राजस्थान का रण : राजे आगे, सचिन हुए पीछे और पूरे जोश में अशोक गहलोत

राजस्थान में राजनीतिक पारा चढ़ता जा रहा था. सभी की अपनी ढफली-अपनी राग चल रही है. इसी बीच 33 दिन बाद पायलट राजस्थान लौट आते है. सब कुछ सामान्य हो चुका है. लेकिन विधान सभा का सत्र 14 से शुरू होगा और 13 अगस्त को जयपुर में खूब राजनीतिक माहौल गर्म रहा. राजभवन से मुख्यमंत्री हाउस तक चहल पहल बढ़ी हुई थी. आइये जानते हैं पूरी कहानी.

0
737
वसुंधरा-राजे-सिंधिया
वसुंधरा-राजे-सिंधिया, पूर्व मुख्यमंत्री, राजस्थान.

  • भाजपा कार्यालय जयपुर की बैठक में पहुँचीं वसुंधरा राजे 
  • सचिन पायलट और अशोक गहलोत ने मिलाया हाथ

संतोष कुमार पाण्डेय | सम्पादक

राजस्थान में राजनीतिक पारा चढ़ता जा रहा था. सभी की अपनी ढफली-अपनी राग चल रही थी. इसी बीच 33 दिन के बाद पायलट राजस्थान लौट आते है. सब कुछ सामान्य हो चुका है. लेकिन विधान सभा का सत्र 14 से शुरू होगा और 13 अगस्त को जयपुर में खूब राजनीतिक माहौल गर्म रहा. राजभवन से मुख्यमंत्री हाउस तक चहल पहल बढ़ी हुई थी. आइये जानते हैं पूरी कहानी.

चुनावी किस्से : कृष्णानन्द राय, अफजाल और मनोज सिन्हा की बड़ी दिलचस्प है चुनावी कहानी !

वसुंधरा राजे…हुईं एक्टिव

राजस्थान में वसुंधरा राजे को लेकर कई बातें सामने आ रही थीं . मगर वसुंधरा भाजपा कार्यालय पहुंची. और राज्यपाल से भी उन्होंने मुलाकात किया है. उन्होंने ट्वीट किया कि राजस्थान में कल से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र से पूर्व आज भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित हुई विधायक दल की बैठक में हिस्सा लिया। इस दौरान प्रदेश के मौजूदा हालातों पर चर्चा की तथा सत्र की तैयारियों को लेकर विचार-विमर्श किया। मगर सूत्रों का कहना है दिल्ली में राजे को सकारात्मक जवाब नहीं मिल सका या उन्हें एक्टिव रहने को भी बोला गया है.

पीएम बनते-बनते रह गये थे प्रणब दा ! बना लिए थे अलग दल ! बाद में राष्ट्रपति बने ! बड़ी रोचक है कहानी !

वहीँ सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुख्यमंत्री आवास पर मुलाकात किया है. सब कुछ सामान्य बताया जा रहा है. और अशोक गहलोत के चेहरे पर ख़ुशी है. उन्होंने ख़ुशी जाहिर की है. सचिन पायलट बिलकुल पीछे हो गए है. १४ अगस्त को विधान सभा का सत्र शुरू हो रहा है.

सचिन पायलट ने ट्वीट किया है कि आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत , संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल , प्रभारी अविनाश पांडे , प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सहित साथी विधायकों के साथ विधायक दल की बैठक में हिस्सा लिया. राजस्थान की जनता के हित और किए गए वादों के अनुरूप कार्य करने के लिए हम दृढ़ संकल्पित है।

विपक्ष की आलोचना से परेशान हुए झारखंड के शिक्षामंत्री, 11वीं में लिया एडमिशन, बच्चों के साथ क्लास में पढ़ेंगे

 


Leave a Reply