कोरोना असर : UP के 4 कुलपतियों का तीन महीने और बढ़ा कार्यकाल, 1 मई को हो रहा था खत्म

लखनऊ. कोरोना का असर यह है कि करोड़ों लोगों की जिन्दगी रूक सी गई है. वहीं पर लाखों लोग लॉकडाउन में फंसे हुए है. हजारों लोगों के जॉब जाने की स्थिति पैदा हो गई है. राष्ट्रपति तक की 30 प्रतिशत सैलरी कट गई है. ऐसे में उत्तर प्रदेश के चार विश्वविद्यालयों के वीसी का तीन महीने का कार्यकाल बढ़ा दिया दिया गया है

0
884
आनंदीबेन पटेल
आनंदीबेन पटेल, राज्यपाल, उत्तर प्रदेश .

लखनऊ. कोरोना का असर यह है कि करोड़ों लोगों की जिन्दगी रूक सी गई है. वहीं पर लाखों लोग लॉकडाउन में फंसे हुए है. हजारों लोगों के जॉब जाने की स्थिति पैदा हो गई है. राष्ट्रपति तक की 30 प्रतिशत सैलरी कट गई है. ऐसे में उत्तर प्रदेश के चार विश्वविद्यालयों के वीसी का तीन महीने का कार्यकाल बढ़ा दिया दिया गया है. जिनका कार्यकाल 1 मई 2020 को ख़त्म हो रहा था. गौरतलब है कि ये सभी चारों वीसी 24 अप्रैल 2020 को नियुक्त हुए थे. उस समय उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक थे.

यूपी के CM YOGI ने 20 अप्रैल से यूपी की स्वास्थ्य व्यवस्था, शिक्षा और कृषि पर लिया बड़ा निर्णय

इन विश्वविद्यालयों के वीसी को हुआ फायदा

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल एवं कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल ने महात्मा ज्योतिबा फुले रूहेलखण्ड विश्वविद्यालय बरेली, मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय गोरखपुर, दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय गोरखपुर तथा वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर के कुलपतियों का कार्यकाल तीन माह की अवधि अथवा नियमित कुलपति की नियुक्ति अथवा अग्रिम आदेशों तक विस्तारित कर दिया है।

पालघर : जूना अखाड़े ने CM योगी से लगाई न्याय की गुहार, शिवसेना के हैं MP और MLA , नहीं आया बयान !

उल्लेखनीय है कि प्रो0 अनिल कुमार शुक्ला कुलपति महात्मा ज्योतिबा फुले रूहेलखण्ड विश्वविद्यालय बरेली का कार्यकाल 25 अप्रैल, 2020 को, प्रो0 श्रीनिवास सिंह कुलपति मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय गोरखपुर का कार्यकाल 27 अप्रैल, 2020 को, प्रो. विजय कृष्ण सिह कुलपति दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय गोरखपुर का कार्यकाल 28 अप्रैल, 2020 को तथा प्रो0 राजा राम यादव कुलपति वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर का कार्यकाल 01 मई, 2020 को समाप्त हो रहा था.

पालघर : मारने वालों में 9 बच्चे भी शामिल, कुल 110 लोग हिरासत में, गृह मंत्री ने बताया था 101 !

लाखों छात्रों के भविष्य की बात 

इन सभी चारों विश्वविद्यालयों से लाखों छात्रों का जुड़ाव है. इस समय बिना वीसी के विश्वविद्यालयों का संचालन ठीक नहीं होता. लाखों छात्रों की भलाई को देखते हुए राज्यपाल ने लिया ऐसा निर्णय. इस समय ऐसा निर्णय ठीक है. वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर के वीसी प्रो0 राजा राम यादव चर्चा में रहे हैं.

पालघर : 101 लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में, गृह मंत्री ने दिए जाँच के आदेश

 


Leave a Reply