Home जनसरोकार आत्मनिर्भरवीर : 15 हजार रुपए से शुरू किया मशरूम की खेती, अब...

आत्मनिर्भरवीर : 15 हजार रुपए से शुरू किया मशरूम की खेती, अब करोड़ों रूपये का टर्नओवर


  • बिजेंद्र धनखड़ की कहानी जिन्होंने बदल दी जीने की राह और अब करोड़ पति हैं
  • सालाना टर्नओवर करोड़ों रूपये, इनसे करीब 500 लोग जुड़ चुके

संतोष कुमार पाण्डेय, सम्पादक की रिपोर्ट !

पोलटॉक पर ‘आत्मनिर्भर वीर’ की कहानी जिन्होंने अपने दम पर सफलता पाई है. उन्होंने जीवन स्तर को बदला है और अन्य लोगों के लिए प्रेरणाश्रोत बन गये. ऐसे लोगों को पोलटॉक ‘आत्मनिर्भर वीर’ मानता है. आज पढ़िए हरियाणा के सोनीपत के बिजेंद्र धनखड़ की कहानी जिन्होंने बदल दी जीने की राह और अब करोड़ पति हैं. उनका खुद का धनखड़ मशरूम फार्म चलता है. शुरुआत मात्र 15 हजार रूपये से शुरू की थी लेकिन अब सालाना टर्नओवर करोड़ों रूपये हो गया है. अब इनसे करीब 500 लोग जुड़ चुके हैं.

आत्मनिर्भरवीर : मोहम्मद अली फतह ने आंवले की बागवानी से बदली दी सैकड़ों किसानों की जिन्दगी

20 साल की उम्र में शुरू किया था काम

musroom bijendra dhankahd 123
बिजेंद्र धनखड, मशरूम उत्पादक, किसान !

हरियाणा के सोनीपत जिले के खुबडू गांव निवासी बिजेंद्र धनखड़ अपनी 20 साल की उम्र में मशरूम उत्पादन का काम शुरु किया था. मात्र 15 हजार रूपये से अपने व्यवसाय की शुरूआत करने वाले बिजेंद्र धनखड़ को शुरू में ही सफलता मिलने लगी थी. हालांकि, धनखड़ बताते हैं कि यह इतना आसान नहीं था. लेकिन इसी व्यापार में लगना था और आगे बढाना था इसलिए काम होता गया. धीरे-धीरे स्थिति बदलती गई. हजारों रूपये का काम धीरे-धीरे लाखों में बदल गया. अब बिजेंद्र धनखड़ की उम्र 49 साल हो गई है. और इनका कहना है कि सालाना कमाई 40-50 लाख टर्नओवर हो गया है.

musroom bijendra dhankahd 456
मशरूम !

धनखड़ से धनखड़ मशरूम फ़ार्म तक

वर्ष 1990 में एक शेड में सोनीपत के किसान बिजेंद्र धनखड़ ने अपने कारोबार की शुरुआत की थी. गन्नौर ब्लाक के खुबडू गाँव के धनखड़ सफल किसान बन चुके हैं. वर्ष 2014-15 में इन्होने २.5 करोड़ रूपये का मशरूम बेचा था. 25 साल से इसी काम को कर रहे हैं. आज इनके पास कुल 150-200 शेड मशरूम के हैं. इनसे प्रेरणा लेकर खुबडू गांव के 500 लोग काम कर रहे हैं. बटन मशरूम उत्पादक के नाम पर बिजेंद्र धनखड़ की पहचान है. इनको वर्ष 2000 में हिमाचल प्रदेश के सोलन में उत्पादन में नेशनल वार्ड से सम्मानित किया गया था.

ऐसे बदला माहौल

हरियाणा सरकार ने बिजेंद्र धनखड़ को कई बार सम्मानित किया है. वर्ष 2012 में करनाल में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने सम्मानित किया. हरियाणा कृषि विवि हिसार में भी सम्मान मिला था. जनवरी 2015 में घरौंडा में कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने सम्मानित किया था.

पंजाब और जम्मू में है बहुत मांग

बिजेंद्र धनखड़ बताते है कि इनके मशरूम की मांग जम्मू और पंजाब में बहुत मांग है. पंजाब में पटियाला, लुधियाना, जालंधर और जम्मू में इनके मशरूम की बड़ी मात्रा में बिक्री हो जाती है. इनके खूबडू गाँव में पहले एक दो लोग काम करते थे अब बड़ी संख्या में लोग काम कर रहे हैं. जिसका जरिया बिजेंद्र धनखड़ ही बने.

350 टन पहुंचा उत्पादन

वर्ष 1990 जब इन्होने काम शुरू किया था तो उस समय मशरूम का उत्पादन डेढ़ टन था. वहीँ अब 2014-15 में 350 टन मशरूम का उत्पादन पहुँच गया. अब धनखड़ बताते हैं इनका लक्ष्य 500 टन उत्पादन का है.


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

कांग्रेस ने अनेकों घोटाले कर भारत के हित और साख को गिराया : डॉ. सतीश पूनियां

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भारत को आर्थिक उन्नति के साथ आत्मनिर्भर बना रहे, श्री मोदी के नेतृत्व में भारत विश्व...

गरीबों को न्याय दिलाने सड़क पर उतरे पुष्पेंद्र भारद्वाज, मंत्री से की मुलाकात

न्यू सांगानेर रोड को 200 फीट चौड़ा नहीं करने के लिए दिया ज्ञापन न्यू सांगानेर रोड व्यापार...

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...