बड़ी पहल : केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPF) की कैंटीनों पर अब सिर्फ स्वदेशी उत्पादों की ही बिक्री होगी : अमित शाह

केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बुधवार को बड़ा निर्णय लिया है. उन्होंने ट्वीटर के जरिए ये जानकारी दी है. आइये जनते है क्या बातें और निर्णय गृह मंत्री अमित शाह ने लिया है. यह एक बड़ी पहल मानी जा रही है. गृह मंत्रालय ही एक ऐसा मंत्रालय है कि जिसने पहले यही निर्णय लिया है. इससे लोकल उत्पाद को फायदा मिलेगा. 

0
723
amit shah
अमित शाह, गृह मंत्री, भारत सरकार.

  • 01 जून 2020 से देशभर की सभी CAPF कैंटीनों पर यह लागू होगा
  • इससे लगभग 10 लाख CAPF कर्मियों के 50 लाख परिजन स्वदेशी उपयोग करेंगे

केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बुधवार को बड़ा निर्णय लिया है. उन्होंने ट्वीटर के जरिए ये जानकारी दी है. आइये जनते है क्या बातें और निर्णय गृह मंत्री अमित शाह ने लिया है. यह एक बड़ी पहल मानी जा रही है. गृह मंत्रालय ही एक ऐसा मंत्रालय है कि जिसने पहले यही निर्णय लिया है. इससे लोकल उत्पाद को फायदा मिलेगा.

LIVE UPDATE : 20 लाख करोड़ रुपए का आर्थिक पॅकेज की घोषणा : पीएम नरेंद्र मोदी

गृह मंत्री अमित शाह का ट्वीट

कल प्रधानमंत्री ने देश को आत्मनिर्भर बनाने और लोकल प्रोडक्ट्स (भारत में बने उत्पाद) उपयोग करने की एक अपील की जो निश्चित रूप से आने वाले समय में भारत को विश्व का नेतृत्व करने का मार्ग प्रशस्त करेगी।

इसी दिशा में आज गृह मंत्रालय ने यह निर्णय लिया है कि सभी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPF) की कैंटीनों पर अब सिर्फ स्वदेशी उत्पादों की ही बिक्री होगी। 01 जून 2020 से देशभर की सभी CAPF कैंटीनों पर यह लागू होगा। इससे लगभग 10 लाख CAPF कर्मियों के 50 लाख परिजन स्वदेशी उपयोग करेंगे।

मैं देश की जनता से भी अपील करता हूं कि आप देश में बने उत्पादों को अधिक से अधिक उपयोग में लायें व अन्य लोगों को भी इसके प्रति प्रोत्साहित करें। हर भारतीय अगर भारत में बने उत्पादों (स्वदेशी) का उपयोग करने का संकल्प ले तो पांच वर्षों में देश का लोकतंत्र आत्मनिर्भर बन सकता है।

लॉकडाउन-4 के लिए 18 मई के पहले पूरी जानकारी दी जाएगी : पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कल किया था ट्वीट

आत्मनिर्भर भारत का ये युग, हर भारतवासी के लिए नूतन प्रण भी होगा, नूतन पर्व भी होगा। अब एक नई प्राणशक्ति, नई संकल्पशक्ति के साथ हमें आगे बढ़ना है. आत्मनिर्भरता हमें सुख और संतोष देने के साथ-साथ सशक्त भी करती है। 21वीं सदी, भारत की सदी बनाने का हमारा दायित्व, आत्मनिर्भर भारत के प्रण से ही पूरा होगा। इस दायित्व को 130 करोड़ देशवासियों की प्राणशक्ति से ही ऊर्जा मिलेगी.


Leave a Reply