Home अंदर की बात सियासत के गलियारे से : राजस्थान भाजपा में वसुंधरा राजे ही हैं...

सियासत के गलियारे से : राजस्थान भाजपा में वसुंधरा राजे ही हैं गेम चेंजर, बाकी बस गिनती के हैं 

  • दिल्ली में राजस्थान भाजपा की पूरी टीम हुई तलब, वसुंधरा की स्थिति हुई मजबूत 
  • प्रदेश भाजपा में तनाव की स्थिति बनी, पूनिया के बारे में चर्चा तेज 

संतोष कुमार पाण्डेय | जयपुर 

राजस्थान की राजनीति में लगातार बदलाव हो रहा है. बदलाव भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस (congress) में भी देखा जा रहा है. दिल्ली में बैठक हुई, जिसमें भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता शामिल हुए लेकिन वसुंधरा राजे सिंधिया (Vasundhara Raje)  नहीं थीं. चर्चा थी कि भाजपा वसुंधरा सिंधिया को राजस्थान में किनारे लगाना चाहती है . लेकिन जब मीटिंग खत्म हुई तो कहानी कुछ और सामने आ रही है.

सूत्र बता रहे हैं कि जेपी नड्डा (jpnadda)  ने उस दौरान मीटिंग में सतीश पूनिया को फटकार लगाई है. उन्होंने कहा कि अगर आपको टीम बनाने के लिए दिया गया था तो आपने ऐसी टीम क्यों नहीं बनाई जिससे भाजपा मजबूत नहीं बल्कि कमजोर हो रही है. इस मसले की कहानी कुछ दिन पहले लिखी गई थी.

जब राजस्थान के प्रभारी अरुण कुमार सिंह (arun kumar singh) राजस्थान दौरे पर आये थे तो उसी दौरान उन्होंने सब कुछ समझा और देखा था. उन्होंने अपनी समीक्षात्मक रिपोर्ट राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा को सौंपी. जिसमें यह पाया गया कि राजस्थान भाजपा में कई गुट सक्रिय हैं . माना जा रहा है इसी बात को लेते हुए भारतीय जनता पार्टी का शीर्ष नेतृत्व सभी को दिल्ली तलब कर दिया था , लेकिन वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) के न जाने से यह बात साफ हो रही थी उनकी दिक्कतें बढ़ेंगी लेकिन अब कहानी पलट गई है.

वहां पर यह बात साफ हो गई है कि वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje)  के अलावा भाजपा किसी भी राजनेता को आगे नहीं बढ़ाना चाहती है. यही बात राजस्थान की राजनीति में लगातार चल रही है. चर्चा का विषय यही है कि कांग्रेस से अधिक भाजपा में गुटबाजी जारी है. अभी आने वाले दिनों में यह सब देखने को मिल सकता है .

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisement -

Must Read

संस्मरण : मुख्यमंत्री बनने के बाद भी कुछ ऐसे थे कर्पूरी ठाकुर

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने अपना संस्मरण किया साझा  कर्पूरी ठाकुर के जन्मदिन पर...

राजस्थान भाजपा में ‘राज’ के लिए ‘राजे’ की बढ़ी सक्रियता, पूनियां की धड़कन तेज

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की बढ़ी परेशानी, मिला है बड़ा टारगेट  चार विधान सभा सीटों पर होना है...

पत्रकारों पर रिसर्च : गंभीर बीमारियों की गिरफ्त में श्रमजीवी पत्रकार

डॉ. अनवर खान ने श्रमजीवी पत्रकारों के स्वास्थ्य संबंधित बीमारियां पर किया शोध अध्ययन पोल टॉक नेटवर्क | भोपाल  देश के अधिकांश...

दृष्टिकोण : जैक मा मुद्दे पर भारत उठाए मौके का लाभ

भारत को विश्वभर से निवेश करने और उद्यमियों की सुरक्षा को लेकर ऐलान करना चाहिए चीन...

लखनऊ में राष्ट्रीय राष्ट्रवादी के नेतृत्व में शुरू हुआ अनोखा सत्याग्रह

गरीबों के नाम पर चट कर गए पैसा, स्कूल अस्पताल के लिए गहरू कांशीराम कालोनी में हुई डीएम-सीएम की पूजा  ...
- Advertisement -