गांव एवं शहरों से जुड़े कलम के सिपाहियों को आगे लाना है : अनिल सक्सेना

डॉ चंद्रभान सिंह रहे, जिन्होंने स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता पर जोर देते हुए कहा कि समय के साथ–साथ हर क्षेत्र में बदलाव हुआ है और होना भी चाहिए इसलिए मीडिया भी इससे अछूता नहीं है।

0
52
rajasthan media action forum
पिंकसिटी प्रेस क्लब ऑडिटोरियम में मुंशी प्रेमचंद की स्मृति में सम्मान समारोह में सम्मानित होते प्रतिभागी।

  • राजस्थान मीडिया एक्शन फोरम का “मीडिया का बदलता परिवेश” पर परिचर्चा 
  • जयपुर के पिंकसिटी प्रेस क्लब के ऑडिटोरियम में सम्मान समारोह आयोजित

पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर

राजस्थान मीडिया एक्शन फोरम (rajasthan media action forum) की तरफ से रविवार को राजधानी के पिंकसिटी प्रेस क्लब ऑडिटोरियम (pink city press club jaipur) में मुंशी प्रेमचंद (munshi premchand) की स्मृति में “मीडिया का बदलता परिवेश” पर परिचर्चा और सम्मान समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं बीसूका के उपाध्यक्ष डॉ चंद्रभान सिंह रहे, जिन्होंने स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता पर जोर देते हुए कहा कि समय के साथ–साथ हर क्षेत्र में बदलाव हुआ है और होना भी चाहिए इसलिए मीडिया भी इससे अछूता नहीं है।

उन्होंने कहा कि पहले की पत्रकारिता सरकार बनाने और गिराने में अपनी अहम भूमिका निभाती थी जबकि अब ऐसा देखने को नहीं मिलता क्योंकि अब सरकार बनाने और गिराने के लिए जब विधायक और मंत्री तक बिक जाते हैं तो अपना परिवार चलाने के लिए पत्रकारों को भी कई बार अपनी खबरों के साथ समझौता करना पड़ता है। डॉ चंद्रभान ने अपने पुराने अनुभवों को साझा करते हुए राजनीतिक संघर्ष के बारे में भी बताया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए वरिष्ठ पत्रकार राजेंद्र बोड़ा ने कहा कि समय के साथ हर चीज में बदलाव आता रहता है इसलिए मीडिया का परिवेश भी पहले से बहुत हद तक अब बदल चुका है। इसका मुख्य कारण आज के दौर की नई तकनीकें हैं, जिनका इस्तेमाल करना पत्रकार और पत्रकारिता के लिए बहुत जरूरी है। इनसे पहले कार्यक्रम के स्वागत उद्बोधन में राजस्थान मीडिया एक्शन फोरम के संस्थापक अध्यक्ष अनिल सक्सेना ने अपने मन की बात रखते हुए कहा कि फोरम का मुख्य उद्देश्य युवा पत्रकारों छोटे–छोटे गांव एवं शहरों से जुड़े कलम के सिपाहियों को आगे लाना है।

उन्होंने कहा कि उनके गुरु स्व. वीर सक्सेना से मिली सीख की बदौलत उन्होंने वर्ष 2011 में फोरम की शुरुआत की थी और अभी तक राजस्थान राज्य के कई शहरों में फोरम के कार्यक्रम कराएं जा चुके हैं। उन्होंने इस सोच व उद्देश्य के साथ कार्यक्रम कराएं हैं कि आने वाले समय में पत्रकारिता जगत से जुड़ा युवा सकारात्मक मानसिकता के साथ जनहित में अपनी कलम की धार को चलाए। वहीं कार्यक्रम की रूपरेखा का प्रारम्भिक परिचय देते हुए विनोद भारद्वाज ने कहा कि पहले की पत्रकारिता और अब की पत्रकारिता में बहुत से उतार–चढ़ाव आए हैं और आज हर कोई व्यक्ति खुद में एक पत्रकार है। साथ ही स्वतंत्रता की अभिव्यक्ति हर एक नागरिक को मिली हुई है। चाहे वो सोशल मीडिया के जरिए ही क्यों न हो बस निर्भर यह करता है कि आप उसका सदउपयोग कर रहे हैं या दुरुपयोग। उन्होंने कहा कि आज हर गली महोल्ले या गांव कस्बे की समस्या का निवारण इंसान स्वयं कर सकता है।

