Home राजनीति RAJASTHAN की इस लोकसभा और विधानसभा सीट पर 31 साल से मां...

RAJASTHAN की इस लोकसभा और विधानसभा सीट पर 31 साल से मां और बेटे का कब्जा


  • झालावाड़-बारां लोकसभा सीट पर 1989 से वसुंधरा और दुष्यंत का राज
  • झालरापाटन से लगातार वसुंधरा राजे चौथीं बार हैं विधायक

संतोष कुमार पांडेय | सम्पादक

भारत की राजनीति में वंशवाद में ज्यादा देखी जाती है. . चाहे वो कोई भी दल या पार्टी हो. सबकी एक जैसी ही स्थिति दिखती है. कई लोकसभा और विधानसभा सीटों पर एक ही परिवार का दबदबा बना हुआ है. लेकिन मां और बेटे एक सीट पर तीन दशक से सांसद और विधायक बने बैठे हो यह शायद कम ही देखने को मिले। लेकिन राजस्थान में वसुंधराराजे (vashundhra raje ) और उनके बेटे दुष्यंत सिंह (dushynat singh) कई सालों से अपना दबदबा बनाये हुए है.

तो अगस्त तक कमलनाथ फिर बन जाएंगे एमपी के सीएम, जानिए इसके पीछे की कहानी!

31 साल से झालावाड़-बारां लोकसभा सीट...

राजस्थान की एक महत्वपूर्ण लोक सभा सीट है झालावाड़ और बारां। यहां पर वसुंधरा राजे सिंधिया और उनके बेटे दुष्यंत का दबदबा है. 31 साल हो गए दूसरा कोई जीत नहीं पाया। 1989 में वसुंधरा ने भाजपा के टिकट पर खाता खोला था. और लगातार पांच बार सांसद रहीं। उसके बाद 2004 में इनके बेटे दुष्यंत सिंह का पदार्पण हुआ. उन्हें भी लगातार चार बार से जीत मिल रही है। . कई दिग्गज नेताओं को यहां से माँ -बेटे ने चुनाव में हरा दिया है.

जब 25 साल पहले कलराज मिश्र ने राजभवन में दिया था धरना…जानिए पूरी कहानी

झालरापाटन से वसुंधरा का झंडा है बुलंद

राजस्थान में झालरापाटन का नाम लेते ही लोग वसुंधरा राजे की चर्चा करने लगते हैं. यहां से वर्ष 2003 में इन्होने चुनाव जीता और लगातार ये चुनाव जीत रही हैं. चौथी बार बड़े वोटों के अंतराल से इन्होने चुनाव जीता था. इस सीट पर अब इनका कब्ज़ा हो चुका है।

प्रिंसिपल मनोज की मेहनत लाई रंग और पहली बार लोहारवा आया राजस्थान के ‘प्रकाश’ में

चुनाव् जीतने की कईं वजहें 

वसुंधरा राजे और दुष्यंत के यहां से चुनाव जीतने की कई वजहें हैं. यह झालावाड़ जिला मध्यप्रदेश के बॉर्डर पर है. चूकिं वसुंधरा मध्यप्रदेश की है इसलिए उन्हें यहां पर अधिक समर्थन मिल जाता है. और उन्होंने कभी अपनी सीट को बदली नहीं है. लोगों के साथ इनका लगाव भी है. लोग कहते है इनके चुनाव जीतने की कई वजहें हैं.


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

कांग्रेस ने अनेकों घोटाले कर भारत के हित और साख को गिराया : डॉ. सतीश पूनियां

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भारत को आर्थिक उन्नति के साथ आत्मनिर्भर बना रहे, श्री मोदी के नेतृत्व में भारत विश्व...

गरीबों को न्याय दिलाने सड़क पर उतरे पुष्पेंद्र भारद्वाज, मंत्री से की मुलाकात

न्यू सांगानेर रोड को 200 फीट चौड़ा नहीं करने के लिए दिया ज्ञापन न्यू सांगानेर रोड व्यापार...

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...