FULL STORY OF ASIM ARUN: सुपर कॉप से योगी के मंत्री बनने वाले पहले IPS हैं असीम अरुण

असीम अरुण के पिता उत्तर प्रदेश के डीजीपी (DGP) पद पर भी रहे

0
43
asim arun biography in hindi

  • असीम अरुण के पिता उत्तर प्रदेश के डीजीपी (DGP) पद पर भी रहे
  • चुनाव में जब असीम ने वीआरएस का एलान किया तो लोग दंग रहे गए

पोल टॉक नेटवर्क | लखनऊ

जाने माने और तेज-तर्रार आईपीएस अफसरों की सूची में शामिल नाम कानपुर के पहले पुलिस कमिश्नर असीम अरुण (IPS Asim Arun) ने 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले खाकी वर्दी छोड़ भारतीय जनता पार्टी (BJP ) का हाथ पकड़ा। खाकी वर्दी  छोड़ बीजेपी (BJP) में आए असीम अरुण (IPS Asim Arun) ने कन्नौज से चुनाव लड़ा और योगी कैबिनेट तक का सफर तय किया। आइये जानते हैं असीम अरुण (ASIM ARUN ) के बारे में अनसुनी कहानी |

कौन हैं असीम अरुण ?

असीम अरुण (ASIM ARUN ) का जन्म 3 अक्टूबर 1970 को बदायूं में हुआ था। असीम अरुण के पिता श्री राम अरुण भी आईपीएस (IPS) अधिकारी रह चुके हैं। असीम अरुण के पिता उत्तर प्रदेश के डीजीपी (DGP) पद पर भी रहे। उन्होंने राज्य में आतंकवादी विरोधी दस्ते का गठन भी किया था। असीम अरुण ने राजधानी लखनऊ के सेंट फ्रांसिस कॉलेज से अपने शुरुआती शिक्षा ग्रहण की उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए असीम अरुण दिल्ली चले गए और दिल्ली दिल्ली के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से बीएससी की पढ़ाई की। उसके बाद असीम अरुण ने सिविल सर्विसेज की तैयारी की और सेलेक्ट भी हुए।

असीम अरुण (ASIM ARUN ) 1994 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। असीम अरुण ने अलीगढ़ में पहली बार 2009 में स्क्वाड टीम का गठन किया था। असीम अरुण उत्तर प्रदेश में चर्चा में तब आए जब लखनऊ के सैफुल्ला गंज में एटीएस कमांडो ने ठाकुरगंज में छिपे आतंकियों को ढेर किया था। असीम अरुण  प्रदेश के हाथरस, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, आगरा, अलीगढ़, और गोरखपुर जिले में अपनी सेवा दे चुके हैं। असीम अरुण ने डायल 112 के प्रभारी के तौर पर 2 सालों तक कार्य किया। वहीं, असीम अरुण आतंक निरोधक दस्ते यानी एटीएस के प्रमुख पद पर भी तैनात रह चुके हैं।

वीआरएस लेकर राजनीति में एंट्री

आईपीएस असीम अरुण ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 से पहले वीआरएस लेकर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। जनता पार्टी ने उन पर विश्वास दिखाते हुए उन्हें कन्नौज विधानसभा सीट से मैदान में उतारा। असीम अरुण ने कन्नौज में लगातार तीन बार के समाजवादी पार्टी से विधायक रहे अनिल दोहरे को हराकर जीत हासिल की। चुनाव जीतने के बाद असीम अरुण की किस्मत चमकी। असीम अरुण को योगी सरकार में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया है।


Leave a Reply