कमलनाथ और दिग्विजय सिंह का यह दांव सफल नहीं हुआ, शिवराज ने मारी बाजी !

कमलनाथ ने खेले कई दांव मगर नहीं हुये पास !

0
630

कमलनाथ , मुख्यमंत्री, मध्यप्रदेश .

मध्यप्रदेश में कमलनाथ की सरकार अब नहीं बचेगी. सरकार के पास बहुमत पास करने के लिए संख्या बहुत कम है. और शिवराज सिंह चौहान ने बाजी मार ली है. आइये आपको जरा उन बातों पर ले चलता हूँ जहां कमलनाथ सरकार बचाने के लिए प्रयास कर रहे थे. उन बिन्दुओं का विश्लेषण जरूरी है. आखिर समय में कमलनाथ ने जो दांव खेला क्या सफल हुये या हारने के बाद दांव चल रहे थे.

सरकार बचाने के लिए खूब समय मिला !

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जब बगावत की थी तो उस समय कमलनाथ ने सरकार बचाने के लिए क्या किया. जबकि उनके पास ख़ूब समय था. जब कमलनाथ सरकार को फ्लोर टेस्ट के लिए 16 मार्च को विधान सभा में पेश होना हुआ तो वो इसमें बाजी मार गए. कमलनाथ सरकार पूरी तरह से यहाँ सेफ हो गई. मगर यह दांव भी फेल गया.

देर से मंत्री लगे मिशन पर

जीतू पटवारी और अन्य नेताओ को देर से विधायकों को मनाने के लिए लगाया गया. जो दांव भी कमलनाथ का फेल हुआ. अगर थोड़ा पहले यह काम होता तो शायद कमलनाथ को सफलता मिल पाती. वहीँ सूत्रों की माने तो यह दांव दिग्विजय सिंह के द्वारा खेला गया था.

तीन जिले बनाने का निर्णय भी फेल !

भाजपा के विधायको को तोड़ने का प्रयास हुआ है. इसी कड़ी में उन्होंने तीन जिले बना दिया मगर सफलता नहीं मिली. भाजपा के दो विधायक कमलनाथ सरकार के साथ देखे गए. मगर अब वो भी बाजी बदलते हुए नजर आ रहे है. नारायण त्रिपाठी और कोल दोनों विधायकों ने कमलनाथ को खूब छकाया.


Leave a Reply