Home अंदर की बात डॉ. कफील की रिहाई में इतना बवाल क्यों ? प्रियंका ने योगी...

डॉ. कफील की रिहाई में इतना बवाल क्यों ? प्रियंका ने योगी को गुरू गोरखनाथ की दिलाई याद


  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को प्रियंका गाँधी ने लेटर लिखा
  • 12 दिसंबर 2019 को दिया विवादित बयान, हुई थी गिरफ्तारी

यज्ञेन्दु पाण्डेय | लखनऊ

उत्तर प्रदेश में इन दिनों डॉ. कफील खान के रिहाई का मामला गरमाता जा रहा है. लेकिन रिहाई नहीं हो रही है. कई बार रह-रह के इस मामले को उठाया जाता रहता है. लेकिन अब कांग्रेस ने इस मुद्दे को उठाया है. कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गाँधी ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेटर लिखकर डॉ. कफील खान के मामले को संज्ञान में लाने की बात की है. आखिर, डॉ कफील खान की रिहाई में इतना विवाद क्यों है ?

जब 25 साल पहले कलराज मिश्र ने राजभवन में दिया था धरना…जानिए पूरी कहानी

प्रियंका का ये है लेटर…

प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश के सीएम को जो पत्र लिखा है. मुख्यमंत्री महोदय, आशा है आप सकुशल हैं. इस पत्र के माध्यम से मैं डॉक्टर कफील खान का मामला आपके संज्ञान में लाना चाहती हूं. वे अब तक लगभग 450 दिन से ज्यादा जेल में गुजार चुके हैं. डॉक्टर कफील ने कठिन परिस्थितियों में नि:स्वार्थ भाव से लोगों की सेवा की है. मुझे उम्मीद है कि आप अपनी संवेदनशीलता का परिचय देते हुए डॉ. कफील को न्याय दिलाने का पूरा प्रयास करेंगे. मुझे आशा है कि आप गुरु गोरखनाथ जी की यह सबदी आपको मेरे इस निवेदन को मानने के लिए प्रेरित करेगी

priynaka gandhi ka letter

मन में रहिणा, भेद न कहिणा. बोलिबा अमृतवाणी | अगिला अगनी होईबा, हे अवधू तौ आपण होईबा पाणी|

(किसी से भेद न करो, मीठी वाणी बोलो | यदि सामने वाला आग बनकर जरा रहा है तो हे योगी तुम पानी बनकर उसे शांत करो ) |

यह पत्र प्रियंका गाँधी ने लिखा है और यूपी के सीएम को याद भी दिलाया है. सवाल यही है कि कफील की रिहाई कब होगी. आखिर, बड़ा इस मुद्दे को क्यों बनाया जा रहा है.

राजस्थान में सचिन कैसे अपने ही खेल में ‘हिट विकेट ‘ हो गये ! ये है असल कहानी

यह था मामला…

कफील खान ने पुलिस में दर्ज एफआईआर के मुताबिक कहा था कि ‘मोटा भाई’ हर किसी को हिंदू या मुस्लिम बनना सिखा रहा है, लेकिन एक इंसान नहीं. आरएसएस के अस्तित्व में आने के बाद से वह संविधान में विश्वास नहीं करता. सीएए मुसलमानों को दूसरी श्रेणी का नागरिक बनाता है और बाद में उन्हें एनआरसी के कार्यान्वयन के साथ परेशान किया जाएगा. उत्तर प्रदेश पुलिस की एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) ने मुंबई से बुधवार को डॉ. कफील को गिरफ्तार कर लिया है. एसटीएफ अधिकारियों के मुताबिक काफिल खान ने 12 दिसंबर 2019 को राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ पर कीचड़ उछालने संबंधित भड़काऊ भाषण भी दिया था.


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...

YOUTH कांग्रेस कमेटी का विस्तार, आयुष भारद्वाज बने पहले संगठन महासचिव

युवा कांग्रेस की प्रदेश कार्यकारिणी का किया गया विस्तार राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी की अनुमति से हुआ...

“जन सहायता दिवस” के रूप में मनाया गया राहुल गाँधी का जन्मदिन

राजस्थान के सभी 33 जिलों में रक्तदान शिविर एवं राशन किट वितरण कार्यक्रम 1500 यूनिट रक्त एकत्रित...