इस जिले में एसपी के आदेश को नहीं मान रही पुलिस, नियमों की हेराफेरी में कसूरवार छूट रहे !

बीते दिन रुद्रपुर नगर के चौहट्टा वार्ड में अबैध रूप से शराब बेचने की सूचना आबकारी बिभाग और पुलिस अधीक्षक को मिली थी।जिसके बाद पुलिस अधीक्षक देवरिया के आदेश पर आबकारी विभाग ने स्थानीय कोतवाली पुलिस के साथ चौहट्टा वार्ड में छापा मारा था जहां मौके पर अबैध रूप से देशी शराब की सीसी बेच रहे सभासद के घर से चार लोगों को दौड़ाकर पकड़ा गया था और पकड़े गए चारो अबैध कारोबारियों को कोतवाली लाया गया था।

0
555
देवरिया
देवरिया रुद्रपुर .

देवरिया से प्रियेश शुक्ला की रिपोर्ट 

बीते दिन रुद्रपुर नगर के चौहट्टा वार्ड में अबैध रूप से शराब बेचने की सूचना आबकारी विभाग और पुलिस अधीक्षक को मिली। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक देवरिया के आदेश पर आबकारी विभाग ने स्थानीय कोतवाली पुलिस के साथ चौहट्टा वार्ड में छापा मारा. पुलिस अधीकक्ष की ही बात नहीं मानी जा रही है. मौके पर अबैध रूप से देशी शराब की सीसी बेच रहे सभासद के घर से चार लोगों को पकड़ा गया था. छापेमारी के दौरान आबकारी पुलिस के ऊपर अबैध शराब कारोबारियों ने हमला भी कर दिया था, जिसमें  आबकारी विभाग के ड्राइवर रामानंद प्रसाद की उँगली भी कट गई थी, जिनका इलाज सीएचसी रुद्रपुर से चल रहा है।

…तो क्या अमेरिका के ये तीन बड़े शहर अप्रैल में हो जायेंगे ख़त्म ?

वहीँ बड़ी बात यह हुई है कि गिरफ्तार किए गए चार अभियुक्तों में से तीन अभियुक्तों को फर्जी कानूनी कहानी गढ़ कर छोड़ दिया गया. दारु बेचने के नाम पर खानापूर्ति करते हुए आबकारी अधिनियम 60 (1), आपदा प्रबंधन अधिनियम – 51(बी) और भा द स की धारा – 269 के तहत एक अभियुक्त अनिल पण्डा पुत्र विजय पण्डा का चालान कर दिया।

कोरोना महामारी में सरकार के हर सकारात्मक कार्य के साथ मजबूती से खड़ी है बसपा : सांसद रितेश पांडेय

आबकारी निरीक्षक कुलदीप सिंह वकील सिंह, परमात्मा सिंह और स्थानीय कांस्टेबल धर्मेंद्र कुमार व राकेश कुमार ने यह स्पष्ट रूप से बताया कि चौहट्टा वार्ड में दो सभासद परिवार से देशी शराब बेच रहे चार लोगों को मौके से गिरफ्तार कर कोतवाली लाया गया है। वही रुद्रपुर पुलिस अब मामलें से पल्ला झाड़ते हुए बचती नजर आ रही है । जब कि कोतवाली प्रभारी अरुण कुमार मौर्या ऐसे किसी भी घटना की जानकारी न होने की दुहाई दे रहे है। जब कि क्षेत्राधिकारी रुद्रपुर अम्बिका प्रसाद का कहना है कि निर्दोष लोगों को ही छोड़ा गया होगा.

…तो क्या अमेरिका के ये तीन बड़े शहर अप्रैल में हो जायेंगे ख़त्म ?

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कोतवाली में कुछ सभासदों और भाजपा नेताओं की काफी देर तक जमावड़ा लगा रहा। इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि खाकी और खादी के गठजोड़ से अबैध शराब कारोबारियों को बचाया गया है। बस कानून के आँख में धूल झोंकने के लिए एक अभियुक्त का चालान कर खानापूर्ति की गई है।


Leave a Reply