Home चुनाव उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय पशु एवं डेयरी विकास परिषद : 15 मई से किसानों को...

राष्ट्रीय पशु एवं डेयरी विकास परिषद : 15 मई से किसानों को निःशुल्क प्रशिक्षण देगा परिषद, करना होगा ऑनलाइन आवेदन


गोरखपुर. राष्ट्रीय पशु एवं डेयरी विकास परिषद कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बाद प्रदेश के तमाम जिलों के किसानों को निःशुल्क प्रशिक्षण देकर स्वालम्बी बनाने का मसौदा बना रहा है। परिषद लॉकडाउन खत्म होने के बाद 15 मई 2020 से युवा किसानों से ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित कर रजिस्ट्रेशन शुरू करने जा रहा है। परिषद रजिस्टर्ड युवा किसानों को 6 माह का निःशुल्क प्रशिक्षण देकर स्वालम्बी व कुशल बनाएगा. उसके बाद इन प्रशिक्षित किसानों को इनके ग्रामपंचायत स्तर से लेकर जनपद स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराएगा जिसके लिए परिषद अपना मसौदा बना रहा है।

पालघर : मारने वालों में 9 बच्चे भी शामिल, कुल 110 लोग हिरासत में, गृह मंत्री ने बताया था 101 !

किसानों को मिलेगा 6 माह का निःशुल्क प्रशिक्षण ….

बताते चले कि राष्ट्रीय पशु एवं डेयरी विकास परिषद युवा किसानों को कृत्रिम गर्भाधान कार्य प्रबंधन, पशुधन प्रबंधन और डेयरी प्रबंधन में निःशुल्क प्रशिक्षण देकर कुशलता हासिल कराएगा। यह प्रशिक्षण कुल 6 माह का होगा। इसके उपरांत इन प्रशिक्षित किसानों को इनके जनपद में ही ग्रामपंचायत से लेकर ब्लॉक स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराएगा।

पालघर : 101 लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में, गृह मंत्री ने दिए जाँच के आदेश

परिषद द्वारा यूनिट लगाकर प्रशिक्षण केंद्रों के माध्यम से कुशल किसानों की फौज तैयार करेगा। जिसके लिए परिषद ने योजनाओं को अमली जामा पहनाने की तैयारी शुरू कर दी है। राष्ट्रीय पशु एवं डेयरी विकास परिषद का मुख्य उद्देश्य पशुपालन एवं डेयरी के माध्यम से किसानों की आय दोगुना कर इनकी किस्मत चमकाना है। एक साथ पूरे देश मे पशुपालन और डेयरी विकास से संबंधित कार्यक्रम को चलाने के लिए परिषद द्वारा योग्य किसानों से ऑनलाइन आवेदन मांगा जाएगा। जो प्रशिक्षण के बाद डेयरी और पशुपालन के क्षेत्र में तैयार होंगे

किसानों की आय बढ़ाने पर होगा जोर…

परिषद का मुख्य उद्देश्य किसानों को व्यवसायिक कृषि से जोड़कर आय को बढ़ाने पर है। जिससे किसान खुशहाल और सम्मानजनक जिंदगी जी सके। इसी लिए किसानों को पशुपालन और डेयरी से जोड़कर परिषद देश के किसानों की आय को बढ़ाने पर जोर दे रहा है। राष्ट्रीय पशु एवं डेयरी विकास परिषद उन प्रशिक्षित किसानों को वित्तीय संस्थाओं के माध्यम से आर्थिक सहयोग भी प्रदान कराएगा, ताकि किसान आसानी से पशुओ की खरीदारी कर डेयरी को शुरू कर सके। इसके लिए परिषद किसानों को सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का भी लाभ उपलब्ध कराएगा।

पालघर : जूना अखाड़े ने CM योगी से लगाई न्याय की गुहार, शिवसेना के हैं MP और MLA , नहीं आया बयान !

जहां परिषद किसानों को आर्थिक मजबूती के लिए पहल कर रहा है, वहीं हजारो बेरोजगारों को संस्थान से जोड़कर रोजगार भी मुहैया करा रहा है। ऐसे में देखना है कि परिषद की मुहिम जमीनी रूप से कितना कारगर होती है. लॉकडाउन के चलते अपने गृह्मण्डल गोरखपुर आये परिषद के अध्यक्ष वशिष्ट तिवारी से जब इन योजनाओं और कार्यक्रमो को लेकर बात की गई तो इनका कहना है कि इस वैश्विक महामारी कोरोना के चलते देश प्रदेश के किसानों की हालत बद से बदतर हो गई है। अगर किसानों को रोजगार और कुशल प्रशिक्षण उपलब्ध नही होगा तो स्थिति और भयावह हो जाएगी। इस लिए परिषद किसानों के हित को देखते हुए एक निःशुल्क प्रशिक्षण का कार्यक्रम बना रहा है जहां किसानों को कुशल प्रशिक्षण और प्रबंधन की जानकारी देकर स्वावलंबी बनाया जाएगा।

यूपी के CM YOGI ने 20 अप्रैल से यूपी की स्वास्थ्य व्यवस्था, शिक्षा और कृषि पर लिया बड़ा निर्णय


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

कांग्रेस ने अनेकों घोटाले कर भारत के हित और साख को गिराया : डॉ. सतीश पूनियां

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भारत को आर्थिक उन्नति के साथ आत्मनिर्भर बना रहे, श्री मोदी के नेतृत्व में भारत विश्व...

गरीबों को न्याय दिलाने सड़क पर उतरे पुष्पेंद्र भारद्वाज, मंत्री से की मुलाकात

न्यू सांगानेर रोड को 200 फीट चौड़ा नहीं करने के लिए दिया ज्ञापन न्यू सांगानेर रोड व्यापार...

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...