Home जनसरोकार बधिर दिव्यांगजनों को सूचनाएं देने और संवाद के लिए हेल्पलाइन बनाने की...

बधिर दिव्यांगजनों को सूचनाएं देने और संवाद के लिए हेल्पलाइन बनाने की जरूरत


कोरोना वायरस (CORONA VIRUS) से बचने के लिए पूरा देश में लॉक डाउन है. ऐसे में समय समय पर सरकार द्वारा जनहित में जानकारी दी जा रही है. जो बधिर दिव्यांगों के लिए परेशानी होती. लेकिन इसके लिए कुछ सार्थक प्रयास हो रहे हैं. मोबाइल के द्वारा उन्हें वीडियो के माध्यम से समझाया जा रहा है. राजस्थान बधिर संघ के संयुक्त सचिव/सदस्य अनिल जैन ने बताया कि केंद्र व राज्य सरकार नियमित रूप से लोगों को निर्देश, मार्गदर्शन व अन्य आवश्यक सूचनाएं जारी कर रही हैंl

कोरोना के लिए लॉकडाउन : प्रकृति ने दिया बड़ा संदेश, यह मानवहित में जरूरी

कोरोना वायरस संबंधित सूचनाओं को बधिर दिव्यांग जनों के लिए सुगम संवाद करने के लिए भारतीय सांकेतिक भाषा में प्रसारित किया जा रहा हैl जिसके लिए क्षेत्रीय मौखिक व सांकेतिक भाषा विशेषज्ञ राकेश कुमार गंगवार सहायक आचार्य भारतीय सांकेतिक भाषा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केंद्र नई दिल्ली मोबाइल नंबर 1987826 209 द्वारा स्वैच्छिक निस्वार्थ द्विभाषीय सेवाएं प्रदान कर रहे हैंl

शिवपाल और मुलायम सिंह पर अमर सिंह ने कर दिया बड़ा खुलासा

जिस पर मुसीबत में फंसे बधिर दिव्यांग वीडियो कॉल के माध्यम से अपनी समस्याओं व कठिन संवाद का हल पा रहे हैं साथ ही राजस्थान बधिर संघ द्वारा जरूरतमंद दिव्यांगजनों की आर्थिक व राशन सामग्री से सहायता की जा रही हैl दूसरी ओर राजस्थान सरकार से आग्रह किया जाएगा.

सेना ने कश्मीर घाटी में 9 आतंकवादियों को मारा, अब रात में देश के लिए 9 मिनट हमे दिखाना है

1. विभिन्न जिलों में द्विभाषीय की आने वाली कॉल को प्राथमिकता दी जाए l 2. राज्य सरकार की ओर से आवश्यक उपकरण व स्थान संघ को उपलब्ध करा कर नियमित हेल्पलाइन स्थापित की जाएl

बड़ी खबर : तबलीगियों ने आखिर क्यों चुनी ट्रेन, नहीं गए प्लेन से ?

ऐसे में बधिर दिव्यांगों को परेशानी का सामना नहीं करना होगा. बड़ी संख्या में राजस्थान में बधिर दिव्यांग है. जिन्हें हम इस परेशानी से बचा सकते हैं. यह एक कारगर उपाय है. इससे प्रदेश के बधिर दिव्यांग सभी जानकारियों को जान सकेंगे. पिछले कई दिनों से बधिर दिव्यांगों को परेशानी भी हो रही है. वो इस दौरान कहीं पर ये परेशानी बता भी नहीं पा रहे हैं. ग्रामीण जिलों में उनके लिए यह व्यवस्था कर दी जाये तो बेहतर रहेगा. इससे ये सभी बातें समझ सकेंगे.


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

2 COMMENTS

Leave a Reply

Must Read

कांग्रेस ने अनेकों घोटाले कर भारत के हित और साख को गिराया : डॉ. सतीश पूनियां

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भारत को आर्थिक उन्नति के साथ आत्मनिर्भर बना रहे, श्री मोदी के नेतृत्व में भारत विश्व...

गरीबों को न्याय दिलाने सड़क पर उतरे पुष्पेंद्र भारद्वाज, मंत्री से की मुलाकात

न्यू सांगानेर रोड को 200 फीट चौड़ा नहीं करने के लिए दिया ज्ञापन न्यू सांगानेर रोड व्यापार...

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...

%d bloggers like this: