बिहार विस चुनाव के प्रथम चरण में 71 सीटों के मतदाता नहीं हुए फर्स्ट पास और तस्वीर भी नहीं साफ़

बिहार विधान सभा चुनाव 2020 (bihar vidhan sabha chunav 2020) के लिए 71 सीटों पर 28 अक्टूबर को वोटिंग हुई. जिसमें बिहार के 16 जिले शामिल हैं. कहीं भी 60 प्रतिशत से अधिक मतदान नहीं हुआ. जिससे कुछ अभी साफ़ नहीं है.

0
456
बिहार वोटिंग 2020
बिहार वोटिंग 2020

  • बिहार के 243 विस सीटों के लिए हो रहा है चुनाव पहला चरण पूरा
  • 16 जिलों में हुई वोटिंग, मैदान में हैं कुल 1066 प्रत्याशी, कोरोना में मतदान सफल

संतोष कुमार पाण्डेय | बिहार

बिहार विधान सभा चुनाव 2020 (bihar vidhan sabha chunav 2020) के लिए 71 सीटों पर 28 अक्टूबर को वोटिंग हुई. जिसमें बिहार के 16 जिले शामिल हैं. कहीं भी 60 प्रतिशत से अधिक मतदान नहीं हुआ. जिससे कुछ अभी साफ़ नहीं है. शाम 6 बजे तक कुल 53.46% वोटिंग हुई है. सभी दलों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है. कई दिग्गजों की सीटें इस चरण में हैं. बाहुबली विधायक अनंत सिंह, मंत्री प्रेम कुमार, जीतन राम मांझी समेत कई दिग्गज अपने जीत की बात कर रहे हैं .

BIHAR CHUNAV 2020 : कुढ़नी से भासपा ने चंद्रेश्वर मिश्र को दिया सिंबल

यह है स्थिति 

71 सीटों के लिए कुल 1066 प्रत्याशी मैदान में हैं. जिनमें से 375 प्रत्याशी करोड़पति हैं. और इनमे सबसे अधिक धनी है अनंत सिंह. इसमें एनडीए और महागठबंधन दोनों के लिए महत्वपूर्ण है. यही से आगे के चरणों का मामला साफ़ होगा. कांग्रेस और राजद के लिए बड़ी चुनौती है अपनी पुरानी सीटों को बचाना. एनडीए में जदयू के लिए बड़ी चुनौती है. क्या उनकी सीटें वापस आ पायेगी .

देश के असंगठित क्षेत्र को पूरी तरह तबाह कर रही मोदी सरकार : आयुष भारद्वाज

71 सीटों पर इतना हुआ मतदाना 

कहलगांव 54.1%, सुल्तानगंज 50.2%, अमरपुर 52.01%, धोरैया (एससी) 56.6%, बांका 56%, कटोरिया (एसटी) 53.66%, बेलहर 47.64%, तारापुर 41.5%, मुंगेर 42.75%, जमालपुर 46.64%, सूर्यगढ़ 55.8%, लखीसराय 55.1%, शेखपुरा 54.86%, बारबीघा 48.78%, मोकामा 51%, बाढ़ 52.02%, मसौढ़ी (एससी) 49.78%, पालीगंज 49.03% , बिक्रम 53.33%, संदेश 43.8%, बराहरा 50%, आरा 48.6%, अगियांव (एससी) 48.4%, तरारी 48.1%, जगदीशपुर 48.7%, शाहपुर 46.6%, ब्रह्मपुर 54.3%, बक्सर 54.8%, दुमरांव 52.1%, रायपुर (एससी) 54.2%, चैनपुर 54%, चेनारी (एससी) 49.7%, रगहर 53%, दिनारा 49.1%, नोखा 46.1%, कराकट 46%, अरवल 54.87%, कुर्था 52.8%, जेहानाबाद 48.32%, घोसी 54.2%, मखदूमपुर (एससी) 50.8%, गोह 54%, औरंगाबाद 48.4%, रफीगंज 54%, गया टाउन 44%,अतरी 50%, वजीरगंज 54%, राजौली (एससी) 49.77%, हिसुआ 48.53%, सिकंदरा (एससी) 52.95%,  वरसालीगंज 51.3%, झाझा 58.92%, गुरुआ 58.9%, शेरघाटी 58%, इमामगंज 57%, (एससी), बाराचट्टी (एससी) 52.73%, बोध गया (एससी) 59.41%, कुटुम्बा (एससी) 52%, टीकरी 60.7%, बेलागंज 58%, देहरी 51.09%,  भाबुआ 59.5%, सासाराम 50.5%, ओबरा 52%, नबी नगर 57.14%, नवादा 56%, जमुई 57.59%, मोहनिया (एससी) 51.5%, गोबिंदपुर 56.6%, चकाई 60.03% सीटें शामिल हैं.

शिक्षा आन्दोलन : दिल्ली के जंतर-मंतर पर 11 को सुबह 11 बजे से ‘आमरण तप’

अबतक बिहार में वोटिंग का यह रहा है रिकॉर्ड | विधानसभा चुनाव में 1952 में 39.51 प्रतिशत, 1957 में 41.37, 1962 में 44.47, 1967 में 51.51, 1969 में 52.79, 1972 में 52.79, 1977 में 50.51, 1980 में 57.28, 1985 में 56.27, 1990 में 62.04, 1995 में 61.79, 2000 में 62.57, 2005 फरवरी में 46.50, 2005 अक्टूबर में 45.85, 2010 52.73 और 2015 के विधानसभा चुनाव में 56.91 प्रतिशत वोटिंग हुई थी।


Leave a Reply