Home अंदर की बात मध्य प्रदेश की इन 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कौन...

मध्य प्रदेश की इन 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कौन है किस पर भारी ? यह है पूरी कहानी


  • इन सभी सीटों पर कांग्रेस की हुई थी जीत, भाजपा के लिए बढ़ी चुनौती
  • शिवराज सिंह चौहान और सिंधिया की जोड़ी कर पाएगी कमाल

संतोष कुमार पाण्डेय | सम्पादक

मध्य प्रदेश में विधान सभा के लिए 27 सीटों पर उपचुनाव होने हैं. ऐसे में 24 सीटों का हाल जानिए जहाँ पर कांग्रेस बहुत मजबूत थी. क्या यहाँ पर फिर कमल खिल पायेगा. पढ़िए विशेष रिपोर्ट|

मुरैना में यह है हाल 

मुरैना जिले की जौरा विधान सभा सीट पर 2018 के विस चुनाव में कांग्रेस के बनवारी लाल शर्मा को 56187 वोट मिला था. यहाँ बसपा दूसरे नम्बर पर थी. तीसरे स्थान पर भाजपा के सूबेदार सिंह राजोधा थे. जिन्हें मात्र 37988 वोट मिला था. मुरैना की ही सुमावली विधान सभा सीट से अदल सिंह कंसारा ने 65455 वोटों के साथ जीत दर्ज की थी. और भाजपा के अजब सिंह कुशवाहा को मात्र 52142 वोट मिले थे. तीसरे नंबर पर बसपा थी. दिमनी विधान सभा सीट पर  कांग्रेस के गिरिराज डण्डौतिया को 69597 वोट मिले और भाजपा के शिवमंगल सिंह तोमर को 51120 वोट मिले. यहाँ पर बसपा तीसरे नम्बर थी. अंबाह विधान सभा सीट पर कांग्रेस के कमलेश जाटव को 37343 वोट मिले और भाजपा के गब्बर शंखवार को 29715 वोट मिले. यहाँ पर भाजपा तीसरे नम्बर पर थी.

भिंड जिले की यह है स्थिति

मेहगांव सीट से कांग्रेस के ओपीएस भदोरिया को 61560 वोट मिले और भाजपा के राकेश शुक्ला को 35746 वोट मिले. भाजपा यहाँ बुरी तरह से चुनाव हार गई. तीसरे नम्बर पर बसपा रही. गोहद विधान सभा सीट पर कांग्रेस के रणवीर जाटव को 62981 वोट मिले और भाजपा के लाल सिंह आर्या को 38992 वोट मिले. बसपा तीसरे नम्बर पर रही.

सागर जिले में स्थिति कांग्रेस के पक्ष में

सुरखी सागर जिले की विधानसभा सीट है. यहाँ पर वर्ष 2018 में कांग्रेस के टिकट पर गोविन्द सिंह को 80806 वोट मिले थे और सुधीर यादव 59388 को मिले. इस सीट पर बसपा को कोई वोट नहीं मिला.

ग्वालियर में कांग्रेस मजबूत है

ग्वालियर सीट पर कांग्रेस के प्रद्युम्न सिंह तोमर को 92055 वोट मिले जबकि भाजपा के जयभान सिंह पवैया को 71011 वोट मिले थे. यहं पर बसपा तीसरे नम्बर पर थी. ग्वालियर पूर्व पर कांग्रेस के मुन्ना लाल गोयल को 90133 वोट मिला और भाजपा के सतीश सिंह सिकरवार 72314 को मिला. बसपा तीसरे नम्बर पर रही. डबरा से कांग्रेस की इमरती देवी को 90598 वोट मिला और भाजपा के कप्तान सिंह सेसरी को 33152 वोट मिल पाया. बसपा तीसरे नम्बर पर रही

दतिया की भांडेर

भांडेर विधान सभा सीट से कांग्रेस के संत राम सारोनिया को 73569 वोट मिले थे. जबकि भाजपा के रजनी प्रजापति को 33673 वोट मिले और बसपा तीसरे स्थान पर रही.

शिवपुरी जिले में यह है स्थिति

करेरा से कांग्रेस के जसमंत जाटव छितरी को 64201 वोट मिला और भाजपा के राजकुमार खटिक को 49377 वोट मिले. यहाँ पर बसपा तीसरे नम्बर पर रही. पोहरी से सुरेश धाखड को कांग्रेस के टिकेट पर 60654 वोट मिला और भाजपा के प्रहलाद भारती को 37268 मात्र मिला. यहाँ बसपा दूसरे स्थान पर थी.

गुना की बामोरी सीट

बामोरी से कांग्रेस के महेंद्र सिंह सिसोदिया को कुल 64598 वोट मिला और भाजपा के बृजमोहन आजाद को मात्र 36678 वोट मिले. और यहाँ बसपा कमजोर है.

अशोकनगर में भी कांग्रेस मजबूत

अशोक नगर में कांग्रेस के टिकेट पर जयपाल सिंह को 65750 वोट मिले और भाजपा के लड्डू राम कोरी को 56020 वोट मिला. यहाँ पर बसपा तीसरे स्थान पर थी. मुंगावली में कांग्रेस के ब्रजेन्द्र सिंह यादव को 55346 वोट मिले और भाजपा के कृष्णपाल को 53210 वोट मिले. यहाँ पर बसपा तीसरे स्थान पर रही.

अनूपपुर में कांग्रेस का हाल

यहाँ बिसाहूलाल साहू ने भाजपा के रामलाल रौतेले को 11 हजार मतों से हरा दिया था. जबकि रौतेले वर्ष 2013 में चुनाव जीत चुके थे. और 2018 में उन्हें हार मिली.

रायसेन के सांची का हाल

साँची विधान सभा सीट पर प्रभुराम चौधरी ने कांग्रेस के टिकेट पर जीत दर्ज किया. उन्होंने भाजपा के मुदित शेजवार को 10 हजार से अधिक वोटों से हरा दिया था.

आगर में भाजपा की स्थिति मजबूत

आगर मालवा से भाजपा विधायक मनोहर ऊंटवाल का 53 वर्ष की आयु में निधन हो गया था. यहाँ पर सीट खाली है . यहाँ भाजपा मजबूत है. मगर स्थिति बदल सकती है. हाटपिपल्या से कांग्रेस के मनोज चौधरी को जीत मिली थी. यहाँ पर भाजपा को हार मिली थी. लड़ाई कड़ी है.

सुवासरा से हरदीप सिंह ने जीत दर्ज की थी. इन्होने ने मात्र 350 वोट से भाजपा के राधे श्याम को हराया था. यहाँ मामला कडा है. बदनावर सीट से कांग्रेस के राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव ने भाजपा के भंवर सिंह शेखावत को 40 हजार वोटों से हराया था. यहाँ पर कांग्रेस मजबूत है. सांवेर से कांग्रेस के दिग्गज नेता तुलसीराम सिलावट ने चुनाव जीता था. जो अब भाजपा में जा चुके हैं.

 


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...

YOUTH कांग्रेस कमेटी का विस्तार, आयुष भारद्वाज बने पहले संगठन महासचिव

युवा कांग्रेस की प्रदेश कार्यकारिणी का किया गया विस्तार राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी की अनुमति से हुआ...

“जन सहायता दिवस” के रूप में मनाया गया राहुल गाँधी का जन्मदिन

राजस्थान के सभी 33 जिलों में रक्तदान शिविर एवं राशन किट वितरण कार्यक्रम 1500 यूनिट रक्त एकत्रित...