कोरोना वारियर्स : इस गाँव के ग्रामीणों ने किया वो दान जो करोड़पति नहीं कर पा रहे

आपको जिन युवाओं का नाम पढ़ने को मिल रहा है ये दानी नहीं वीर हैं

0
1208

इक्कठा अनाज के साथ गाँव के युवा .

लॉकडाउन (lockdown) भले ही चल रहा है मगर गाँव में इसका असर दूसरे रूप में है. गाँव के लोग घरों में तो है लेकिन उन्हें मवेशियों और उन लोगों के भोजन की चिंता भी सता रही है जो भोजन के जरुरतमंद है. उन्हें कैसे चारा और भोजन मिलेगा इसकी पूरी चिंता और फिक्र लगभग सभी गांव में देखी जा रही है. कुछ ऐसे ग्रामीण है जो इसके लिए चंदा भी जुटा रहे और अनाज भी इक्कठा कर रहे हैं. आइये ऐसे ही एक गाँव में आपको लेकर चलता हूँ जो आज मानवता के नाम मिसाल बन गया है. वहां के कुछ युवाओं ने वो कर दिखाया है जो करोड़पति नहीं कर पा रहे हैं. जी हाँ , उत्तरप्रदेश के जौनपुर जिले के दुर्गापट्टी और भगतपुर गाँव के कुछ ग्रामीणों ने एक अच्छी पहल की है. इसकी खूब चर्चा है.

इक्कठा अनाज के साथ गाँव के युवा .

ये दानी नहीं सामाजिक वीर है

आपको जिन युवाओं का नाम पढ़ने को मिल रहा है ये दानी नहीं वीर हैं. अमूमन गाँव या शहर में चंदा इकट्ठा करना आसान काम नहीं होता है. लेकिन उसे इन युवाओं ने कर दिखाया है. राजकुमार, सत्यभूषण, राहुल, अमित , श्रीप्रकाश ,संतोष, धर्मदेव, रामदरस , तीर्थराज, रमेश, अजय, राम बुझारत और कल्लू पांडेय ने इसमें अन्न का दान किया है. जबकि अनाज ही इस समय लोगों की मांग और जरुरत है. रुपया तो कई दिनों बाद काम आएगा. इन युवाओं ने गाँव वालों से लेकर एक बड़े अनाज (कई किलो) को अपनी विधान सभा में दान कर दिया है.

इनका मानना है कि ये मानवता के लिए ये कर रहे हैं. इनका मकसद किसी को बताना नहीं था. मगर पोल टॉक ऐसे कोरोना वारियर्स को सलाम करता है. और इन्हें सबके सामने लाना मकसद है. समाज को ऐसे सामाजिक वीरों की जरुरत है. बिना इनके समाज ही अधूरा है. ऐसे वीरों की जरूत है. इन्हें आगे आना होगा. और अगर आपके पास कोई ऐसा काम है तो आप भी भेज सकते हैं पोल टॉक के व्हाट्सएप नम्बर पर 8225922565 पर. हम उसे प्राथमिकता पर लेकर पब्लिश करेंगे.


Leave a Reply