Home अंदर की बात कभी बसपा में 'ब्राह्मणों' का था राज और मायावती की थी सरकार...

कभी बसपा में ‘ब्राह्मणों’ का था राज और मायावती की थी सरकार ! अब क्यों याद आ रहे परशुराम !


  • मायावती ने जब से ब्राह्मणों से बनाई दूरी, होती गई सत्ता से दूर
  • हर बार के चुनाव में ब्राह्मणों का काटती गई टिकट

संतोष कुमार पाण्डेय | सम्पादक

मायावती उत्तर प्रदेश की चार बार मुख्यमंत्री रहीं. या यूँ कहिये मायावती उत्तर प्रदेश से ही राष्ट्रीय नेता बन गई थी. बसपा राष्ट्रीय दल हो गया था. यह शौभाग्य यूपी के किसी दल को नहीं मिला. उत्तर प्रदेश में कोई भी चुनाव हो बसपा का झंडा बुलंद रहता था. दौर ऐसा था की लोग बसपा ज्वाइन करने को आतुर रहते थे. मगर अब दौर बदल गया है. और मायावती भी अब उसी दौर को याद करती नजर आ रही है. उन्हें भी अब शायद पछतावा है. मगर, शायद अब बाजी इनके हाथ से निकल चुकी है. जानिए मायावती की ब्राह्मण प्रेम की पूरी कहानी.

दिल्ली में वसुंधरा, मानेसर में सचिन और जैसलमेर में पड़ी है सरकार, ‘आनंद’ में अशोक गहलोत !

मायावती ने कहा है कि जब प्रदेश में बसपा की सरकार आएगी तो ब्राह्मणों के देवता परशुराम की मूर्ति बनवाएंगी. उन्होंने इस दौरान समाजवादी पार्टी की मंशा पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि अगर समाजवादी पार्टी को भगवान परशुराम की मूर्ति लगवानी थी तो अपनी सरकार में लगवाते. मगर क्या मायावती की लड़ाई बस सपा से है या बीजेपी से दोस्ती बढने वाली है. क्योंकि ये बयान इसी और इंगित कर रहे हैं. कभी बसपा में 50 से अधिक ब्राह्मण विधायक हुआ करते थे. जो संख्या अब भाजपा में हैं. और बीएसपी के एक या दो ब्राह्मण विधायक बचे है.

अंदर की बात : कलराज, मनोज के बाद लक्ष्मीकांत और नरेश चंद्र अग्रवाल का आयेगा नम्बर 

वर्ष 1995, 1997, 2002 & 2007 में मायावती यूपी की मुख्यमंत्री रही. अब बसपा की स्थिति कमजोर हो चुकी है. एक समय था जब मायावती ने सवर्णों के खिलाफ बयानबाजी करती थी. ‘ तिलक, तराजू और तलवार इनको मारों जूते  चार ‘ बाद में ‘हाथी नही ये गणेश है ‘ इस तरह की बातें मायावती करती थीं. यूपी में कुल 403 विधान सभा सीट है. वर्तमान में भाजपा में 55 ब्राह्मण विधायक हैं. वर्ष 2007 में बसपा ने ब्राह्मणों को सबसे ज्यादा 86 टिकट दिए थे. 2012 में 69 और वर्ष 2017 में 28 ब्राह्मणों को टिकेट दिये गये. और यही से बसपा को बड़ा नुकसान होता गया.

मोदी नहीं योगी के लिए चुनौती बन रहे थे मनोज सिन्हा ! ये हैं पूरी कहानी ?

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में ब्राह्मणों को दूर किया और 2019 में भी यही हाल था. लगातार ब्राह्मणों का टिकट कटता गया और अब मायावती का ब्राह्मण प्रेम जगता जा रहा है. जब बसपा के दिग्गज नेता नेता बृजेश पाठक ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनावों में बसपा ने ब्राह्मण चेहरों को पूछा ही नहीं, जिसका नतीजा हुआ कि पार्टी एक भी सीट नहीं निकाल सकी। इस बार सिर्फ 28 ब्राह्मणों को टिकट दिए गए हैं। उनमें भी 10 ऐसे हैं, जो हारे हुए हैं।

कांग्रेस विधायकों को जैसलमेर किया जायेगा शिफ्ट, चार्टर प्लेन से होंगे रवाना , दो रिसॉर्ट बुक !

बसपा के दिग्गज ब्राह्मण चेहरे हुए दूर

राकेशधर त्रिपाठी ,रंगनाथ मिश्रा, रविन्द्र त्रिपाठी, बृजेश पाठक, उमेश पाण्डेय, रामवीर उपाध्याय, सीमा उपाध्याय, सुभाष पाण्डेय , हरिशंकर तिवारी को चुनाव हराने वाले राजेश त्रिपाठी भी भाजपाई हो चुके है. विनय शंकर, नकुल दुबे, रितेश पाण्डेय और सतीश मिश्रा अभी भी बसपा हैं.

 


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

कांग्रेस ने अनेकों घोटाले कर भारत के हित और साख को गिराया : डॉ. सतीश पूनियां

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भारत को आर्थिक उन्नति के साथ आत्मनिर्भर बना रहे, श्री मोदी के नेतृत्व में भारत विश्व...

गरीबों को न्याय दिलाने सड़क पर उतरे पुष्पेंद्र भारद्वाज, मंत्री से की मुलाकात

न्यू सांगानेर रोड को 200 फीट चौड़ा नहीं करने के लिए दिया ज्ञापन न्यू सांगानेर रोड व्यापार...

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...