यूपी में अब राशन की दुकानों में मिलेंगे इतने रुपए तक के स्टांप पेपर, प्रापर्टी ट्रांसफर भी होगा आसान

0
45
up stamp paper

पोलटॉक नेटवर्क | लखनऊ 

उत्तर प्रदेश वासियों को अब ₹10 से लेकर ₹100 के स्टांप पेपर खरीदने के लिए तहसील, कलेक्ट्रेट या फिर गांव में रहने वाले लोगों को शहरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार जल्द ही उत्तर प्रदेश की जनता को इस मामले में राहत देने जा रही है। योगी सरकार जल्दी फैसला करने वाली है कि अब गांव की राशन की दुकानों में ही ₹10 से लेकर ₹100 तक के स्टांप पेपर मिल जाएंगे। इतना ही नहीं योगी सरकार अचल सम्पतियों के हस्तांतरण की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए प्रथम पीढ़ी के रक्त संबंधों में अचल संपत्तियों के हस्तांतरण शुल्क को भी घटाकर लगभग नाम मात्र करने की तैयारी में है।

उत्तर प्रदेश सरकार के स्टांप एवं पंजीयन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवींद्र जायसवाल ने मंगलवार को स्टांप एवं निबंधन विभाग की 100 दिनों से लेकर 5 वर्ष की कार्ययोजना के संबंध में मंगलवार को विभागीय अधिकारियों के साथ सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में बैठक की। रविंद्र जायसवाल ने बताया कि उनके विभाग द्वारा अगले 100 दिनों में तमाम ऐसे निर्णय लिए जाएंगे जिससे आम जनता को राहत मिल सके। उन्होंने कहा कि ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि विभाग से संबंधित अधिकांश सुविधाएं ऑनलाइन माध्यम से घर बैठे ही मिल जाए।

रवींद्र जायसवाल ने स्टांप पेपर की बिक्री को लेकर कहा कि ₹100 तक के मूल्य के  स्टांप पेपर को सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों में खरीदने की सुविधा दी जाएगी। वहीं ₹500 तक के मूल्य के स्टांप पेपर ऑनलाइन भुगतान करके स्वयं डाउनलोड करने की सुविधा भी मिलेगी।

स्टांप तथा पंजीयन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवींद्र जायसवाल ने बताया कि अचल संपत्ति और हस्तांतरण की प्रक्रिया को पारदर्शी और आसान बनाने के लिए ही प्रथम पीढ़ी के रक्त संबंधों में अचल संपत्ति के हस्तांतरण पर नाम-मात्र शुल्क करने पर भी सरकार द्वारा विचार किया जा रहा है। रवींद्र जायसवालने विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि सरकार की भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति के कड़ाई से पालन किया जाए। किसी तरह की लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

रिपोर्ट- पत्रकार आदित्य कुमार 


Leave a Reply