Home अंदर की बात यूपी में सत्ता का सेमीफाइनल : सात विधानसभा सीटों पर उपचुनाव, 5...

यूपी में सत्ता का सेमीफाइनल : सात विधानसभा सीटों पर उपचुनाव, 5 सीटें भाजपा और बाकी 2 सपा की


  • विधान सभा चुनाव पर पड़ेगा इसका बड़ा असर, योगी के लिए चुनौती है बड़ी
  • योगी के दो कैबिनेट मंत्री का हो चुका है निधन, सबकी नजरें टिकीं

संतोष कुमार पाण्डेय | सम्पादक

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार के सामने सत्ता का सेमिफाइनल वाली स्थिति बन गई है. यूपी में विधानसभा का चुनाव 2022 में होना है लेकिन उसके पहले यूपी में सात विधान सभा की सीटें खाली हो गई है. उनमें से 5 भाजपा और दो सपा की हैं. इन सीटों के चुनाव परिणाम के बाद स्थिति साफ़ होगी. जानिए पूरी कहानी.

लॉकडाउन-4 के लिए 18 मई के पहले पूरी जानकारी दी जाएगी : पीएम मोदी

देवरिया की सदर विधानसभा सीट

देवरिया सदर से दो बार के भाजपा विधायक जनमेजय सिंह का लखनऊ में निधन हो गया. जनमेजय सिंह देवरिया से भाजपा से विधायक हैं.वर्ष 2012 में बसपा प्रत्याशी प्रमोद सिंह को हराकर विधायक बने थे. इसके बाद 2017 में उन्होंने सपा के उम्मीदवार जेपी जायसवाल को बड़े अंतर से मात देकर अपनी राजनीतिक ताकत का एहसास कराया था.

बड़ी पहल : केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPF) की कैंटीनों पर अब सिर्फ स्वदेशी उत्पादों की ही बिक्री होगी : अमित शाह

कानपुर की घाटमपुर सीट

कानपुर शहर की घाटमपुर विधानसभा सीट से भाजपा विधायक कमल रानी योगी की सरकार में कैबिनेट मंत्री थी. जिनका पिछले दिनों कोरोना की वजह से निधन हो गया. ये सांसद भी रह चुकी हैं. वर्ष 2017 के विधान सभा चुनाव में इन्होने 45,178 वोट से जीत दर्ज किया था. बसपा की सरोज कुरिल को 47,598 वोट मिला था. पहली बार इस सीट पर भाजपा को जीत मिली थी.

LIVE UPDATE : 20 लाख करोड़ रुपए का आर्थिक पॅकेज की घोषणा : पीएम नरेंद्र मोदी

जौनपुर की मल्हनी सीट

जौनपुर जिले की मल्हनी विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव होना है. सपा के टिकट पर पारसनाथ यादव ने वर्ष 2017 में यहाँ से चुनाव जीता था. जिनका पिछले दिनों निधन हो गया. उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी जाग्रति सिंह को 30 हजार से अधिक वोटों से हरा दिया था. पारसनाथ यादव यूपी के दिग्गज नेता रहे. कई बार कैबिनेट मंत्री और दो बार जौनपुर के सांसद भी रहे.

भाजपा ने देवेंद्र फडणवीस को क्यों बनाया बिहार चुनाव का प्रभारी !

बुलंदशहर की सदर सीट

बुलंदशहर की सदर विधानसभा सीट खाली है. यहाँ भी उपचुनाव होना है. वर्ष 2017 में इस सीट से भाजपा ने जीत दर्ज की थी. मगर पिछले दिनों वीरेंद्र सिंह सिरोही का निधन हो गया है. सिरोही ने बीएसपी प्रत्याशी हाजी अलीम को 22919 वोटो से हराया था. वीरेन्द्र सिंह सिरोही को कुल 111067 वोट मिला था. हाजी अलीम को 88148 वोट मिला. इस सीट पर भी उपचुनाव होगा.

पीएम बनते-बनते रह गये थे प्रणब दा ! बना लिए थे अलग दल ! बाद में राष्ट्रपति बने ! बड़ी रोचक है कहानी !

उन्नाव की बांगरमऊ

उत्तर प्रदेश में चर्चित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की बांगरमऊ सीट खाली हो गई है. इस सीट पर भी उपचुनाव होना है. सामूहिक दुष्कर्म मामले में दोषी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दिल्ली की अदालत ने 20 दिसंबर 2019 को उम्रकैद की सजा सुनाई थी, जिसके चलते उनकी सदस्यता रद्द हुई है. कुलदीप सिंह ने वर्ष 2017 में भाजपा से चुनाव जीता. चौथी बार विधायक बने. इसके पहले सपा और बसपा से भी विधायक बन चुके हैं .

विपक्ष की आलोचना से परेशान हुए झारखंड के शिक्षामंत्री, 11वीं में लिया एडमिशन, बच्चों के साथ क्लास में पढ़ेंगे

रामपुर की स्वार टांडा

रामपुर जिले की स्वार टांडा विधान सभा सीट से सपा से चुनाव जीतने वाले अब्दुल्ला आजम की विधानसभा सदस्यता रद्द हो गई है. जो दिग्गज नेता और रामपुर के सांसद आजम खान के बेटे हैं. इस सीट पर उपचुनाव होगा. यहाँ वर्ष 2017 में अब्दुल्ला को तब 106268 वोट मिले थे और भाजपा की लक्ष्मी सैनी को 53169 मत प्राप्त हुए थे। इस तरह अब्दुल्ला ने इस चुनाव में 53099 वोटों से जीत लिया था. चुनाव के दौरान गलत दस्तावेज देने के चलते हाईकोर्ट ने 16 दिसंबर 2019 को अब्दुल्ला आजम के निर्वाचन को रद्द किया और विधानसभा से उनकी सदस्यता रद्द की गई.

कभी बसपा में ‘ब्राह्मणों’ का था राज और मायावती की थी सरकार ! अब क्यों याद आ रहे परशुराम !

अमरोहा की नौगाँवा सादात

अमरोहा जिले की नौगाँवा सादात विधान सभा सीट से भाजपा विधायक चेतन चौहान का निधन हो गया. चौहान ने वर्ष 2017 में सपा के जावेद अब्बास को 20,648 वोट से हरा दिया था .चेतन चौहान को कुल 97,030 वोट मिला था. चेतन योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री थे. पिछले दिनों उनका निधन हो गया. इस लिए यह सीट खाली हो गई.


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...

YOUTH कांग्रेस कमेटी का विस्तार, आयुष भारद्वाज बने पहले संगठन महासचिव

युवा कांग्रेस की प्रदेश कार्यकारिणी का किया गया विस्तार राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी की अनुमति से हुआ...

“जन सहायता दिवस” के रूप में मनाया गया राहुल गाँधी का जन्मदिन

राजस्थान के सभी 33 जिलों में रक्तदान शिविर एवं राशन किट वितरण कार्यक्रम 1500 यूनिट रक्त एकत्रित...