Home राजनीति से इतर LATEST UPDATE Vikas Dubey अपराधी से ऐसे बन गया माननीय ! और 20 साल से...

Vikas Dubey अपराधी से ऐसे बन गया माननीय ! और 20 साल से कर रहा अपराध !


  • डीएसपी और 3 सब इंस्पेक्टर समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए
  • विकास दुबे (vikas dubey ) पर 60 आपराधिक मामले दर्ज है

संतोष कुमार पाण्डेय | सम्पादक 

उत्तर प्रदेश में योगी की सरकार है और बेहतर कानून-व्यवस्था की बात करने वाली योगी सरकार की पोल खुल गई है. गुरूवार की रात सर्कल ऑफिसर (डीएसपी) और 3 सब इंस्पेक्टर समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. अब सवाल उठ रहा है कि यह पूरा मामला है क्या ? तो जानिए पूरी कहानी. विकास दुबे कानपुर में वर्षो से सक्रीय है. लगभग 19 साल से सबकुछ चल रहा है. विकास पर 60 आपराधिक मामले दर्ज है. कई बार जेल गया और बाहर आता गया. उसके अपराध की लिस्ट आप देखरक दंग रह जायंगे. तो आइये आप को बताते हैं कि वो अपराधी से नेता कैसे बन गया.

उम्रकैद की सजा भी हुई थी

कानपुर नगर से लेकर कानपुर देहात तक लूट, डकैती, मर्डर जैसे अपराधों को अंजाम देता रहा है। 2000 में विकास ने शिवली इलाके के ताराचंद इंटर कॉलेज के सहायक प्रबंधक सिद्धेश्वर पांडेय की हत्या कर दी थी, जिसमें उसे उम्रकैद की सजा भी हुई थी. इसके बाद से इसका रूतबा बढ़ता गया. और ये सत्ता के करीब जाने लगा. इसी बीच जब इसने एक दर्जाप्राप्त राज्यमंत्री को मारा तो पूरी कहानी सामने आई.

थाने में घुसकर मारा था मंत्री को 

पुलिस को पूछताछ में विकास ने बताया था कि वर्ष 1996 में कानुपर की चौबेपुर विधानसभा क्षेत्र से हरिकृष्ण श्रीवास्तव व संतोष शुक्ला चुनाव लड़े थे. और हरिकृष्ण श्रीवास्तव बसपा से जीत गए थे. विजय जुलूस के दौरान हरिकृष्ण श्रीवास्तव व संतोष शुक्ला में गंभीर विवाद हुआ था. जिसमें विकास दुबे का नाम आया था और उसके खिलाफ मुकदमा हुआ. यहीं से विकास की भाजपा नेता संतोष शुक्ला से रंजिश हो गई थी. इसी रंजिश के चलते 11 नवंबर 2001 को विकास ने कानपुर के थाना शिवली के अंदर संतोष शुक्ला की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

नगर पंचायत का जीत गया था चुनाव 

2000 में रामबाबू यादव की हत्या की जेल में साजिश रचने का आरोपी था। 2004 में केबल व्यवसायी दिनेश दुबे की हत्या के मामले में भी विकास आरोपी है। विकास ने राजनेताओं के सरंक्षण से राजनीति में एंट्री की और जेल में रहने के दौरान शिवराजपुर से नगर पंचायत का चुनाव जीत लिया। जानकारी के अनुसार, इस समय विकास दुबे के खिलाफ 60 मामले यूपी के कई जिलों में चल रहे हैं। इसके बाद भी अब जब कार्रवाई की बात हुई तो उसने पुलिस टीम पर हमला कर दिया.


POLL TALK DESKhttps://polltalk.in/
पोल टॉक और PollTalk.In के सम्पादक संतोष कुमार पांडेय देश के कई शहरों में पत्रकारिता कर चुके हैं। ये शहर जो कार्यस्थल बने वाराणसी , लखनऊ, आगरा, देहरादून, नोएडा, जयपुर, बिहार, हैदराबाद, पानीपत, सतना में रहे हैं। इन संस्थानों में दी सेवाएं राजस्थान पत्रिका , दैनिक भास्कर, एग्रो भास्कर, हिन्दुस्थान, जनसन्देश न्यूज़ चैनल, जनसन्देश टाइम्स, ईटीवी भारत में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किये. राजनीति की सही जानकारी और कुछ रोचक इन्टरव्यू दिखाना प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Must Read

मणिपाल में मीडिया और जनसंचार में बनाएं अपना करियर

पत्रकारिता और जनसंचार के क्षेत्र में कई नई स्वर्णिम संभावनाएं पैनडैमिक के दौरान विश्वस्तर पर हेल्थ कम्युनिकेशन...

मीडिया सच दिखाए, मगर डराए नहीं : प्रो. भानावत

एमजेआरपी यूनिवर्सिटी की मानसिक स्वास्थ्य पर मीडिया का प्रभाव विषयक वेबिनार पोल टॉक नेटवर्क | जयपुर प्रोफेसर डॉ. संजीव भानावत ने कहा...

डिजिटल स्टैम्प से पकड़े जा रहे है अपराधी : प्रो त्रिवेणी सिंह

155260 पर ऑनलाइन फ्रॉड की तुरंत करें शिकायत अमित दुबे ने साइबर अपराध से बचने के बताएं...

YOUTH कांग्रेस कमेटी का विस्तार, आयुष भारद्वाज बने पहले संगठन महासचिव

युवा कांग्रेस की प्रदेश कार्यकारिणी का किया गया विस्तार राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी की अनुमति से हुआ...

“जन सहायता दिवस” के रूप में मनाया गया राहुल गाँधी का जन्मदिन

राजस्थान के सभी 33 जिलों में रक्तदान शिविर एवं राशन किट वितरण कार्यक्रम 1500 यूनिट रक्त एकत्रित...