गहलोत सरकार हॉर्स ट्रेडिंग में खुद लगी है और विपक्ष पर लगा रही झूठा आरोप : राजेन्द्र राठौड़

राजस्थान विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने अशोक गहलोत द्वारा भाजपा पर राजस्थान और महाराष्ट्र में सरकार को गिराए जाने के बयान पर वक्तव्य जारी कर कड़े शब्दों में निंदा की है।

0
341
rajendra rathor
राजेन्द्र राठौड़, उपनेता प्रतिपक्ष

  • राजस्थान और महाराष्ट्र में सरकार को गिराए जाने के बयान पर उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ का बड़ा बयान
  • कांग्रेस पार्टी की गुटबाजी को नजरअंदाज कर भाजपा पर दोषारोपण करके कुंठा व्यक्त कर रहे

पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर

राजस्थान विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने अशोक गहलोत (ashok gehlot ) द्वारा भाजपा पर राजस्थान और महाराष्ट्र में सरकार को गिराए जाने के बयान पर वक्तव्य जारी कर कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने कहा है कि अंर्तद्वंद्व से जूझती कांग्रेस पार्टी में विद्रोह कभी भी जगजाहिर हो सकता है इसलिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ऐसी बयानबाजी करके अपने विद्रोह को दबाने और जनता का ध्यान भटकाने के लिए भारतीय जनता पार्टी पर मनगढ़ंत आरोप लगाने की निकृष्ट राजनीति में लगे हुए हैं।

राजस्थान में भी मध्यप्रदेश जैसे बनने लगे हैं सियासी हालात, हर तरफ है शांति ! कांग्रेस की दो सीटें हो गईं खाली

राठौड़ ने कहा कि अपराध बोध से ग्रसित कांग्रेस सरकार के मुखिया स्वयं व कांग्रेस पार्टी की गुटबाजी को नजरअंदाज कर भाजपा पर दोषारोपण करके कुंठा व्यक्त कर रहे हैं। किसी सरकार का 5 वर्ष तक शासन चलाना मुखिया का दायित्व होता है, परन्तु राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हर क्षेत्र में अपनी विफलता पर आत्मपरीक्षण करने की बजाय अपराध बोध से ग्रसित होकर दूसरों को दोषी ठहराने में लगे हुए हैं।

हरलाखी विस : तीर चलेगा या लाल दुर्ग में बदल जायेगा हरलाखी ! बड़े रोचक दौर में पहुंचा चुनाव

राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस सरकार के 2 वर्ष का कालखंड पूरा होने वाला है लेकिन बार-बार मुख्यमंत्री का आपसी कलह से गिरती हुई अपनी सरकार को बचाने के लिए भाजपा को आरोपित करना हास्यापद है। जिस सरकार की बुनियाद ही अंतर्कलह और गुटबाजी पर टिकी हुई हो उस सरकार का 5 वर्ष का शासन पूरा करना स्वाभाविक रूप से असंभव हो जाता है। राठौड़ ने कहा कि भाजपा द्वारा सरकार को गिराने के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आरोपों में अगर जरा भी सच्चाई होती तो वह बयानबाजी करने के सिवाय कोई पुख्ता प्रमाण देने में क्यों घबरा रहे हैं ?

राठौड़ ने कहा कि राज्य सरकार खुद हॉर्स ट्रेडिंग में लगी हुई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं बागीदौरा से विधायक महेंद्रजीत सिंह मालवीय भी चुनावी सभा में बीटीपी के 2 विधायकों को 10-10 करोड़ रुपये देने की बात को स्वीकार कर अपनी ही खरीद-फरोख्त वाली कांग्रेस सरकार की कलई खोल चुके हैं। राठौड़ ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार और कांग्रेस पार्टी में राजनीतिक नियुक्तियों में देरी इस बात का संकेत है कि प्रदेश के मुखिया के रूप में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने कुनबे को बांध रखने में असक्षम साबित हो रहे हैं।


Leave a Reply