राजस्थान की ड्रॉपआउट बेटियां कैसे अपने जीवन को बना सके आत्मनिर्भर, जानिए क्या है पूरा प्लान

राजस्थान अनसंग स्टार्स अभियान की शुरुआत वुमन एंड चाइल्ड राइट्स एक्टिविस्ट "भाग्यश्री सैनी" द्वारा ड्रॉपआउट बेटियों (dropout girls improve ) लिए की गई, जो बेटियां सालों पहले जीवन की विपरीत परिस्थितियों के कारण अपनी पढ़ाई को छोड़ चुकी थी और सालों बाद फिर से हिम्मत कर पायी हैं .

0
957
राजस्थान अनसंग स्टार्स अभियान का अनसंग स्टार्स अवार्ड कार्यक्रम का आयोजन।
राजस्थान अनसंग स्टार्स अभियान का अनसंग स्टार्स अवार्ड कार्यक्रम का आयोजन।

  • एसएस जैन सुबोध कॉलेज रामबाग सर्किल में राजस्थान अनसंग स्टार्स अवार्ड कार्यक्रम का आयोजन
  • जो बेटियां सालों पहले जीवन की विपरीत परिस्थितियों के कारण अपनी पढ़ाई को छोड़ चुकी उन्हें कैसे मिले मुकाम

प्रीति राय | जयपुर

राजस्थान अनसंग स्टार्स अभियान का अनसंग स्टार्स अवार्ड कार्यक्रम का आयोजन।
राजस्थान अनसंग स्टार्स अभियान का अनसंग स्टार्स अवार्ड कार्यक्रम का आयोजन।

राजस्थान अनसंग स्टार्स अभियान के अनसंग स्टार्स अवार्ड कार्यक्रम का आयोजन एस.एस. जैन सुबोध कॉलेज रामबाग सर्किल जयपुर में किया गया। राजस्थान अनसंग स्टार्स अभियान की शुरुआत वुमन एंड चाइल्ड राइट्स एक्टिविस्ट “भाग्यश्री सैनी” द्वारा ड्रॉपआउट बेटियों (dropout girls improve ) लिए की गई, जो बेटियां सालों पहले जीवन की विपरीत परिस्थितियों के कारण अपनी पढ़ाई को छोड़ चुकी थी और सालों बाद फिर से हिम्मत कर पायी हैं . जीवन की मुख्यधारा में सम्मिलित होने के लिए अभियान के प्रथम व द्वितीय चरण में 2200 बेटियों को शामिल किया गया है।

ये सभी बेटियां डूंगरपुर, बांसवाड़ा, उदयपुर ( आदिवासी क्षेत्र ) तथा जालौर, अजमेर, जयपुर की ड्रॉपआउट बेटियां हैं । इस अभियान का मुख्य लक्ष्य बेटियों को जागरूक कर उन्हें समग्र रूप से सशक्त बना कर समाज की मुख्यधारा में लाना है। ताकि अपने जीवन में आत्मनिर्भर बन सकें। इसलिए बच्चियों के उत्साहवर्धन हेतु आज फ्री मेडिकल कैंप और स्कूल ड्रॉपआउटस बच्चों द्वारा “गणित मेले” का आयोजन किया गया। साथ ही दसवीं कक्षा में टॉप करने वाली बच्चियों को अनसंग स्टार्स अवार्ड से नवाजा गया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर पदम्श्री कृष्णा पूनिया (अध्यक्ष, राज्य क्रीड़ा परिषद राजस्थान) , अर्चना शर्मा (अध्यक्ष, समाज कल्याण बोर्ड ) , डॉ.सुशीला सैनी (डायरेक्टर जयपुर दूरबीन हॉस्पिटल) , केबी कोठारी सुबोध कॉलेज के डीन , उप प्राचार्या, अनसंग स्टार्स अभियान की फाउंडर भाग्यश्री सैनी, अभियान के संयोजक स्वप्निल कुलश्रेष्ठ उपस्थित थे व साथ ही 6 जिलों की 2200 बेटियां भी जुड़ी।

इस कार्यक्रम में 5 डॉक्टर्स की मेडिकल टीम द्वारा 200 बच्चियों को सेवाएं प्रदान की गई । जिसमें डॉ महावीर सैनी SMS मेडिकल कॉलेज, डॉक्टर सुशीला सैनी स्त्री रोग विशेषज्ञ जयपुर दूरबीन हॉस्पिटल, डॉ. सपन गुप्ता संतोकबा दुर्लभजी हॉस्पिटल , डॉ.पी एल भालोठिया, डॉ इंदु सैनी (आहार विशेषज्ञ) द्वारा सेवाएं दी गई। “गणित मेला” में ड्रॉपआउटस बच्चियों द्वारा तैयार किए गए 24 प्रोजेक्ट का प्रदर्शन किया गया । 6 जिलों की 17 बच्चियों, शिक्षको व अन्य महिलाओ को अनसंग स्टार्स अवार्ड से सम्मानित किया गया ।

इस अवसर पर शिक्षा , साहित्य , मनोरंजन , उद्योग , व्यापार , वाणिज्य , कला , मीडिया जगत के गणमान्य , निर्मल चिरानिया , ओमप्रकाश गोरा राजस्थान पुलिस , टायक्वोंडो कोच रवि जारवाल , नीरज शर्मा , सुबोध प्रतिनिधि डॉ. विशाल गौतम , संचालन डॉ. नेहा पारिख , डॉ प्रियंका आदि उपस्थित थे ।


Leave a Reply