महाराजा अग्रसेन प्रबंधन संस्थान के छात्रों की नेक पहल, अस्पतालों में न रह पाए खून की कमी

राम मनोहर लोहिया अस्पताल में खून की ज्यादा मांग और उपलब्धता में कमी को देखते हुए एनसीसी (ncc) और एनएसएस (nss) के बच्चे बहुत ही संक्षिप्त सूचना पर आगे आए और बढ़ चढ़कर रक्तदान किया।

0
61
ब्लड दान करते हुए महाराजा अग्रसेन प्रबंधन संस्थान के छात्र।
ब्लड दान करते हुए महाराजा अग्रसेन प्रबंधन संस्थान के छात्र।

  • पिछले दिनों दिल्ली के कई अस्पतालों में खून के कमी की आई थी खबर, छात्रों ने किया रक्तदान
  • 23 जनवरी को रक्तदान शिविर के माध्यम से अस्पतालों-ब्लड बैंकों को ब्लड उपलब्ध करवाया जाता है

नई दिल्ली | पोल टॉक नेटवर्क

दिल्ली के अस्पतालों में खून की कमी न हो इसके लिए रोहिणी सेक्टर 22 स्थित महाराजा अग्रसेन प्रबंधन संस्थान (Maharaja Agrasen Institute of Management ) के छात्रों ने नेक पहल शुरू की है। कॉलेज में रक्तदान शिविर लगाकर 80 बोतल रक्तदान हुआ। संस्थान के संस्थापक अध्यक्ष डॉ नंद किशोर गर्ग ने कहा कि रक्तदान महादान है और एक बोतल खून से चार मरीजों की जान बचाई जा सकती है। डॉक्टर गर्ग के अनुसार उनकी संस्था महाराजा अग्रसेन जी के बताए सिद्धांतों पर चलते हुए समाज सेवा के कार्यों में हर समय संलग्न रहती है। शिविर के संयोजक मोहन गर्ग और अतुल सिंघल ने बताया कि कॉलेज में हर साल नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती 23 जनवरी को रक्तदान शिविर लगाकर सैंकड़ों यूनिट खून विभिन्न अस्पतालों और ब्लड बैंकों को उपलब्ध करवाया जाता है।

राम मनोहर लोहिया अस्पताल (Dr. Ram Manohar Lohia Hospital) में खून की ज्यादा मांग और उपलब्धता में कमी को देखते हुए एनसीसी (ncc) और एनएसएस (nss) के बच्चे बहुत ही संक्षिप्त सूचना पर आगे आए और बढ़ चढ़कर रक्तदान किया। उन्होंने कहा कि संस्थान का स्टॉफ और छात्र रक्तदान के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। वही राम मनोहर लोहिया अस्पताल के ब्लड बैंक के प्रमुख डॉ डी एस चौहान के अनुसार सर्दियों के मौसम में रक्तदान शिविर लगने कम हो जाते हैं। जबकि डेंगू जैसी बीमारी फैली हुई हैं। ऐसे में ब्लड बैंक में खून की कमी हो जाती है।

डॉक्टर चौहान ने रक्तदान शिविर लगाने के लिए महाराजा अग्रसेन प्रबंधन संस्थान का धन्यवाद किया। रक्तदान शिविर में प्रबंधन समिति के सचिव रजनीश गुप्ता, निदेशक प्रो रजनी मल्होत्रा ढींगरा, प्रो उमेश पाठक ने बच्चों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि एनसीसी और एनएसएस का ध्येय ही समाजसेवा है, जिसको कॉलेज के बच्चे अपने जीवन में उतार रहे हैं।कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के साथ ही उन्नत भारत अभियान ,एन सी सी,विधि मित्र,प्रो बोनो क्लब और यूथ रेडक्रॉस की प्रमुख भूमिका रही !


Leave a Reply