Manoj Tiwari Biography: सगीत से शुरू हुआ सफर अभिनेता से नेता कैसे बन गए मनोज तिवारी

0
150

देश की राजनीति में कई ऐसे राजनेता हैं जिनका न तो कोई राजनीतिक परिवार से सम्बन्ध और न ही शुरूआती पेशा राजनीति रहा फिर भी देश की राजनीति में उन्होंने अपनी एक अलग पहचान बनाया है। ऐसे ही नेताओं में एक नाम शामिल है भारतीय जनता पार्टी के नेता मनोज तिवारी। मनोज तिवारी का शुरूआती पेशा राजनीति नहीं बल्कि गायकी रहा उसके बाद अभिनय और फिर राजनीति। इस लेख में  मनोज तिवारी के शुरूआती जीवन से लेकर राजनीतिक सफर के बारे में जानेंगे।

मनोज तिवारी का जीवन परिचय

मनोज तिवारी का जन्म 1 फरवरी 1971 में उत्तर प्रदेश के वाराणसी में हुआ था। मनोज तिवारी के पिता का नाम चंद्रदेव तिवारी है और माता का नाम ललिता देवी है। मनोज  तिवारी ने बनारस के श्री कमलाकर चौबे आदर्श सेवा विद्यालय इंटरमीडिएट कॉलेज से अपनी स्कूली शिक्षा प्राप्त किया। ग्रेजुएट की पढ़ाई मनोज तिवारी ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से पूरी की। मनोज तिवारी ने कला में स्नातक और परास्नातक (MPED) किया है। उन्हें संगीत सुनना और क्रिकेट खेलना बहुत पसंद है। मनोज तिवारी का विवाह 1999 में रानी तिवारी से हुआ। हालांकि मनोज तिवारी ने उन्हें 2012 में तलाक दे दिया था। उसके बाद उन्होंने सुरभि तिवारी से विवाह किया।

सिनेमा जगत में मनोज तिवारी 

मनोज तिवारी ने भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखने से पहले 10 साल तक जाएगी में बिताये हैं। मनोज तिवारी ने 2003 में भोजपुरी फिल्मों में रखा। साल 2003 में मनोज तिवारी (MANOJ TIWARI) ने फिल्म ‘ससुरा बड़ा पैसा वाला’ में अभिनय किया, जो मनोरंजन और कमाई के हिसाब से सफल फिल्म साबित हुई। इस फिल्म के बाद मनोज तिवारी ने  ‘दारोगा बाबू आई लव यू’ और ‘बंधन टूटे ना’ में एक्टिंग की। यहां से मनोज तिवारी के फिल्मी सफर की शुरुआत हो गयी। मनोज तिवारी ने टीवी की दुनिया में भी काम किया। मनोज तिवारी ने टेलीविजन कार्यक्रम ‘चक दे बच्चे’ में काम किया। इसके अलावा सन 2010 में मनोज तिवारी ने रियलिटी शो ‘बिग बॉस’ (BIG BOSS) में हिस्सा लिया। मनोज तिवारी ने अनुराग कश्यप की फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ के लिए एक लोकप्रिय गीत ‘जिया हो बिहार के लाला’ भी गाया, जो काफी फेमस रहा। मनोज तिवारी की कुछ हिट फिल्मों के नाम हैं- ससुरा बड़ा पैसा वाला, दरोगा बाबू आई लव यू, बंधन टूटे ना, कब अइबू अंगनवा हमार, ऐ भऊजी के सिस्टर, औरत खिलौना नहीं, धरती कहे पुकार के।

मनोज तिवारी का राजनीतिक सफर 

मनोज तिवारी ने अभिनेता के बाद नेता के सफर में भी अपनी पहचान बनाई। मनोज तिवारी ने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत 2009 में समाजवादी पार्टी से की। मनोज तिवारी ने 2009 में गोरखपुर लोक सभा सीट से समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ा लेकिन भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार योगी आदित्यनाथ से चुनाव हार गए थे। उसके बाद 2011 में मनोज तिवारी ने बीजेपी का हाथ थाम लिया। 2014 में मनोज ने दिल्ली नार्थ ईस्ट से चुनाव लड़कर  जीत हासिल की। मनोज तिवारी को दिल्ली का बीजेपी अध्यक्ष भी बना दिया गया। 2019 लोकसभा चुनाव में मनोज तिवारी ने कांग्रेस उम्मीदवार और पूर्व सीएम शीला दीक्षित को 3.63 लाख से ज्यादा वोटों से हराया।


Leave a Reply