Home राजनीति से इतर LATEST UPDATE भारत ने इन 13 देशों को भेजी 'संजीवनीबूटी' की बड़ी खेप

भारत ने इन 13 देशों को भेजी ‘संजीवनीबूटी’ की बड़ी खेप


पूरी दुनिया में इस समय बस केवल कोरोना (corona virus) कहर है. ऐसे में सभी देश अपने नागरिकों को बचाने में लगे हैं. ऐसे में कोरोना की रोकथाम के लिए भारत की तरफ कई देशों ने हाथ फैलाया है. आइये जनाते है ऐसा क्यों हो रहा है और इसके पीछे का कारण क्या है? दरअसल, कई दिनों से मलेरिया की दवा हाइड्रोक्लोरोक्वीन की बात सभी सुन रहे हैं. आज वहीँ दवा दुनिया के 13 देशों के लिए ‘संजीवनीबूटी’ की तरह काम आ रही है. ये उन देशो का हाल है जहां मेडिकल की बेहतर सेवायें हैं. उन्ही देशों को १.4 करोड़ हाइड्रोक्लोरोक्वीन टैबलेट आज भारत से भेजी गई है.

COVID-19 : पूरी दुनिया को इंडिया दे रहा ‘जीवन’, सभी को बस भारत से ही उम्मीद

इन देशों को भेजी गई दवा
अमेरिका, स्पेन, जर्मनी, बहरीन , ब्राजील, नेपाल, भूटान, अफगानिस्तान, मालदीव, बांग्लादेश, Seychelles, Mauritius & Dominican Republic को 14 मिलियन टैबलेट भारत से भेजी गई है.

RAJASTHAN : गुलाबी शहर पर कोरोना का बढ़ा प्रकोप, यह है सभी जिलों का हाल

अमेरिका में हालत बहुत खराब

अमेरिका में हालात बहुत खराब है. वहां पर अभी सबसे खराब समय है. कुल 489,646 के मिले है. 18,034 लोगों की मौत हो चुकी है. 1,343 लोगों की मौत केवल 11 अप्रैल को ही हो गई है. अबतक का सबसे बड़ा आकंडा है. बस 26,777 लोग केवल ठीक हो पाए हैं. 444,835 अभी भी सक्रिय केस हैं. 10,896 केस बहुत गंभीर हैं. 21,080 नए केस मिले है.

चित्रकूट में हजारों जरुरतमंद लोगों के लिए ‘दयालु’ बने कमिश्नर गौरव

स्पेन में हालत ठीक नहीं

कुल कोरोना के केस 157,053 हजार हैं. नये केस 3,831 मिले है. 15,970 लोगों की मौत हो चुकी है. 523 लोगों की मौत 11 अप्रैल को हुई है. 55,668 मामले ठीक हुये हैं. हालात लगातार बिगड़ रहे हैं. यहाँ की सरकार ने भी भारत से हाइड्रोक्लोरोक्वीन दवा मांगा था.

जर्मनी में भी स्थिति विकट हुई 

जर्मनी में 120,157 केस मिले हैं. जिनमें से 2,688 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीँ 52,407 लोग ठीक भी हो चुके हैं. लेकिन यहाँ भी स्थिति बेहतर नहीं है. 65,062 केस अभी भी एक्टिव हैं. गंभीर मामले 4,895 इतने हैं. 1,922 केस बस केवल एक दिन में मिल गए है. लगातार हालात यहाँ पर बिगड़ते जा रहे हैं.


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...

YOUTH कांग्रेस कमेटी का विस्तार, आयुष भारद्वाज बने पहले संगठन महासचिव

युवा कांग्रेस की प्रदेश कार्यकारिणी का किया गया विस्तार राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी की अनुमति से हुआ...

“जन सहायता दिवस” के रूप में मनाया गया राहुल गाँधी का जन्मदिन

राजस्थान के सभी 33 जिलों में रक्तदान शिविर एवं राशन किट वितरण कार्यक्रम 1500 यूनिट रक्त एकत्रित...