LOCKDOWN : महिला सिपाहियों ने शादी की डेट टाल दी मगर ड्यूटी से नहीं हटेंगी

उन्होंने अपनी ड्यूटी को प्राथमिकता दिया है. उन्होंने इसे अपनी ड्यूटी मानी है. ये दोनों उत्तरप्रदेश के पीलीभीत जिले में 112 सेवा में सिपाही के पद पर कार्यरत हैं. जिनका नाम शीतल और सुमन है. 

1
748
पीलीभीत एसपी में साथ महिला सिपाही
पीलीभीत में यूपी 112 में तैनात दो महिला पुलिसकर्मियों ने अपनी शादी की तारीख टाल दी है।

कोरोना वायरस (CORONA VIRUS) की वजह से पूरी दुनिया में असर है. भारत में भी लॉकडाउन का बड़ा असर है. मगर इन्डिया में सभी इसका साथ दे रहे हैं. जो जहाँ है वो कंधे से कंधा मिलाकर अपने कार्य को कर रहा है. आइये इसी तरह की दो सिपाही है जो अपनी शादी तक आगे के लिए टाल दी है. उन्होंने अपनी ड्यूटी को प्राथमिकता दिया है. उन्होंने इसे अपनी ड्यूटी मानी है. ये दोनों उत्तरप्रदेश के पीलीभीत जिले में 112 सेवा में सिपाही के पद पर कार्यरत हैं. जिनका नाम शीतल और सुमन है. 

महिला सिपाहियों के जज्बे से विभाग के दूसरे लोगों को भी प्रेरणा मिलेगी

पीलीभीत के एसपी अभिषेक दीक्षित का कहना है कि महिला सिपाहियों के जज्बे से विभाग के दूसरे लोगों को भी प्रेरणा मिलेगी। कोरोना से जंग लड़ने के लिए चिकित्सकों के साथ ही पुलिसकर्मी भी दिन-रात ड्यूटी दे रहे हैं। डॉक्टर जहां अस्पतालों में कोरोना से जंग लड़ रहे हैं वहीं पुलिसकर्मी कानून व्यवस्था न बिगड़े और लॉक डाउन के दौरान लोगों को कोई दिक्कत न हो इसका भी ध्यान रख रहे हैं।

फर्ज के खातिर पीलीभीत में यूपी 112 में तैनात दो महिला पुलिसकर्मियों ने अपनी शादी की तारीख टाल दी है। कांस्टेबल सुमन यादव और शीतल चौधरी की शादी तय हो चुकी है और शादी की तारीख भी तय है लेकिन ड्यूटी में व्यस्तता के कारण दोनों ने फिलहाल शादी की तारीख टालने का फैसला लिया है।

कांग्रेस की इस फायरब्रांड नेत्री से आखिर क्यों भीड़ गया MODI का यह विश्वविजेता पहलवान

सरकार तेजी से कर रही है काम 

वहीँ सीएम (YOGI ADITYNATH) ने कहा कि-प्रदेश में 24 मेडिकल काॅलेज हैं। 10 में हमारे पास पहले से ही टेस्टिंग लैब्स हैं, इनके अपग्रेडेशन की कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। उनके साथ ही साथ 14 मेडिकल काॅलेज ऐसे हैं जहां पर कोविड-19 की टेस्टिंग की कोई फैसिलिटी अभी तक नहीं है. हम लोगों ने तय किया है कि प्रदेश के सभी मंडलीय मुख्यालयों के डिस्ट्रिक्ट हाॅस्पिटल्स में कोरोना टेस्टिंग लैब्स की स्थापना करेंगे। इस कार्रवाई को तेजी के साथ आगे बढ़ाने के लिए प्रमुख सचिव, चिकित्सा, शिक्षा के नेतृत्व में एक कमिटी का गठन किया गया है.


1 COMMENT

Leave a Reply