भारतीय किसान यूनियन में पड़ी दरार, टिकैत की जगह राजेश सिंह चौहान बने अध्यक्ष

भारतीय किसान यूनियन में दो फाड़ हो गए हैं। किसानों की नाराजगी के बीच अब दो गुट बन गए हैं। दूसरे गुट ने राजेश सिंह चौहान को चुना अपना अध्यक्ष

0
13
two split in BKU

  • भारतीय किसान यूनियन के दो फाड़ हुए 
  • राजेश सिंह चौहान बने BKU (अराजनैतिक) के अध्यक्ष
पोलटॉक नेटवर्क | लखनऊ /आदित्य कुमार 

किसानों की नाराजगी के कारण किसान संगठन भारतीय किसान यूनियन के दो फाड़ हो गए हैं। चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत द्वारा संस्थापित भारतीय किसान यूनियन यानी BKU उनकी पुण्यतिथि पर ही दो हिस्सों में बंट गया। BKU के अध्यक्ष नरेश टिकैत और प्रवक्ता राकेश टिकैत अब अकेले पड़ गए हैं। राकेश टिकैत लख़नऊ में दो दिन तक कार्यकर्ताओं को समझाने का प्रयास करते रहे, लेकिन बात नहीं बनी और यूनियन में दो फाड़ हो गया।

राजेश सिंह चौहान बने अध्यक्ष 

रविवार को चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत की पुण्यतिथि के अवसर पर भारतीय किसान यूनियन की उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बैठक हुई। भारतीय किसान यूनियन की यह बैठक लखनऊ के गन्ना संस्थान परिसर में हुई। इस बैठक के दौरान ही भारतीय किसान यूनियन में बगावत हो गयी। भारतीय किसान यूनियन के उपाध्यक्ष राजेश सिंह चौहान ने भारतीय किसान यूनियन के दो फाड़ कर दिए। राजेश सिंह चौहान ने नरेश टिकैत और राकेश टिकैत की BKU से अलग भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) बनाई है। जिसका अध्यक्ष राजेश सिंह चौहान को चुना गया है।

इसके साथ ही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मांगेराम त्यागी राष्ट्रीय प्रवक्ता धर्मेंद्र मलिक युवा प्रदेश अध्यक्ष चौधरी दिगंबर तथा प्रदेश अध्यक्ष हरिनाम सिंह वर्मा बनाए गए हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश चौहान और प्रदेश अध्यक्ष हरिनाम सिंह वर्मा  ने कहा कि भारतीय किसान यूनियन अपने किसानों के मूल मुद्दों से भटक गई है और अब राजनीति करने लगी है। इसलिए भारतीय किसान यूनियन राजनीतिक की आवश्यकता महसूस हुई। यह संगठन केवल किसान हित में काम करेगा।

नेताओं को नहीं मना पाए टिकैत 

बता दें, राकेश टिकैत बीते दो दिन से लखनऊ में किसान संगठन के लोगों की मनाने में लगे हुए थे। राकेश टिकैत अपने प्रयासों में सफल नहीं हुए। नतीजन भारतीय किसान यूनियन दो हिस्सों में बंट गया।  टिकैत का साथ छोड़ने वाले किसान नेता इस बात से खफा हैं कि यह संगठन अब किसानों के मुद्दों को छोड़कर राजनीति की तरफ जा रहा है।


Leave a Reply