क्या है काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद विवाद, क्या मंदिर तोड़ बनाई गयी मस्जिद

ज्ञानवापी मस्जिद पर हिन्दू पक्षकारों ने किया दावा। हिन्दू पक्षकारों का मानना है कि मंदिर के अंदर है गर्भगृह

0
277
What is Kashi Vishwanath Temple and Gyanvapi Masjid dispute

  • ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का हुआ सर्वे 
  • हिन्दू पक्षकारों ने पूरे मस्जिद परिसर पर किया दावा 

पोलटॉक नेटवर्क | लखनऊ 

Varanasi Gyanvapi Mosque: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में आज बड़ी ही हलचल रही। हलचल होने की वजह रही काशी विश्वनाथ और ज्ञानवापी मस्जिद के परिसर में स्थित श्रृंगार गौरी समेत कई विग्रहों का सर्वे होना। कोर्ट के आदेश पर परिसर के तहत श्रृंगार गौरी और विग्रहों का सर्वे किया जाना है। सर्वे का काम आज शाम तक चला और कल फिर सर्वे किया जाएगा। दरअसल 18 अगस्त 2021 को वाराणसी की पांच महिलाओं ने श्रृंगार गौरी मंदिर में रोजाना पूजन-दर्शन की मांग को लेकर सिविल जज सीनियर डिविजन के सामने वाद दर्ज कराया था। इस मामले में जज रवि कुमार दिवाकर ने मंदिर में सर्वे और वीडियोग्राफी करने का आदेश दिया है। मामले की रिपोर्ट 10 मई तक मांगी गयी थी। 10 मई को ही मामले की सुनवाई की जाएगी।

क्या है ज्ञानवापी मस्जिद विवाद ?

ज्ञानवापी मस्जिद की दीवार काशी विश्वनाथ मंदिर से सिर्फ सटी हुई नहीं है बल्कि मस्जिद की एक दीवार मंदिर का ही हिस्सा है। हिन्दू पक्षकारों का मानना है कि काशी विश्वनाथ मंदिर का निर्माण करीब 2050 साल पहले महाराजा विक्रमादित्य ने करवाया था। काशी विश्वनाथ मंदिर को मुग़ल शासक औरंगजेब ने साल 1664 में मंदिर को तोड़कर उसके अवशेषों पर मस्जिद का निर्माण कराया था। जिसे आज ज्ञानवापी मस्जिद के नाम से जानते हैं। हिन्दू पक्ष का दावा है कि इसके नीचे 100 फीट ऊंचा आदि विश्वेश्वर का स्वयंभू ज्योतिर्लिंग है।

किस आधार पर हिन्दू पक्ष ने किया दावा 

हिन्दू पक्षकारों का दावा है कि जिस तरह से बाबर ने राम मंदिर को तोड़कर बाबरी का निर्माण कराया था, ठीक उसी तरह से औरंगजेब ने ज्ञानवापी का निर्माण कराया था। हिन्दू पक्षकार पूरे मस्जिद परिसर पर अपना दावा करते हैं। हिन्दू पक्ष का कहना है कि काशी विश्वनाथ का गर्भगृह मस्जिद के अंदर है। उसके पीछे हिन्दू पक्ष यह तर्क दे रहा है कि शिव मंदिर के बाहर नंदी का सिर हमेशा शिवलिंग की तरफ होता है. काशी विश्वनाथ मंदिर के बाहर नंदी का सिर मस्जिद की ओर है। हिन्दू पक्ष का मानना है कि नंदी के देखने की दिशा से सिद्ध होता है कि गर्भगृह मस्जिद के अंदर है।

क्या हुई है कोर्ट से मांग

ज्ञानवापी मस्जिद विवाद को लेकर कोर्ट गए हिन्दू पक्षकारों ने कोर्ट से यह मांग की है कि ज्ञानवापी परिसर का पुरातात्विक सर्वेक्षण कर यह पता लगाया जाए कि जमीन के अंदर का भाग मंदिर का अवशेष है या नहीं ? उसके साथ ही हिन्दू पक्ष ने मांग की है कि  विवादित ढांचे का फर्श तोड़कर ये भी पता लगाया जाए कि 100 फीट ऊंचा ज्योतिर्लिंग स्वयंभू विश्वेश्वरनाथ भी वहां मौजूद है या नहीं ?  हिन्दू पक्ष की मांग है कि मस्जिद की दीवारों की भी जांच कर पता लगाया जाए कि ये मंदिर की हैं या नहीं ?


Leave a Reply