UP Budget 2022: यूपी बजट सत्र आज से शुरू, पहले दिन ही सपा ने हंगामा

Uttar Pradesh Budget Session: उत्तर प्रदेश की 18वीं विधानसभा का बजट सत्र हो गया। सरकार 26 मई को सरकार दोनों सदनों में वित्तीय वर्ष 2022-23 का बजट पेश करेगी।

0
49
Uttar Pradesh Budget Session

  • यूपी का 18वीं विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरू 
  • 26 मई दोनों सदनों में वित्तीय वर्ष 2022-23 का बजट पेश होगा

पोलटॉक नेटवर्क | लखनऊ /आदित्य कुमार  

उत्तर प्रदेश की 18वीं विधानसभा का बजट सत्र ( Uttar Pradesh Budget Session) आज यानी सोमवार से शुरू हो गया है। पहला सत्र राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ( Anandiben Patel) के अभिभाषण से शुरू हुआ। सत्र शुरू होने से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ( Yogi Adityanath) ने कहा है कि सरकार हर विषय पर चर्चा के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि जो भी प्रश्न व मुद्दे सही नियम के तहत विधानसभा सचिवालय को प्राप्त होंगे। राज्य सरकार हर एक का जवाब देने और उनपर चर्चा के लिए पूरी तरह से तैयार है। वहीं विपक्ष सरकार को महंगाई, बेरोजगारी और कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर घेरने की तैयारी में है।

सपा विधायकों ने किया हंगामा

उत्तर प्रदेश की 18वीं विधानसभा का बजट सत्र राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण के साथ शुरू हुआ। बजट सत्र के सझुरु होते ही विपक्ष ने सदन में हंगामा और नारेबाजी शुरू कर दी। समाजवादी पार्टी के विधायकों  ने महंगाई और बेरोजगारी समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर राज्य की योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। बजट सत्र के पहले दिन हीसपा विधायकों ने वेल में पहुंच कर हंगामा किया। हालांकि सत्र शुरू होने से पहले इसकी पूर्ण उम्मीद की जा रही थी।

बजट सत्र से पहले सीएम योगी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

उत्तर प्रदेश की 18वीं विधानसभा का बजट सत्र शुरू होने से एक दिन पहले सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने सर्वदलीय र्वदलीय बैठक की। बैठक में विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना, संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना, समाजवादी पार्टी से इंद्रजीत सरोज, आराधना मिश्रा मोना और राजा भैया और बसपा विधायक उमाशंकर जैसे कद्दावर नेताओं की मौजूदगी रही।

विपक्ष है इस बार मजबूत 

योगी सरकार 1.0 के मुकाबले इस बार यानि योगी सरकार 2.0 में सदन के भीतर विपक्ष की संख्या मजबूत है। इस वर्ष सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के 255 विधायक हैं और बीजेपी की सहयोगी पार्टी अपना दल (सोनेलाल) के 12 और निषाद पार्टी के 6 सदस्य हैं। यानि सरकार के पक्ष में सदन में कुल 273 विधायक हैं। वहीँ बीते 5 साल के मुकनले इस बार विपक्ष मजबूत हुआ है। विपख के संख्या बल की बात की जाये तो सदन में समाजवादी पार्टी के 111 और कुल 273 विधायक हैं। कुल मिलकर विपक्ष की संख्या 125 है।


Leave a Reply