NEET JEE MAIN EXAM 2020 : राजस्थान यूथ कांग्रेस ने प्रदेश में किया जोरदार प्रदर्शन

नीट-जेईई एग्जाम (NEET JEE MAIN EXAM 2020) कराए जाने को लेकर राजस्थान में विरोध हो रहा है. इसी कड़ी में राजस्थान प्रदेश युवा कांग्रेस ने प्रदेशाध्यक्ष व् डूंगरपुर विधायक गणेश घोघरा के आह्वान पर प्रदेश के सभी 33 जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन किया.

0
606
जयपुर में प्रदर्शन करते यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता और पदाधिकारी
जयपुर में प्रदर्शन करते यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता और पदाधिकारी

  • प्रदेश के सभी 33 जिला मुख्यालयों पर किया विरोध, कोरोना का लगातार बढ़ रहा मामला
  • कोचिंग सेंटर और इंस्टिट्यूट बंद होने के कारण ज्यादातर छात्रों का सिलेबस पूरा नहीं हो पाया

पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर 

नीट-जेईई एग्जाम (NEET JEE MAIN EXAM 2020) कराए जाने को लेकर राजस्थान में विरोध हो रहा है. इसी कड़ी में राजस्थान प्रदेश युवा कांग्रेस ने प्रदेशाध्यक्ष व् डूंगरपुर विधायक गणेश घोघरा के आह्वान पर प्रदेश के सभी 33 जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन किया.

फडणवीस को क्यों बनाया बिहार चुनाव का प्रभारी !

प्रदेश युवा कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता आयुष भारद्वाज ने बताया कि कोरोना महामारी देश में बढती जा रही है .जहां प्रतिदिन 1000 रोगी आते थे वो अब बढ़कर 70 से 80 हजार प्रतिदिन हो गए हैं। देश में कुल रोगियों की संख्या 33 लाख से ज्यादा हो गई है जिनमें से 7,29,826 एक्टिव केस हैं।

राजस्थान के सभी जिलों में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज

ऐसे में इस परीक्षा के आयोजन से छोटे बच्चों में संक्रमण की आशंका कई गुना बढ़ जाएगी। क्योंकि अलग-अलग क्षेत्रों से आए छात्र एक जगह जमा होंगे और उसके बाद पुनः अपने घर की और प्रस्थान करेंगे। भारद्वाज ने बताया कि देश में प्रति 1000 लोगों पर केवल 30 कारें हैं, जो कि यह जाहिर करता है कि आज भी देश की अधिकतम जनसंख्या पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर निर्भर है। ऐसे में ये छात्र अगर पब्लिक ट्रांसपोर्ट के माध्यम से आएंगे तो इनके कोरोना से ग्रस्त होने का खतरा काफी हद तक बढ़ जाएगा।

पीएम बनते-बनते रह गये थे प्रणब दा ! बना लिए थे अलग दल ! बाद में राष्ट्रपति बने ! बड़ी रोचक है कहानी !

दूसरी तरफ़ लॉकडाउन (LOCKDOWN) के चलते कोचिंग सेंटर और इंस्टिट्यूट बंद होने के कारण ज्यादातर छात्रों का सिलेबस पूरा नहीं हो पाया है। छात्रों से कोचिंग सेंटरों ने लाखों रुपए की फीस ले ली है और अब वे केवल ऑनलाइन क्लासेज दे रहे हैं, मगर देश के ग्रामीण क्षेत्रों में केवल 10 फ़ीसदी घरों में ही कंप्यूटर/ लैपटॉप/ टेबलेट मौजूद हैं।

विपक्ष की आलोचना से परेशान हुए झारखंड के शिक्षामंत्री, 11वीं में लिया एडमिशन, बच्चों के साथ क्लास में पढ़ेंगे

ऐसे में देश की अधिकतर आबादी इंटरनेट या डिजिटल लर्निंग से वंचित है। लिहाज़ा इन वंचित छात्रों की परीक्षा लेने से उनके बीच मानसिक अवसाद बढ़ने की पूरी पूरी संभावना होगी। युवा कांग्रेस यह मानती है कि सभी छात्रों को पढ़ने के और परीक्षा देने के समान अवसर मिलने चाहिए इसको लेकर हम आगे भी आंदोलन करते रहेंगे प्रदेशाध्यक्ष गणेश घोगरा ने बाँसवाड़ा में प्रदर्शन किया। जयपुर (JAIPUR) में यह प्रदर्शन प्रदेश युवा कांग्रेस कार्यालय, बनीपार्क में शहर जिलाध्यक्ष सुनील सिंघानिया और ग्रामीण जिलाध्यक्ष बंशीधर सैनी के नेतृत्व में हुआ।

 

 

 


Leave a Reply