‘आज़म खान को छोड़ दो, मुसलमान आपके शुक्रगुज़ार होंगे..’, आजम खान की रिहाई के लिए लिखी गयी चिट्ठी

0
32

समाजवादी पार्टी के मुस्लिम नेता आजम खान पर राजनीति लगातार जारी है। जहाँ एक ओर नेताओं का सीतापुर जेल पहुँच कर आजम खान से मिलान जारी है तो वहीं दूसरी तरफ बरेलवी मुसलमानों का मरकज कह जाने वाले बरेली शहर से जेल में बंद आजम खान की रिहाई की अपील की जा रही है। तंजीम उलेमा-ए- इस्लाम के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन रिजवी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव को आजम खान की रिहाई के लिए चिट्ठी लिखी है।

बरेलवी मौलाना ने सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव को लिखी गई चिट्ठी में कहा है कि आजम खान आपके पुराने साथी हैं और उन्होंने समाजवादी पार्टी को बुलंदियों पर खड़ा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस समय वह अपने बुरे हालातों से गुजर रहे हैं, इसलिए प्रधानमंत्री से गुजारिश कर आजम खान की रिहाई के लिए कदम उठाएं। वरना हम समझेंगे मुस्लिमों से किए गए वादे आपके झूठे हैं।azam-khan-politics-akhilesh-yadav-mulayam-singh-yadav-yogi-adityanath-bareillwi-maulana

वहीं, सीएम योगी को भेजी चिट्ठी में मौलाना शाहबुद्दीन रजवी ने कहा है कि समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता आजम खान ढाई साल के जेल में कैद है। आजम खान कई बार MLA, सांसद और यूपी सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। लिहाजा आप से गुजारिश है कि जेल में उनके खाने-पीने और रहने की सही व्यवस्था नहीं है। आजम खान की रिहाई में प्रदेश सरकार कदम बढ़ाएगी तो मुस्लिमों में आपके प्रति सोच में बदलाव दिखाई देगा और हम आपके शुक्रगुजार होंगे।

बता दें, सपा से नाराज बताये जा रहे आजम खान के समर्थक खुल कर अखिलेश यादव के सामने आ गए। उसके बाद AIMIM के प्रवक्ता ने आजम खान को को चिट्ठी लिखकर जेल भेजी। उस चिट्ठी में आजम को सपा छोड़ AIMIM में शामिल होने का आमंत्रण दिया दिया। हाल ही में सपा से नाराज अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव आजम खान से मिलने सीतापुर जेल गए थे। वहीं समाजवादी पार्टी से विधायक रविदास मेहरोत्रा भी सपा ने कुछ नेताओं के साथ आजम खान से मिलने सीतापुर कारागार गए हुए थे। हालांकि ऐसा कहा जा रहा है कि आजम खान ने उनसे मिलने के लिए मना कर दिया था।


Leave a Reply