Home जनसरोकार COVID-19 और मीडिया पर वेबिनार में मीडिया के योगदान की हुई चर्चा

COVID-19 और मीडिया पर वेबिनार में मीडिया के योगदान की हुई चर्चा


  • चिकित्सकों ने कोविड 19 के लक्षणों और बचाव पर विस्तार से रखी बात
  • पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर के जनसंचार विभाग में कार्यक्रम आयोजित 

पोल टॉक नेटवर्क | जौनपुर 

वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर के जनसंचार विभाग और प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो लखनऊ के संयुक्त तत्वावधान में 24 सितंबर गुरुवार को कोविड-19 और मीडिया विषयक वेबिनार का आयोजन किया गया। वेबिनार की मुख्य अतिथि पीयू की कुलपति प्रोफेसर निर्मला एस. मौर्य ने कहा कि कोविड-19 ने समाज के हर क्षेत्र को प्रभावित किया है। प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया ने कोविड 19 से जुड़ी हर जानकारी पहुँचाई है। इस दौर में मीडिया ने अपनी जिम्मेदारी को बेहतर तरीके से निभाया है। चिकित्सकों की सलाह भी जन -जन तक मीडिया के माध्यम से ही पहुंची है। उन्होंने कहा कि इस महामारी से बचने के लिए सामाजिक नहीं शारीरिक दूरी बनाए रखने की जरूरत है।

अध्यक्षीय संबोधन में पीआईबी लखनऊ के अतिरिक्त महानिदेशक आरपी सरोज ने कहा कि कोविड -19 से डरने की नहीं लड़ने की जरूरत है। संक्रमित होने पर चिकित्सक की सलाह से ही दवाओं को लेना चाहिए। कोविड -19 के प्रति लोगों को जागरूक करने में मीडिया बड़ी भूमिका अदा कर रही है, जो सराहनीय है।

समारोह के विशिष्ट अतिथि सेंटर फ़ॉर मास कम्युनिकेशन राजस्थान विश्वविद्यालय जयपुर के पूर्व अध्यक्ष प्रोफेसर संजीव भानावत ने कहा कि मीडिया कर्मियों ने कोविड-19 के दौर में जान की बाजी लगाकर लोगों को सूचना पहुंचाई है। उन्होंने महामारी के समय पीआईबी के योगदान की सराहना की। किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय के वरिष्ठ प्रोफेसर डॉ सूर्यकांत ने कहा कि मीडिया न होता तो समाज में कोविड- 19 का भयावह रूप दिखाई देता। जनता को जागृत करना सबसे बड़ी वैक्सीन है। उन्होंने भारतीय चिकित्सकों ने योगदान पर प्रकाश डाला। कहा कि छोटे बच्चे, गर्भवती महिला, बुजुर्ग व्यक्ति और बीमार व्यक्ति कम से कम घर से निकले।

बतौर वक्ता लखनऊ के चिकित्सक डॉ निरुपम प्रकाश ने कहा कि कोविड- 19 से लड़ने के लिए जागरूकता की बहुत जरूरत है। उन्होंने कोविड- 19 के लक्षणों और बचाव पर प्रकाश डाला। कहा कि घर से बाहर बिना मास्क के न निकले।उन्होंने कहा कि मास्क को पहनने के बाद सामने से छुए नहीं। उन्होंने कहा कि मीडिया के कारण कोविड- 19 के प्रसार को रोकने में कामयाबी मिली है।

वेबिनार के संयोजक जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डॉ. मनोज मिश्र ने अतिथियों का स्वागत एवं संचालन पीआईबी लखनऊ के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. श्रीकांत श्रीवास्तव ने किया। धन्यवाद ज्ञापन डॉ सुनील कुमार ने किया। कार्यक्रम में प्रो मानस पांडेय, प्रो अशोक श्रीवास्तव, प्रोफेसर अजय द्विवेदी, प्रो. रामनारायण, प्रो बीडी शर्मा, प्रो देवराज, डॉ. राजकुमार, रवि शंकर शर्मा, डॉ सुरजीत यादव, डॉ प्रमोद यादव ,डॉ सुनीता सिंह, डॉ तनु डंग, दर्शन साहू, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर समेत देश के विभिन्न भागों से शिक्षक, पत्रकारों, विद्यार्थी एवं शोधार्थियों ने प्रतिभाग किया.


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

चौधरी साहब ताउम्र ग़रीबों, किसानों, नौजवानों और वंचितों की आवाज़ बने रहे : यज्ञेन्दु

चौधरी अजीत के बेटे जयंत ने दी सोशल मीडिया से जानकारी देश भर के नेताओं ने भावभीनी...

वैक्सीनेशन के पश्चात् मिलने वाले सर्टिफिकेट पर पीएम की फोटो नहीं लगाने वाला बयान अत्यन्त शर्मनाक : राजेन्द्र राठौड़

राजस्थान में ऑक्सीजन का कोटा 100 मीट्रिक टन बढ़ाकर 280 मीट्रिक टन से 380 मीट्रिक टन किया है ...

प्रदेश युवा कांग्रेस ने “सेवा दिवस” के रुप में मनाया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का जन्मदिन

प्रदेश के सभी 33 जिलों में रक्तदान शिविर, फल, भोजन, मास्क एवं सैनिटाइजर वितरण कार्यक्रम पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर  राजस्थान...

केन्द्र सरकार द्वारा दी जा रही सहायता से गहलोत सरकार जनता को दे राहत : सांसद रामचरण बोहरा

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और केंन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से की मुलाकात कोरोना आपदा प्रबंधन, रेमेडिसिवर...

कोरोना मरीजों और उनके परिजनों के लिए प्रदेश युवा कांग्रेस ने शुरू की ‘जनता रसोई’

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंशा "कोई भूका ना सोए" को आगे बढ़ाते हुए को खाना उपलब्ध करवाने का लिया संकल्प पोल...