राजस्थान के CM अशोक गहलोत ने पीएम से की विशेष ट्रेन चलाने की मांग

बुधवार को गृह मंत्रालय ने जैसे ही एक राहत दिया कि चारों तरफ अफरतफरी मच गई. सभी राज्य सरकारें अपनी अपनी बातें करने लगी. ऐसे में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ी मांग कर दी है. उन्होंने पीएम से यह मांग रखी है कि विशेष ट्रेन चलाई जाय.

0
686
TRAIN
TRAIN

  • अप्रवासी मजदूरों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए किया आग्रह
  • आने वाले दिनों में जान के लिए अधिक संख्या में श्रमिक अपना पंजीयन करा सकते हैं

बुधवार को गृह मंत्रालय ने जैसे ही एक राहत दिया कि चारों तरफ अफरतफरी मच गई. सभी राज्य सरकारें अपनी अपनी बातें करने लगी. ऐसे में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (rajasthan cm ashok gehlot) ने बड़ी मांग कर दी है. उन्होंने पीएम से यह मांग रखी है कि विशेष ट्रेन चलाई जाय. राजस्थान के सीएम का यह ट्वीट है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा श्रमिकों एवं प्रवासियों के अन्तराज्यीय आवागमन के संबंध में बुधवार को जारी किए गए आदेश का स्वागत किया है। आने वाले समय में और भी श्रमिक अपना पंजीयन करा सकते हैं। ऐसे में कामगारों की इतनी बड़ी संख्या तथा लंबी दूरी को देखते हुए विशेष ट्रेनों का संचालन किया जाना कामगारों के सुरक्षित घर लौटने का व्यावहारिक समाधान होगा। प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि इन लाखों प्रवासियों एवं श्रमिकों के सुरक्षित आवागमन के लिए भारत सरकार को बिना किसी देरी के विशेष ट्रेनों का संचालन प्रारंभ करना चाहिए।’ 

कितना होगा अमल ?

ये बातें कई दिनों से समय समय पर निकल कर सामने आ रही थी. मगर अब यह आदेश जब गृह मंत्रालय ने निकाल दिया है तो राजस्थान के मुख्यमंत्री ने अपना सुझाव भी पीएम को बता दिया है. देखने वाली बात होगी क्या इस पर अमल होगा या नहीं.

यह निकला है नियम

अलग अलग राज्यों मे फंसे मजदूर, छात्र, तीर्थयात्री, पर्यटक सड़क मार्ग से अपने घर लौट सकते हैं। लेकिन इसके लिए राज्यों के बीच आपसी सहमति होनी चाहिए और नोडल अधिकारी के जरिए ऐसे यात्रियों और समूहों को एक राज्य से भेजा जाएगा और दूसरे राज्य में उन्हें प्रवेश दिया जाएगा। इसके तहत वापसी के दौरान दो जगह पर स्क्रीनिंग की प्रक्रिया से गुजरना होगा और 14 दिन क्वारंटीन में भी रहना होगा।


Leave a Reply