कार्यक्रम के विशिष्ट अथितियों में उपस्थित सीएम के ओएसडी फारुख अफरीदी ने कहा कि आज के युग में कॉर्पोरेट सेक्टर का पत्रकारिता में सहभागिता होने की वजह से पत्रकारिता से आमजन का विश्वास उठने लगा है। साहित्यकार लोकेश कुमार साहिल ने कहा कि आज जो कुछ भी अच्छा हो रहा है, वह भारत के आजादी से किए हुए अच्छे कार्यों का ही नतीजा है। लेखक कृष्ण कल्पित ने कहा कि आजकल अवसरवादी नेता भी उसी महापुरुष को पूछते हैं, जो उन्हें वोट दिला सकते हैं। आज के अखबारों में और पत्रकारिता में संपादक की भूमिका बिल्कुल समाप्त हो गई है। साथ ही वर्तमान में साहित्य ने भी पत्रकारिता से दूरी बना ली है। सोशल मीडिया के द्वारा आजकल सब कुछ हो रहा है और प्रिंट मीडिया अपनी विश्वसनीयता खोता जा रहा है।

हरिराम मीणा ने विश्व पटल पर भारत देश के आंकड़े बताते हुए कहा कि भुखमरी, बेरोजगारी, प्रदूषण, आर्थिक नीति व अपराध की श्रेणी में भारत किसी से पीछे नहीं है, जबकि किसी भी प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया द्वारा इन विषयों पर कोई भी चर्चा नहीं की जाती। पिंकसिटी प्रेस क्लब के अध्यक्ष मुकेश मीणा ने कहा कि समय-समय पर पत्रकारिता में परिवर्तन होता आया है। कोरोना काल में भी देखा गया कि डिजिटल मीडिया के माध्यम से ही पत्रकारिता ज्यादा हावी रही। इस कार्यक्रम के जरिए उन्होंने पत्रकारों के साथ ही साहित्यकारों के लिए भी सरकारी सुविधाओं की मांग की।

कार्यक्रम में राजस्थान मीडिया एक्शन फोरम से जुड़े उल्लेखनीय कार्य करने वालों को कार्यक्रम के दौरान सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वालों में विनोद भारद्वाज (जयपुर), जगदीश शर्मा (जयपुर), फारूक आफरीदी (जयपुर), अशोक राही (जयपुर), पुरषोत्तम सैनी (जयपुर), राधारमन शर्मा (जयपुर), अशोक लोढ़ा (नसीराबाद), गिरीश पालीवाल (प्रतापगढ़), हेमन्त साहु ( ब्यावर), गिरीश पालीवाल (प्रतापगढ़), मोरध्वज सिंह (भरतपुर), आशा पाण्डेय (उदयपुर), वीरू कुमार (अलवर), शिवानी शर्मा (जयपुर ), संदीप माली (प्रतापगढ़), हेमन्त सालवी (धरियावद), अमित चेचानी (चित्तौड़गढ़), मनोज सोनी (निम्बाहेड़ा), रहीस अहमद (जोधपुर) और नेट थियेटर सहित अन्य प्रतिभाओं का सम्मान किया गया। कार्यक्रम के अंत में वरिष्ठ पत्रकार राधारमण शर्मा ने आभार व्यक्त किया। पिंक सिटी प्रेस क्लब की ओर से अध्यक्ष मुकेश मीणा औऱ कार्यकारिणी सदस्यों ने फोरम के अध्यक्ष अनिल सक्सेना का सम्मान किया। मंच संचालन सूर्या प्रकाश उपाध्याय ने किया ।


Leave a Reply