जेलों के लिए सीएम योगी का नया प्लान, जारी किये नए दिशा निर्देश

0
95
CM Yogi strict on Kanpur violence

उत्तर प्रदेश की जेलों में क्षमता से अधिक कैदियों की लगातार बढ़ संख्या की समस्या से निपटने के लिए योगी सरकार नया प्लान ला रही है। सूबे की योगी सरकार इस समस्या से समाधान पाने के लिए जहां एक तरफ नई जेलों का निर्माण कराएगी वहीं दूसरी तरफ पुरानी जेलों में नए बैरक भी बनाये जायेंगे। राज्य सरकार ने इसके आदेश दे दिए हैं। .

इस मामले के बारे में जानकारी देते हुए राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने मंत्रिपरिषद के समक्ष गृह, कारागार, होमगार्ड, सचिवालय प्रशासन और नियुक्ति एवं कार्मिक विभागों की कार्ययोजना प्रस्तुतिकरण के बाद निर्देश देते हुए कहा कि जेलों में बंदियों की क्षमता से ज्यादा संख्या की समस्या के निदान के लिए पुराने कारागारों में नए बैरक का निर्माण किया जाए।

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा कि अमरोहा, संभल, शामली और मुजफ्फरनगर में जिला कारागार के निर्माण के लिए जमीन खरीदी जाये। साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि अमेठी, हाथरस, औरेया, हापुड़, चंदौली, भदोही, अमरोहा, सम्भल, कुशीनगर, महोबा में जिला कारागार के निर्माण की कार्यवाही शुरू की जाये।

जेलों की सुरक्षा के लिए तकनीकी का प्रयोग 

राष्ट्रीय अपराध अभिलेख ब्यूरो की ताजा रिपोर्ट की माने तो उत्तर प्रदेश की जेलों में औसतन 177 कैदी बंद हैं। वहीं राष्ट्रीय औसत 118 कैदियों का है। उत्तर प्रदेश के सियाम योगी आदित्यनाथ ने भी कहा है कि प्रदेश में बंदियों की समय-पूर्व रिहाई के संबंध में लागू वर्तमान नीति में संशोधन की जरूरत है।  इसे आगामी 100 दिनों में कर लिया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि कारागार की सुरक्षा के लिए अधिक से अधिक तकनीक का उपयोग किया जाए। सीएम ने कहा कि सौ दिनों में सात वीडियो कांफ्रेंसिंग इकाईयों का पुनर्स्थापन और कारागार मुख्यालय में मल्टी कांफ्रेंस यूनिट की स्थापना की जाए। बता दें वर्तमान में उत्तर प्रदेश में 73 कारागार हैं।


Leave a Reply