar Assembly election 2020 : मुजफ्फरपुर विस सीट पर इसलिए भाजपा रहेगी फायदे में !


  • सुरेश शर्मा यहाँ से लगातार दो बार से भाजपा के टिकेट पर चुनाव जीत रहे
  • बेहतर विकल्प न होने से लोग पुराने को ही आगे बढाना चाहते हैं 

संतोष कुमार पाण्डेय | सम्पादक

बिहार विधानसभा (Bihar Legislative Assembly election 2020 ) का चुनाव 2020 में होना है. ऐसे में इस बार फिर सटीक और सही जानकारी देने के लिए पोलटॉक  (POLL TALK ) ने आपके लिए सीटवार जानकारी और रुझान देने को ठाना है. सबसे पहले मुजफ्फरपुर विधानसभा सीट की जानकारी दी जा रही है. अभी मुजफ्फरपुर विधान सभा सीट पर भाजपा का कब्ज़ा है. नितीश सरकार में नगर विकास कैबिनेट मंत्री भी हैं.

सुरेश शर्मा (SURESH SHARMA ) यहाँ से लगातार दो बार से भाजपा के टिकेट पर चुनाव जीत रहे हैं. इस बार भी वो चुनाव मैदान में रहेंगे (ऐसा सूत्र बता रहे हैं) सुरेश शर्मा को वर्ष 2010 में 72301 वोट मिले थे और लोजपा के मोहम्मद जमाल को मात्र 25862 वोट मिला  . बड़े वोटों के अंतर से चुनाव उन्होंने जीत लिया था. लेकिन वर्ष 2015 में जब सुरेश शर्मा के सामने जदयू ने अपना प्रत्याशी उतार दिया तो सुरेश को 95594 वोट मिल गये और जदयू के बिजेंद्र चौधरी को मात्र 65855 वोट मिला.

जबकि इस बार भाजपा के लिए मुसीबत यह थी कि उनके सामने जदयू और राजद का संयुक्त प्रत्याशी मैदान में था. इसके पहले सुरेश शर्मा को विजेंद्र चौधरी दो बार लगातार चुनाव हरा चुके थे. इस सीट से विजेंद्र चौधरी चार बार लगातार विधायक रह चुके हैं.

भाजपा का बढ़ता गया ग्राफ

मुजफ्फरपुर में हर चुनाव में भाजपा का मत-प्रतिशत बढता ही गया. यह जिला जातीय आधार पर भूमिहारों का गढ़ है. ऐसे में यहाँ इनकी चलती है. नगर विकास मंत्री ने कुछ ख़ास काम भले ही नहीं किया है लेकिन अभी भी उनका टेम्पो हाई है. लोकसभा चुनाव में भी यहाँ भाजपा को वोट में फायदा हुआ था.

कुल वोटर्स : मुजफ्फरपुर विधान सभा सीट पर कुल 2,68,689 वोटर हैं. पुरुष 1,45,996 और महिला 1,22,679 वोटर्स हैं.

रुझान : पोलटॉक ने इस विधान सभा सीट के कुछ युवाओं और बुजुर्गों और महिलाओं से बात किया है. लोगों का कहना है कि विकल्प नहीं है. इसलिए जो चल रहा है उसी को आगे बढ़ाएंगे. मतलब बीजेपी का मामला ठीक है.

एक नजर : किस दल को कब मिली जीत : भाजपा – दो बार, राजद– एक बार, कांग्रेस -5 बार और निर्दलीय को दो बार और कम्युनिस्ट पार्टी को दो बार जीत मिल चुकी है.

प्रमुख स्थानीय समस्या : खुली नालियां, ट्रैफिक जाम , हमेशा लगते मच्छर और सफाई.

नोट : यह किसी दल द्वारा प्रायोजित नहीं है. अभी महागठबंधन के प्रत्याशी जब घोषित होंगे तब स्थिति कुछ और होगी.

सम्पर्क कर सकते हैं : 8225922565


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

कांग्रेस ने अनेकों घोटाले कर भारत के हित और साख को गिराया : डॉ. सतीश पूनियां

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भारत को आर्थिक उन्नति के साथ आत्मनिर्भर बना रहे, श्री मोदी के नेतृत्व में भारत विश्व...

गरीबों को न्याय दिलाने सड़क पर उतरे पुष्पेंद्र भारद्वाज, मंत्री से की मुलाकात

न्यू सांगानेर रोड को 200 फीट चौड़ा नहीं करने के लिए दिया ज्ञापन न्यू सांगानेर रोड व्यापार...

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...