कांग्रेस विधायकों को जैसलमेर किया जायेगा शिफ्ट, चार्टर प्लेन से होंगे रवाना , दो रिसॉर्ट बुक !

राजस्थान की राजनीति में रोज नए-नए मोड़ सामने आ रहे हैं. अब विधायकों को लेकर नई जानकारी सामने आ रही है. विश्वस्त सूत्र का कहना है कि गुरूवार को कांग्रेस के विधायकों को राजस्थान के जैसलमेर में शिफ्ट किया जायेगा। वहां पर दो रिसॉर्ट बुक करा दिए गये हैं. इसकी दलील दी जा रही है कि इन विधायकों को राजस्थान की संस्कृति दिखाई जाएगी।

0
685
जयपुर के फेयरमाउंट होटल में बैठे हुए कांग्रेस के विधायक !
जयपुर के फेयरमाउंट होटल में बैठे हुए कांग्रेस के विधायक !

  • जैलसमेर में राजस्थान की संस्कृति दिखाने की हो रही बात
  • 14 अगस्त को शुरू होगा राजस्थान विधान सभा का सत्र

संतोष कुमार पाण्डेय | सम्पादक

राजस्थान की राजनीति में रोज नए-नए मोड़ सामने आ रहे हैं. अब विधायकों को लेकर नई जानकारी सामने आ रही है. विश्वस्त सूत्र का कहना है कि गुरूवार को कांग्रेस के विधायकों को राजस्थान के जैसलमेर में शिफ्ट किया जायेगा। वहां पर दो रिसॉर्ट बुक करा दिए गये हैं. इसकी दलील दी जा रही है कि इन विधायकों को राजस्थान की संस्कृति दिखाई जाएगी। इन्हें जयपुर से दो चार्टर प्लेन से रवाना किया जायेगा। सूत्र यह भी बता रहे हैं कि यह सब 14 अगस्त तक चलेगा। गौरतलब है कि अभी ये सभी विधायक जयपुर के होटल फेयरमाउंट में हैं.

सरकार के पास बहुमत होता तो होटल में तमाशा नहीं होता : सतीश पूनियां

जयपुर में विधायक दल की बैठक होगी उसके बाद उन्हें प्लेन से जैसलमेर ले जाया जाएगा। जहां पर उन्हें 14 दिन तक रखा जाएगा। उसके बाद उन्हें जयपुर ले जाया जाएगा। बताया जा रहा है कि विधायक यहाँ जयपुर में बोरियत महसूस कर रहे हैं. दरअसल, जयपुर से जैसलमेर की दूरी 650 किमी है. और जैसलमेर से दिल्ली की दूरी 750 किमी है. ऐसे में विधायकों के लिए शेफ्टी मानी जा रही है. और सरकार भी सकून की सांस ले सकती है.

RAJASTHAN की इस लोकसभा और विधानसभा सीट पर 31 साल से मां और बेटे का कब्जा

कुछ दिन पहले सचिन पायलट ने कांग्रेस के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द डॉटासरा को बधाई दी थी. राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष का पदभार ग्रहण करने पर बधाई। मुझे उम्मीद है की आप बिना किसी दबाव या पक्षपात के उन कार्यकर्ताओं जिनकी की मेहनत से सरकार बनी है, उनका पूरा मान-सम्मान रखेंगे।

जब 25 साल पहले कलराज मिश्र ने राजभवन में दिया था धरना…जानिए पूरी कहानी

गोविन्द डॉटासरा ने इस तरह से सचिन का जवाब दिया था. बहुत बहुत धन्यवाद सचिन जी। मुझे भी उम्मीद है कि आप भाजपा और खट्टर सरकार की मेहमानवाज़ी छोड़कर उन सभी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं जिनकी मेहनत से सरकार बनी है, उनके मान-सम्मान को बरक़रार रखने के लिए जयपुर आकर कांग्रेस सरकार के साथ खड़े होंगे ।

 


Leave a Reply