कफील मामले पर योगी को बड़ा झटका ! छह महीने से जेल में बंद

उत्तर प्रदेश में आज फिर डॉ कफील ( kafeel khan) चर्चा में है। क्योंकि, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने डॉ कफील पर लगे एनएसए को तुरंत हटाने का आदेश दिया है. कफील 6 महीने से मथुरा की जेल में बंद है. इनकी रिहाई के लिए कई बार मांग उठ चुकी थी।

0
543
डॉ कफील खान
डॉ कफील खान

  • डीएम अलीगढ़ ने नफरत फैलाने के आरोप में कफील पर एनएसए लगाया था
  • इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एनएसए तुरंत हटाने का आदेश जारी किया

संतोष कुमार पाण्डेय | सम्पादक

उत्तर प्रदेश में आज फिर डॉ कफील ( kafeel khan) चर्चा में है। क्योंकि, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने डॉ कफील पर लगे एनएसए को तुरंत हटाने का आदेश दिया है. कफील 6 महीने से मथुरा की जेल में बंद है. इनकी रिहाई के लिए कई बार मांग उठ चुकी थी। ३० जुलाई 2020 को कफील की रिहाई के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गाँधी ने सीएम योगी को पत्र लिखा था. इसके बाद भी तीन महीने के लिए कफील पर एनएसए की अवधि तीन महीने के लिए बढा दी गई थी.

BIHAR CHUNAV 2020 : जदयू में शरद यादव की फिर वापसी ! यह है बड़ा समीकरण

योगी ने सही ठहाया था

यूपी विधानसभा सत्र में बोलते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ( CM YOGI ADITYNATH ) ने डॉ कफील की गिरफ्तारी को सही ठहराया था. लेकिन एक सप्ताह के अंदर ही हाई कोर्ट से कफील को राहत मिल गई. अब चर्चा इसी बात को लेकर हो रही है कि क्या योगी सरकार को हाईकोर्ट के फैसले का अंदाजा नहीं था.

Bihar Assembly election 2020 : वैशाली जिले की हाजीपुर और लालगंज सीट पर किसका होगा कब्जा !

यह है पूरा मामला

कफील पर एनएसए लगाये जाने पर कफील की माँ नुजहत परवीन ने बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दाखिल किया था. गोरखपुर के BRD मेडिकल कॉलेज के प्रवक्ता और बालरोग विशेषज्ञ डॉक्टर कफील खान को CAA, NRC और NPA के विरोध के दौरान अलीगढ़ विश्वविद्यालय (AMU ) में 13 दिसंबर 2019 को कथित रूप से भड़काऊ भाषण देने के आरोप में यूपी पुलिस ने गिरफ्तार किया था. राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 1980 की धारा 3 (2) के तहत 13 फरवरी 2020 को कफील खान को अलीगढ़ जिला मजिस्ट्रेट के आदेश पर निरुद्ध किया गया है.

महुआ सीट पर क्या सच में कोई तेजप्रताप यादव को टक्कर दे पाएगा ?

 


Leave a Reply