Manipur Election 2022: 60 सीटों पर दो चरणों में होगा चुनाव, 10 मार्च को आएंगे परिणाम

चुनाव आयोग ने पांच राज्यों के लिए विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। भारत के पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर (manipur-) की 60 सीटों पर दो चरणों में वोट डाले जाएंगे। राज्य में पहले चरण की वोटिंग 27 फरवरी को और दूसरे चरण की वोटिंग 3 मार्च को होगी। इसी के साथ राज्य में आचार संहिता भी लागू हो गई है।

0
30
MANIPUR ELCETION 2022
MANIPUR ELCETION 2022

  • पहले चरण के लिए 1 फरवरी को नोटिफिकेशन जारी होगा
  • दूसरे चरण के लिए 4 फरवरी को नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा

पोल टॉक नेटवर्क | इम्फाल

चुनाव आयोग ने पांच राज्यों के लिए विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। भारत के पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर (manipur-) की 60 सीटों पर दो चरणों में वोट डाले जाएंगे। राज्य में पहले चरण की वोटिंग 27 फरवरी को और दूसरे चरण की वोटिंग 3 मार्च को होगी। इसी के साथ राज्य में आचार संहिता भी लागू हो गई है। चुनाव आयोग ने बताया कि मणिपुर विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए 1 फरवरी को नोटिफिकेशन जारी होगा। इस चरण के प्रत्याशियों के लिए नामांकन करने की अंतिम तारीख 8 फरवरी और नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख 11 फरवरी होगी। राज्य में 27 फरवरी को वोट डाले जाएंगे।

मणिपुर में दूसरे चरण के मतदान के लिए 4 फरवरी को नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा। इस चरण में प्रत्याशी 11 फरवरी तक नामांकन कर पाएंगे और नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख 16 फरवरी होगी। राज्य में दूसरे चरण का चुनाव तीन मार्च को होगा। राज्य में वोटों की गिनती 10 मार्च को की जाएगी। चुनाव आयोग ने बताया कि मणिपुर में 57 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। वहीं 43% लोगों को दोनों डोज लग चुकी हैं।

मणिपुर में इसबार काफी रोचक चुनावी मुकाबला देखने को मिल सकता है। मणिपुर में विधानसभा का कार्यकाल 19 मार्च 2022 को खत्म हो रहा है। बीते विधानसभा चुनाव यानी 2017 में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। हालांकि राज्य में सरकार भाजपा ने बनाई थी।

2017 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 28 और भाजपा को 21 सीटें मिली थीं। इसके अलावा नेशनल पीपल्स पार्टी और नगा पीपल्स फ्रंट को चार-चार और लोजपा, टीएमसी को एक-एक सीट पर सफलता हासिल हुई थी। उस चुनाव में भाजपा ने नेशनल पीपल्स पार्टी, नगा पीपल्स फ्रंट, लोजपा के अलावा दो अन्य विधायकों के साथ मिलकर सरकार बनाई थी। प्रदेश में मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी भाजपा ने एन बीरेन सिंह को सौंपी थी।


Leave a Reply