Margaret Alva: कौन हैं मार्गेट अल्वा ? Who Is Margaret Alva | Vice President Of India

24 मई 1964 में इनकी शादी निरंजन अल्वा से हुई। एक बेटी और तीन बेटों की मां हैं। इनके पति निरंजन जोकिम अल्वा और वायलेट अल्वा के पुत्र हैं। जोकिम अल्वा और वायलेट दोनों सांसद रहे हैं.

0
59
मार्गेट अल्वा, विपक्ष ने बनाया उप राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार
मार्गेट अल्वा, विपक्ष ने बनाया उप राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार .

  • मार्गरेट अल्वा गोवा, गुजरात, राजस्थान और उत्तराखंड
  • कर्नाटक की रहने वाली हैं, कई बार रही हैं सांसद

संतोष कुमार पांडेय | नई दिल्ली

भारत (INDIA) के उप राष्ट्र्पति पद (Vice President Election) के लिए विपक्ष ने देश की दिग्गज नेता रहीं और कई राज्यों की मार्गेट अल्वा (Margaret Alva) को उम्मीदवार बनाया है। मार्गेट अल्वा कौन हैं ? अल्वा कर्नाटक (karnatak ) की रहने वाली हैं. इनका जन्म 14 अप्रैल 1942 को मैंगलूर (mangloor ) के पास्कल एम्ब्रोस नजारेथ और एलिजाबेथ नजारेथ के यहाँ हुआ। इन्होने माउंट कार्मेल कॉलेज और राजकीय लाँ कॉलेज से पढ़ाई की है। 24 मई 1964 में इनकी शादी निरंजन अल्वा से हुई। एक बेटी और तीन बेटों की मां हैं। इनके पति निरंजन जोकिम अल्वा और वायलेट अल्वा के पुत्र हैं। जोकिम अल्वा और वायलेट दोनों सांसद रहे हैं.

राजनीतिक जीवन

कांग्रेस पार्टी (congress) की महासचिव और चार बार राज्यसभा और एक बार लोकसभा की सदस्य रहीं हैं. (1974से 2004) तक लगातार संसद में बनीं रही. चार बार केंद्रीय राज्यमंत्री रहीं हैं। एक सांसद के रूप में उन्होंने महिला-कल्याण के कई कानून पास कराने में अपनी प्रभावी भूमिका अदा की।

महिला सशक्तिकरण संबंधी नीतियों का ब्लू प्रिन्ट बनाने और उसे केन्द्र एवं राज्य सरकारों द्वारा स्वीकार कराये जाने की प्रक्रिया में उनका मूल्यवान योगदान रहा। दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति ने तो उन्हें वहाँ के स्वाधीनता संग्राम में रंगभेद के खिलाफ लड़ाई लड़ने में अपना समर्थन देने के लिए राष्ट्रीय सम्मान प्रदान किया था। वे संसद की अनेक समितियों में रहने के साथ-साथ राज्य सभा के सभापति के पैनल में भी रहीं। गोवा, गुजरात, उत्तराखंड और राजस्थान की राज्यपाल रह चुकीं हैं. 6 अगस्त 2009 से 14 मई 2012 तक उत्तराखण्ड (uttrakhand ) की पहली महिला राज्यपाल के रूप में कार्य किया। तत्पश्चात 12 मई 2012 से वे राजस्थान (rajasthan) राज्य की राज्यपाल बनाई गई थीं. अब उन्हें विपक्ष ने उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है।


Leave a Reply