Home जनसरोकार भाग्य बदलने के सूत्र खोलती पुस्तक, सम्मानित कृति जो सफलता की राह...

भाग्य बदलने के सूत्र खोलती पुस्तक, सम्मानित कृति जो सफलता की राह दिखाती है


यूँ तो कवियों और लेखकों को साहित्यिक अवार्ड खूब मिलते रहते है. मगर उनकी चर्चा कम होती है. लेकिन वहीँ जब किसी अफसर को एक ही किताब के लिए राज्य के 5 बड़े साहित्यिक अवार्ड मिल जाये ये तो चर्चा होगी ही. उस अफसर के लिए ये अवार्ड ही असली भूषण बने गए हैं. वो यूपी के तेजतर्रार अफ़सरों में से एक हैं. कई बड़ी जिम्मेदारी भी निभा चुके हैं. कई बड़े आयोजनों में इनकी महती भूमिका रही. मगर इनकी एक किताब ने इन्हें आज चर्चा में लाने से नहीं छोड़ा. वो किताब बड़ी ही चर्चित रही. उसे उत्तरप्रदेश के बाहर भी खूब पसंद किया है. उस किताब का नाम है ‘मैंने अनुभव से सीखा है’ और उसके लेखक हैं विश्व भूषण मिश्रा. जो २००९ बैच के यूपी पीसीएस अफसर हैं.

“मैंने अनुभव से सीखा है” है पुस्तक

“मैंने अनुभव से सीखा है”

वर्ष २०१८ में यह किताब आते ही चर्चा में बन गई. इस पुस्तक की हर पंक्ति में जीवन का गूढ़ रहस्य छिपा है. जिसने पढ़ा उसे लगा कि यह पुस्तक तो उसके जीवन की सच्चाई को रेखांकित कर रही है. यही कारण रहा कि “मैंने अनुभव से सीखा है” को पाठकों ने खूब सराहा और पसंद भी किया. जैसे एक पाठक ओमकार लिखते हैं ‘ इसके लिए जितने भी विशेषण प्रयोग किये जायें वह कम ही हैं। यह लेखक के अपने जीवन अनुभव पर आधारित तो है ही जीवन की सच्चाई इस काव्य संग्रह में छिपी हुई है। कविताओं के शौकीन मिज़ाज कविता पढ़ते ही अपनी सुध बुध खो देंगें ऐसा मेरा मानना है, क्योंकि पढ़ते ही सभी पाठकों को अपने जीवन के अनुभव कविता की हर पंक्ति में नज़र आने लगेंगे।’ ऐसा ही दीप्ती लिखती है ‘कवि की सुल्झी हुई सोच ,समझ एवं अनुभूतियों की भावपूर्ण अभिव्यक्ति जो सभी का मार्गदर्शन करेगी।’

यूपी के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा से सम्मान पाते हुए विश्व भूषण मिश्रा.

“मैंने अनुभव से सीखा है” को अभी तक कुल 5 बड़े अवार्ड मिल चुके हैं. शायद ही किसी अफसर को इतने कम उम्र में एक किताब के लिए इतने अवार्ड मिले हो.

युवा साहित्यकार सम्मान 2018-19हिन्दुस्तान एकेडमी, प्रयागराज
पं प्रताप नारायण मिश्र युवा लेखन सम्मान 2018-19भाऊ राव देवरस न्यास, लखनऊ
सरस्वती सम्मान2019-20सरस्वती अकादमी, लखनऊ
हिंदी सभा वार्षिक सम्मान2019-20हिंदी सभा, सीतापुर
जयशंकर प्रसाद पुरस्कार2019-20राज्य कर्मचारी साहित्य संस्थान, उ.प्र.
कार्यालय में कार्य करते हुए विश्वभूषण मिश्रा.

CORONA VIRUS : देश के शिक्षा मंत्री की बेटी खुद बना रही मास्क और बाँट भी रहीं

कौन है विश्व भूषण मिश्रा

विश्व भूषण मिश्रा उत्तरप्रदेश के अम्बेडकर नगर जिले के निवासी है. वर्ष 2009 में इन्होने यूपी पीसीएस की परीक्षा पास की. शुरूआती समय में इन्होने वर्ष २०१२ में गाजीपुर में इन्होने उप जिला अधिकारी के रूप में ट्रेनिंग की थी. उसके बाद मथुरा में उप जिलाधिकारी रहे. लखनऊ में खेल विभाग में सहायक निदेशक रहे. कई जिम्मेदारियों को निभाते हुए इन्होने कई बड़े काम किये. अभी वर्तमान में विश्व भूषण मिश्रा ट्रांसगोमती लखनऊ के एडीएम हैं.

https://www.youtube.com/watch?v=dFtR2gUAGqo
पोलटॉक के यूट्यू चैनल को इन्होने एक विशेष इंटरव्यू दिया था .

 


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

चौधरी साहब ताउम्र ग़रीबों, किसानों, नौजवानों और वंचितों की आवाज़ बने रहे : यज्ञेन्दु

चौधरी अजीत के बेटे जयंत ने दी सोशल मीडिया से जानकारी देश भर के नेताओं ने भावभीनी...

वैक्सीनेशन के पश्चात् मिलने वाले सर्टिफिकेट पर पीएम की फोटो नहीं लगाने वाला बयान अत्यन्त शर्मनाक : राजेन्द्र राठौड़

राजस्थान में ऑक्सीजन का कोटा 100 मीट्रिक टन बढ़ाकर 280 मीट्रिक टन से 380 मीट्रिक टन किया है ...

प्रदेश युवा कांग्रेस ने “सेवा दिवस” के रुप में मनाया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का जन्मदिन

प्रदेश के सभी 33 जिलों में रक्तदान शिविर, फल, भोजन, मास्क एवं सैनिटाइजर वितरण कार्यक्रम पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर  राजस्थान...

केन्द्र सरकार द्वारा दी जा रही सहायता से गहलोत सरकार जनता को दे राहत : सांसद रामचरण बोहरा

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और केंन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से की मुलाकात कोरोना आपदा प्रबंधन, रेमेडिसिवर...

कोरोना मरीजों और उनके परिजनों के लिए प्रदेश युवा कांग्रेस ने शुरू की ‘जनता रसोई’

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंशा "कोई भूका ना सोए" को आगे बढ़ाते हुए को खाना उपलब्ध करवाने का लिया संकल्प पोल...