अपराधियों की राजधानी बन रही जयपुर, सरकार है मौन : सांसद बोहरा

जयपुर सांसद रामचरण बोहरा ( Ramcharan Bohra) ने प्रदेश संगठन के निर्देश पर बिजली की दरों में हुई बेतहाशा वृद्धि को लेकर एवं कोरोना संक्रमण काल में उपभोक्ताओं के चार माह के बिजली बिल माफ करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी (प्रथम) युगान्तर शर्मा को ज्ञापन सौपा।

0
602
रामचरण बोहरा, जयपुर, सांसद
रामचरण बोहरा, जयपुर, सांसद.

  • जयपुर सांसद रामचरण बोहरा के नेतृत्व में बिजली दरों की बढ़ोतरी के विरोध में SDM को सौंपा ज्ञापन
  • राज्य सरकार की जन विरोधी नीतियों से प्रदेशवासी दुःखी : सांसद बोहरा

पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर

जयपुर सांसद रामचरण बोहरा ( Ramcharan Bohra) ने प्रदेश संगठन के निर्देश पर बिजली की दरों में हुई बेतहाशा वृद्धि को लेकर एवं कोरोना संक्रमण काल में उपभोक्ताओं के चार माह के बिजली बिल माफ करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी (प्रथम) युगान्तर शर्मा को ज्ञापन सौपा। सांसद बोहरा ने कहा कि वर्तमान् में पूरा प्रदेश कोरोना संक्रमण से पीड़ित है ऐसे में उन्हें राहत पहुंचाने के बजाय राज्य सरकार बिजली के बिलों में अप्रत्याशित वृद्धि कर प्रदेशवासियों से क्रुर मजाक कर रही है। जबकि विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने 5 साल तक बिजली की दरों में बढ़ोतरी नहीं करनें का वादा किया था।

राजस्थान के सभी जिलों में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज

सांसद बोहरा ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल के 4 माह के बिजली बिलों को माफ करने के लिए सामाजिक, व्यापारिक संगठन एवं उपभोक्ता लम्बे समय से मांग कर रहे है। लेकिन सरकार के कानों में जू तक नहीं रैंग रही है। बल्कि अब प्रदेश अपराधियों की शरण स्थली बनता जा रहा है।

पीएम बनते-बनते रह गये थे प्रणब दा ! बना लिए थे अलग दल ! बाद में राष्ट्रपति बने ! बड़ी रोचक है कहानी !

आए दिन प्रदेश में हत्या, फिरौती, लूटपाट, डकैती, अपहरण एवं महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं घटित हो रही है। लेकिन सरकार न तो कोरोना को रोक पा रही है ओर न ही अपराधियों पर ठोस कार्यवाही कर पा रही है। ऐसा लगता है कि अब गुलाबी नगरी प्रदेश की जगह अपराधियों की राजधानी बन रही है। इस मौके पर मालवीय नगर विधायक कालीचरण सराफ, जयपुर शहर भाजपा अध्यक्ष राघव शर्मा, पूर्व उप महापौर मनोज भारद्वाज एवं मण्डल पदाधिकारी सहित सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता एवं उपभोक्ता मौजूद रहे।

विपक्ष की आलोचना से परेशान हुए झारखंड के शिक्षामंत्री, 11वीं में लिया एडमिशन, बच्चों के साथ क्लास में पढ़ेंगे


Leave a Reply